×

ISF से गठबंधन पर कांग्रेस नेता आनंद शर्मा और अधीर रंजन चौधरी आमने-सामने

कांग्रेस पार्टी के भीतर मची कलह खुलकर सामने आई

ISF से गठबंधन पर कांग्रेस नेता आनंद शर्मा और अधीर रंजन चौधरी आमने-सामने

- Advertisement -

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी के भीतर मची कलह खुलकर सामने आ गई है। अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा (Anand Sharma) और लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष अधीर रंजन चौधरी आमने-सामने हैं। आनंद शर्मा और अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chowdhury) के बीच बीते रोज ट्विटर पर वाक युद्ध चला तो अब फिर से अधीर ने आनंद पर हमला बोला है। यह सब कुछ पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव (West Bengal Elections) को लेकर हो रहा है। दरअसर कांग्रेस से राज्य सभा सांसद आनंद शर्मा ने पश्चिम बंगाल में कांग्रेस गठबंधन पर सवाल उठाए थे। अब अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि हमें पता है कि आनंद शर्मा का बिग बॉस (Big Boss) कौन है, वो किसे खुश करना चाह रहे हैं।


ये भी पढ़ें: राहुल पर बोले अनुराग- ये धर्म-जाति पर बांटने का काम करते हैं, हम सबका साथ की बात करते हैं

आपको बात दें कि कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा (Anand Sharma) ने बीते दिन ट्विटर के जरिए कांग्रेस के पश्चिम बंगाल में अब्बास सिद्दीकी के साथ गठबंधन पर सवाल खड़े किए हैं। कांग्रेस इस बार बंगाल में लेफ्ट पार्टियों के साथ-साथ अब्बास सिद्दीकी के इंडियन सेक्युलर फ्रंट के साथ चुनावी मैदान में कूद रही है। आनंद शर्मा ने अपने ट्विट (Anand Sharma Tweet) में आपत्ति जताई थी कि आईएसएफ के साथ गठबंधन कांग्रेस (Congress) पार्टी की मूल विचारधारा के खिलाफ है, ऐसे में ऐसा फैसला लेने से पहले पार्टी स्तर पर विस्तृत चर्चा होनी चाहिए थी। आनंद शर्मा ने अपने ट्विट में बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष (Bengal Congress President) अधीर रंजन चौधरी पर भी निशाना साधा था।

आनंद शर्मा के ट्विट (Anand Sharma Tweet) के बाद अधीर रंजन चौधरी ने भी बीते दिन ट्विटर (Twitter) से ही जवाब दिया था। अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chowdhury) ने कहा था कि बंगाल में पार्टी ने जो भी फैसला लिया है, आलाकमान के निर्देश पर ही लिया है। जो लोग पार्टी को मजबूत करना चाहते हैं, वो पांच राज्यों में प्रचार करें और ऐसा बयान ना दें जिससे बीजेपी (BJP) को फायदा हो। गौरतलब है कि इंडियन सेक्युलर फ्रंट (ISF) के अब्बास सिद्दीकी (Abbas Siddiqui) अपने बयानों के कारण सुर्खियों में रहते हैं। अब्बास सिद्दीकी (Abbas Siddiqui) पर कट्टरता, महिला विरोधी बयानबाजी करने का आरोप लगता आया है। हालांकि, अब्बास सिद्दीकी बंगाल की फुरफुरा शरीफ दरगाह के पीरजादा हैं, इस दरगाह का असर करीब 100 विधानसभाओं पर पड़ता है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है