Covid-19 Update

2,00,085
मामले (हिमाचल)
1,93,830
मरीज ठीक हुए
3,418
मौत
29,823,546
मामले (भारत)
178,657,875
मामले (दुनिया)
×

कांग्रेस नेताओं ने जयराम सरकार को घेरा, भ्रष्टाचार के आरोपों की लगाई झड़ी

मेकशिफ्ट अस्पतालों में भाजपाइयों को लाभ देने का जड़ा आरोप

कांग्रेस नेताओं ने जयराम सरकार को घेरा, भ्रष्टाचार के आरोपों की लगाई झड़ी

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल (Himachal) में होर्डिंग प्रकरण के बाद सक्रिय हुए कांग्रेस (Congress) के एक खेमे ने कल नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री (Leader of Opposition Mukesh Agnihotri) के शिमला स्थित आवास में एकजुटता का प्रदर्शन करने के बाद आज जयराम सरकार (Jai Ram Govt) पर आरोपों की बारिश की है। सरकार पर कोविड-19 (Covid-19) सामग्री खरीद में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार के आरोपों के साथ मेकशिफ्ट अस्पताल (Makeshift Hospital) के लिए अधिक दामों पर बीजेपी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं की जमीनें लीज पर लेने का भी आरोप जड़ा है। हिमाचल सरकार के टीकाकरण अभियान पर भी सवाल खड़े किए हैं और कोविड मृत्यु के आंकड़ों को छुपाने का भी आरोप लगाया है। मांग की है कि कोविड से मृतक के परिजनों को 4 लाख का मुआवजा दिया जाए। आज नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री, पूर्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर (Former Minister Kaul Singh Thakur), विधायक आशा कुमारी, पूर्व मंत्री सुधीर शर्मा (Former Minister Sudhir Sharma) व विधायक विक्रमादित्य सिंह (MLA Vikramaditya Singh) ने संयुक्त प्रेसवार्ता में जयराम सरकार की जमकर घेराबंदी की। इस अवसर पर सुभाष मंगलेट भी मौजूद रहे।

 


यह भी पढ़ें: Shimla में कांग्रेस के पांच दिग्गजों का मिलना, आखिर किस ओर कर रहा इशारा- जाने

 

उक्त कांग्रेसी नेताओं का कहना था कि हिमाचल में एक महीने में ही 1,800 लोगों ने जान गंवाई है। अब तक 3,200 से अधिक लोगों की दुखद मृत्यु हुई है। इसमें भी सरकार कोरोना (Corona) काल में मौत के आंकड़ों को छिपा रही है। विपक्ष ने कहा कि कोविड सामग्री खरीद में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार हो रहा है। भाजपाइयों को आपदा में अवसर देकर खुली लूट मचा रखी है। 4 करोड़ के लागत से मेकशिफ्ट अस्पताल बनाएं जा रहे हैं और इसमें भी बीजेपी कार्यकर्ताओं (BJP Workers) और पदाधिकारियों की जमीनें भारी भरकम कीमत पर लीज पर ली जा रही हैं।

 

 

नेता प्रतिपक्ष मुकेश ने कहा कि कोरोना माहमारी के मुश्किल दौर में सरकार अपनी गिरती छवि बचाने के लिए करोड़ों रुपये खर्च कर मीडिया एजेंसी हायर कर अपने चेहतों को फायदा पहुंचाने में जुटी हुई है। वहीं, तेल और खाद्यान्नों की कीमतों के आसमान छूने के साथ ही गैस सिलेंडर को कीमतें दोगुनी हो गई हैं। सरकार की छवि बनाने के लिए इवेंट मैनेजमेंट कंपनी (Event Management Company) को जनसंपर्क विभाग का काम ठेके पर दिया जा रहा है। कौल सिंह ठाकुर में कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा बनाए जा रहे कोविड सेंटरों, मेकशिफ्ट अस्पतालों में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार हुआ है। दवा खरीद और कोविड से लड़ने के लिए जरूरी साजो सामान में भी बाजार कीमतों पर खरीद हुई है, जिसकी जांच होनी चाहिए। जबकि हेल्थ डिपार्टमेंट में घोटाला होने के चलते पूर्व स्पीकर और बीजेपी अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल (Dr. Rajeev Bindal) को इस्तीफा देना पड़ा था, जबकि निदेशक स्वास्थ्य को जेल की हवा खानी पड़ी थी।

 

यह भी पढ़ें: कोरोना टीकाकरण को पंचवर्षीय योजना बनने से रोकने के लिए कांग्रेस पहुंची राजभवन

 

कौल सिंह ने सीएम पर भ्रष्टाचार में लिप्त लोगों को संरक्षण देने की भी बात कही। कांग्रेस नेताओं के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों को साबित करने की चुनौती दी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आज ठेकेदार माफिया सक्रिय है। खनन माफिया प्रदेश को खोखला कर चुका है। कांग्रेस नेता आशा कुमारी ने कहा कि प्रदेश सरकार बेशक वेंटिलेटर और बाकी व्यवस्था के दुरुस्त होने के दावे कर रही है, जबकि व्यवस्था चलाने के लिए मैनपावर नहीं है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है