Covid-19 Update

2,01,210
मामले (हिमाचल)
1,95,611
मरीज ठीक हुए
3,447
मौत
30,134,445
मामले (भारत)
180,776,268
मामले (दुनिया)
×

हेलिकॉप्टर विवाद में जयराम सरकार के समर्थन में आए कांग्रेसी विधायक विक्रमादित्य सिंह

विपक्ष की ओर से सवाल उठाने पर सरकार ने पेश की थी सफाई

हेलिकॉप्टर विवाद में जयराम सरकार के समर्थन में आए कांग्रेसी विधायक विक्रमादित्य सिंह

- Advertisement -

शिमला। कोरोना संकट के बीच इन दिनों जयराम सरकार ( Jairam Govt) के नए हेलीकाप्टर की खासी चर्चा है। सीएम जयराम के इस नए हेलीकॉप्टर ( New helicopters) को लेकर कांग्रेस भी जयराम सरकार पर निशाने साध रही है। इसी बीच एक कांग्रेस के विधायक (Congress MLA)ने इस मामले में जयराम सरकार का समर्थन किया है। ये विधायक कोई और नहीं बल्कि पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के पुत्र और शिमला ग्रामीण से विधायक विक्रमादित्य सिंह ( MLA Vikramaditya Singh) है। इस सारे माजरे पर विक्रमादित्य सिंह ने अपनी फेसबुक वॉल पर सरकार का समर्थन किया है। उन्होंने लिखा है – पिछले काफ़ी समय से मुख्यमंत्री के उड़नखटोले के ऊपर विवाद चला हुआ है, जैसा आप जानते हैं हमने हमेशा सही को सही और ग़लत को ग़लत कहने में विश्वास रखा हैं। जहां तक इस हेलीकॉप्टर की बात है हमें लगता है कि बेशक़ यह महंगा ज़रूर हैं (जो हमें विश्वास हैं ग्लोबल टेंडर से शॉर्ट लिस्ट हुआ हैं) मगर यह 18 सीटर विमान प्रदेश हित में है, हमें याद रखना चाहिए कि यह हेलीकॉप्टर केवल सीएम के लिए नहीं अपितु दुर्गम क्षेत्र में फंसे लोगों को शिमला आदि और शहरों में लाने के लिए भी उपयोग में लाया जाता है। हिमाचल जैसे पहाड़ी राज्य में लाहुल स्पीति ,पांगी भरमौर, डोडरा क्वार जैसे दुर्गम क्षेत्र में फंसे लोगों को लाने के लिए यह हेलीकॉप्टर बहुत आवश्यक है, जिसका उदाहरण कई बार हमने पूर्व में देखा हैं।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में कोरोना की बंदिशेंः बाजार खाली जरूरी वस्तुओं की दुकानें हीं खुली, सूनी दिखीं सड़कें

हिमाचल ही नहीं हर राज्य के पास अपना विमान है, और जहां सीएम इसका इस्तेमाल अपने सरकारी कार्यों के लिए करते हैं वहीं आपातकाल की परिस्थिति मैं इस विमान का इस्तेमाल प्रदेश के और लोगों के लिए पूर्व की तरह भविष्य में भी होना चाहिए। बहुत से अन्य मसलें हैं जिस पर सरकार को घेरा जा सकता हैं, परंतु यह उन में से नहीं हैं, इस महामारी के समय में इस हेलीकॉप्टर कि प्रदेश को पहले से ज़्यादा आवश्यकता है , भगवान न करे नासिक जैसी कोई घटना हिमाचल में हो जाएं और मरीज़ों को “एयर लिफ़्ट” करना पड़े या ऑक्सीजन सप्लाई दुर्गम क्षेत्रों में पहुंचानी पड़े तो सरकार किसके पास हाथ फैलाती रहें ? अगर किसी को हमारे विचार बुरे लगें, तों हम उसके लिए क्षमाप्रार्थी है, परंतु हम हमेशा तथ्य और तर्क के साथ, अपने विचार रखते रहेंगे।


यह भी पढ़ें: हिमाचल में सोमवार से शाम 4 बजे बंद होंगे बैंक, पब्लिक डीलिंग को चार घंटे का ही समय

दरअसल कोरोना काल में आर्थिक संकट से जूझ रही हिमाचल सरकार ने पांच लाख एक हजार प्रति घंटे पर रूसी की कंपनी से हेलीकॉप्टर किराए पर लिया है। इसको लेकर कांग्रेस लगातार सरकार पर हमले कर रहा है। यहां कर कि कैबिनेट की बैठक के बाद शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज को इस मामले पर सफाई देनी पड़ी थी। उनका कहना था कि लीज पर हेलीकॉप्टर लेना कोई नई बात नहीं है। विपक्ष के लोग इस मामले में अनावश्यक कमेंट कर रहे । हेलीकॉप्टर लीज पर लेने के टेंडर में पारदर्शिता बरती गई है। यह आम जनता और जनजातीय लोगों के लिए हित के लिए है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है