Covid-19 Update

2,18,314
मामले (हिमाचल)
2,12,899
मरीज ठीक हुए
3,653
मौत
33,678,119
मामले (भारत)
232,488,605
मामले (दुनिया)

दिल्ली में यह कैसी मोर्चाबंदी, बंद कमरे में क्यों मिले बाली, सुक्खू और कौल

दिल्ली में यह कैसी मोर्चाबंदी, बंद कमरे में क्यों मिले बाली, सुक्खू और कौल

- Advertisement -

नई दिल्ली। एक तरफ तो दिल्ली में चुनाव का शोर है तो दूसरी तरफ हिमाचल कांग्रेस के नेताओं में कुछ अलग ही खिचड़ी दिल्ली में पक रही है। हिमाचल के कांग्रेस नेताओं के कांग्रेस महासचिव संगठन केसी वेणुगोपाल से मुलाकात के बाद हिमाचल भवन के बंद कमरे में बैठक हुई। हिमाचल भवन के जिस कमरे में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू रुके हैं, वहां पर हिमाचल के दिग्गज नेताओं की बैठक हुई। पहले तो पूर्व मंत्री कौल सिंह ठाकर, हिमाचल कांग्रेस के उपाध्यक्ष व श्री नैना देवी के विधायक रामलाल ठाकुर सुक्खू के कमरे में पहुंचे और बंद कमरे में बातचीत की। इसके बाद पूर्व मंत्री जीएस बाली भी पहुंच गए। अब इन नेताओं के बीच क्या गुफ्तगू हुई यह तो पता नहीं चल पाया है। ऐसे में यह किसी मोर्चाबंदी की तैयार है या फिर रूटीन की मुलाकात यह वक्त बताएगा।

यह भी पढ़ें: ब्रेकिंगः HPPSC का बड़ा फैसला, अब परीक्षाओं में लगेगी बायोमेट्रिक हाजिरी

इससे पहले पूर्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर (Former Minister Kaul Singh Thakur), हिमाचल कांग्रेस के उपाध्यक्ष व श्री नैना देवी के विधायक रामलाल ठाकुर, ऊना के विधायक सतपाल रायजादा और पूर्व विधायक रोहित ठाकुर ने कांग्रेस महासचिव संगठन केसी वेणुगोपाल (Congress General Secretary Organization KC Venugopal) से मुलाकात की। इस अवसर उन्होंने कई अहम मुद्दों पर चर्चा की। हिमाचल के संगठन को लेकर भी विस्तार से चर्चा की और वेणुगोपाल को कई पहलूओं से अवगत करवाया। हालांकि उक्त नेताओं में से कोई भी नेता यह बताने के लिए तैयार नहीं है कि केसी वेणुगोपाल से क्या चर्चा हुई, लेकिन सूत्र बताते हैं कि हिमाचल में ब्लॉक अध्यक्षों की तैनाती से संबंधित मुद्दा नेताओं ने उठाया है।

कांग्रेस महासचिव संगठन केसी वेणुगोपाल को बताया है कि ब्लॉकों को भंग कर नए ब्लॉक अध्यक्ष नियुक्त किए जा रहे हैं। अभी तक करीब 47 ब्लॉकों में ब्लॉक अध्यक्ष तैनात कर दिए हैं। अधिकतर ब्लॉकों में पहले के ब्लॉक अध्यक्षों की तैनाती की है। अगर पहले वाले ब्लॉक अध्यक्ष ही बनाने थे तो ऐसे में ब्लॉक भंग करने का क्या औचित्य था। सूत्रों के अनुसार हिमाचल कांग्रेस नेताओं ने केसी वेणुगोपाल को यह भी बताया कि करीब डेढ़ और पौने दो माह से ब्लॉक अध्यक्षों की तैनाती ही नहीं जा सकी है। ऐसे में हिमाचल में संगठन नाम का कुठ नहीं दिख रहा है। इसका गलत असर पड़ेगा।

हिमाचल कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर (Himachal Congress President Kuldeep Rathore) ने कहा कि 84 से 72 ब्लॉक किए हैं। दो ब्लॉकों का एक ब्लॉक बनाया है। ऐसे में अध्यक्ष तो चुनना ही था। उन्होंने कहा कि जो लोग पहले से अच्छा काम कर रहे हैं, उन्हें भी मौका दिया जाएगा। उनकी क्या गलती है। पार्टी के लिए समर्पण से काम करने वालों को आगे लेकर जाया जाएगा। बाकी ब्लॉकों में अध्यक्षों की तैनाती को लेकर उन्होंने कहा कि कवायद शुरू है और जल्द ही तैनाती कर दी जाएगी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है