×

Dhumal का Attack : Congress सरकार की न नीति, न नियम और न ही नीयत

Dhumal का Attack :  Congress सरकार की न नीति, न नियम और न ही नीयत

- Advertisement -

शिमला। वर्तमान कांग्रेस सरकार की विकास के लिए न नीति, न नियम और न ही नीयत है। यही वजह है कि अपने ही घोषणा पत्र को लागू करने में असफल सरकार के मुखिया अपने नेताओं द्वारा तैयार किए गए घोषणा पत्र को ही नकाबिल लोगों द्वारा तैयार किया गया घोषणा पत्र बता रहे हैं। कांग्रेस सरकार के कुशासन, भ्रष्टाचार व माफियों को संरक्षण व सह देने से प्रदेश विकास की दौड़ में 10 वर्ष पीछे जा चुका है। केंद्र से प्रदेश के विकास के लिए अथाह धन आ रहा है, परन्तु वह अनुपयोगी कार्यों व भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रहा है। प्रदेश में विकास तभी संभव है, जब केंद्र व प्रदेश दोनों में बीजेपी की सरकारें होंगी। यह बात पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल ने कही।  पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि वर्तमान कांग्रेस सरकार किसानों और बागवानों के लिए अभिशाप बनकर आई है। कांग्रेस सरकार ने चार वर्षों के कार्यकाल में इन दोनों वर्गों के उत्थान के लिए कोई योजना बनाना तो दूर पूर्व बीजेपी सरकार द्वारा शुरू की गई योजनाओं को बंद करके किसानों व देश की आर्थिकी को गहरा धक्का पहुंचाया है। धूमल ने कहा कि कांग्रेस ने पूर्वाग्रह व द्वेष के चलते बागवानों के लिए वरदान साबित हो रही एंटी हेलगन परियोजना को बंद कर दिया, परन्तु इसके परिणामों से उत्साहित बागवान आज स्वयं पैसा खर्च करके एंटी हेलगन स्थापित करने का कार्य कर रहे हैं, जो कांग्रेस के मुंह पर करारा तमाचा है। कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में पराला में बनने वाली सबसे बड़ी मंडी का काम ठप है और आयतित सेब के स्टॉक रूटों में वायरस के चलते बागवानों के भविष्य को ही कांग्रेस ने संकट में डाल
दिया है।


  • बोले, यही वजह है कि घोषणा पत्र को लागू करने में असफल रही सरकार
  • कांग्रेस सरकार किसानों और बागवानों के लिए अभिशाप बनकर आई है 

इसके विपरीत पूर्व बीजेपी सरकार ने किसानों व बागवानों के हित में 353 करोड़ रुपये की पं. दीनदयाल किसान बागवान स्मृद्धि योजना का सफल कार्यान्वयन किया था और प्रदेश भर में 18 हजार से अधिक पॉलीहाउस बनवाए थे, जबकि वर्तमान सरकार अभी तक मात्र 950 पॉलीहाउस ही बना पाई है। सेब की उत्पादकता बढ़ाने के लिए सेब पुनः रोपण योजना शुरू की थी और किसानों को उनके खेतों के समीप विपणन की सुविधाएं उपलब्ध हों इसके लिए ‘चोर बिहाल, बंदरोल, हरिपुरधार, नौराधारा, जुखाला तथा टापरी में उप मंडियों का निर्माण शुरू किया था।

धूमल ने कहा कि पूर्व बीजेपी सरकार के दौरान 5 लाख से अधिक मिट्टी परीक्षण कार्ड जारी किए गए थे और प्रदेश भर में 4.09 लाख बर्मी कम्पोस्ट की ईकाइयां स्थापित की गई थीं, परन्तु वर्तमान कांग्रेस सरकार ने उन कार्यों को आगे बढ़ाना तो दूर केंद्र की मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाएं प्रधानमंत्री कृषि योजना व प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को भी प्रदेश में लागू करने में नकारा साबित हुई है। अगर सही ठंड से योजनाएं लागू हो जाती तो प्रदेश में किसान भी सुरक्षित हो जाता और किसानी भी सुरक्षित हो जाती।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है