Covid-19 Update

58,879
मामले (हिमाचल)
57,406
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,156,748
मामले (भारत)
115,765,405
मामले (दुनिया)

उन्नाव और कठुआ Rape मामले के खिलाफ Congress का Candle मार्च, दरिंदों को मांगी फांसी

उन्नाव और कठुआ Rape मामले के खिलाफ Congress का Candle मार्च, दरिंदों को मांगी फांसी

- Advertisement -

शिमला। प्रदेश कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर के kathua और उत्तर प्रदेश के unnao में हुए जघन्य अपराध को अंजाम देने वाले दरिंदों के लिए फांसी की मांग की है। दिल दहला देने वाली इन घटनाओं के विरोध में शनिवार शाम Congress leaders ने पार्टी मुख्यालय राजीव भवन से डीसी आफिस-मॉल रोड होते हुए रिज स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा तक Candle March निकाला।
Congress President Sukhwinder Singh Sukhu की अगुवाई में सीएलपी लीडर मुकेश अग्निहोत्री, विधायक अनिरूद्ध सिंह, रोहित ठाकुर, नरेश चौहान के अलावा एनएसयूआई के पदाधिकारियों सहित कांग्रेसजन शांतिपूर्ण कैंडल मार्च निकालते हुए रिज पर पहुंचे और रोष जताया। सुक्खू ने कहा कि यह Candle March kathua और Unnao की घटनाओं के विरोध स्वरूप निकाला गया है। उन्होंने कहा कि दोनों घटनाओं को अंजाम देने वाले दरिंदों को फांसी दी जाए।
पीड़ित परिवारों को जल्दी न्याय दिलाने के लिए फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में मामलों की सुनवाई हो। Sukhu ने कहा कि उन्नाव में बीजेपी विधायक को बचाने की कोशिश की जा रही है, जिस कारण हाईकोर्ट को संज्ञान लेते हुए कार्रवाई के आदेश देने पड़े। Sukhu ने कहा कि इन मामलों में बीजेपी नेतृत्व का असली चेहरा सामने आया है। उन्होंने कहा कि इन घटनाओं के आरोपियों को बचाने के पीछे अगर राजनीतिक लोग हैं तो उन पर भी कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। इन घटनाओं की जितनी निंदा की जाए उतनी कम है।
बता दें कि जम्‍मू-कश्‍मीर के kathua जिले में 8 साल की बच्‍ची आसिफा का 10 जनवरी को अपहरण कर एक हफ्ते तक Gang rape करने के बाद हत्‍या कर दी गई थी। इलाके के रस्साना जंगलों से 17 जनवरी को आसिफा का क्षत-विक्षत शव बरामद हुआ था। पुलिस ने इस मामले में कुल 8 लोगों को आरोपी बनाया है, जिनमें 2 स्पेशल पुलिस ऑफिसर और एक हेड कांस्टेबल का नाम शामिल है। वहीं, उत्तर प्रदेश के उन्‍नाव जिले के बांगरमऊ से बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर एक महिला ने सामूहिक बलात्‍कार का आरोप लगाया है। आरोपों पर कार्रवाई नहीं होने पर पीड़ि‍ता ने 8 अप्रैल को सीएम योगी आदित्‍यनाथ के आवास के सामने आत्‍महत्‍या का प्रयास किया, जिसे पुलिस ने विफल कर दिया था। वहीं, महिला के आरोप लगाने के बाद पुलिस ने पीड़िता के पिता को ही मारपीट के एक मामले में हिरासत में ले लिया था, जहां 9 अप्रैल को संदेहास्पद परिस्थितियों में उनकी मौत हो गई।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है