Covid-19 Update

58,877
मामले (हिमाचल)
57,386
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,152,127
मामले (भारत)
115,499,176
मामले (दुनिया)

Bali बोले,शराब के जरिए Election प्रभावित करने की हुई कोशिश

Bali बोले,शराब के जरिए Election प्रभावित करने की हुई कोशिश

- Advertisement -

लोकिन्दर बेक्टा/ शिमला। नगरोटा बगवां से कांग्रेस प्रत्याशी रहे जीएस बाली ने मतगणना से पहले कहा है कि शराब के जरिए इलेक्शन प्रभावित करने की जबरदस्त कोशिश हुई है। उन्होंने कहा है कि विधानसभा चुनाव में शराब का खुलकर इस्तेमाल इसलिए किया गया क्योंकि,चुनाव आयोग के पास स्टाफ की कमी थी। उन्होंने कहा है कि भविष्य में जब भी चुनाव हो तो 15 दिन पहले ही शराब की दुकाने बंद हो जानी चाहिए। बाली ने यह बात पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में कही। बाली ने इसे चिंताजनक करार दिया और कहा कि चुनाव आयोग को इस दिशा में कदम उठाना चाहिए और चुनाव के दौरान शराब की दुकानें बंद कर देनी चाहिए। उनका कहना था कि चुनाव के दौरान पुलिस बल भी चैकिंग के लिए पर्याप्त नहीं था, इसके चलते भी शराब का खुलकर इस्तेमाल हुआ।

मतदान के बाद रोजमर्रा के कामकाज में ढील दे

चुनाव आयोग

नगरोटा में कांटे की टक्कर का सामना करने वाले बाली का कहना है कि मतदान होने के बाद चुनाव आयोग को रोजमर्रा के कामकाज में ढील देनी चाहिए। उनका कहना था कि इतने लंबे समय तक कोड आफ कंडक्ट लगाने से बहुत सारे कार्य प्रभावित होते हैं और आमजन को इसका नुकसान झेलना पड़ता है। उन्होंने कहा कि कई इलाकों को नए बस रूट खोले जाने थे, लेकिन वे भी रुक गए। इस कारण लोगों के कुछ और दिन परेशानी झेलनी पड़ेगी। बाली ने कहा कि इस बार विधानसभा चुनाव में महिलाओं की अहम भूमिका रही है। उनका कहना है कि महिलाओं का इस बार मतदान फीसदी बढ़ा है और महिलाएं इस बार महंगाई से त्रस्त थी। रसोई गैस की बढ़ी कीमतों से लोग परेशान थे और उसका लाभ कांग्रेस को मिलेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के खिलाफ कोई एंटी इंकबैंसी नहीं थी और जनता सरकार के काम से संतुष्ट थी।

ईवीएम के नए विकल्प पर विचार होना जरूरी

बाली ने कहा कि ईवीएम की हैकिंग की खबरें आने से इस सिस्टम पर सवाल उठ रहे हैं। शिमला पुलिस ने भी इसी मामले की बात को लेकर एक व्यक्ति भी पकड़ा गया है और कई अन्य राज्यों से भी इसमें छेड़छाड़ की शिकायतें आई हैं। ऐसे में चुनाव आयोग को इस दिशा में विचार कर अन्य विकल्प पर विचार करना चाहिए। उनका कहना था कि अमेरिका और जर्मनी जैसे विकसित देश में भी ईवीएम इस्तेमाल नहीं होता, ऐसे में चुनाव आयोग को इस पर गंभीरता से नए विकल्प पर विचार होना चाहिए। उन्होंने कहा कि मतदान केंद्रों में मतदान के दिन पूरी लाइट की व्यवस्था नहीं थी। यह सिस्टम का फेलियर है और इस पर विचार करना चाहिए ।

EVM Hack करने का दावा करने वाला आरोपी 9 December तक न्यायिक हिरासत में

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है