Covid-19 Update

59,059
मामले (हिमाचल)
57,473
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,210,799
मामले (भारत)
117,078,869
मामले (दुनिया)

भारत बंद को सुक्खू ने व्यापारियों सहित हर वर्ग से मांगा सहयोग

भारत बंद को सुक्खू ने व्यापारियों सहित हर वर्ग से मांगा सहयोग

- Advertisement -

शिमला। महंगाई के खिलाफ अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के दस सितंबर के भारत बंद को सफल बनाने के लिए प्रदेश कांग्रेस ने कमर कस ली है। प्रदेशाध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू ने व्यापारियों सहित समाज के हर वर्ग से बंद को सफल बनाने के लिए सहयोग मांगा है।

कांग्रेस भारत बंद को आम जनता की लड़ाई मान रही है, चूंकि महंगाई के बेलगाम होने से हर वर्ग परेशान है। घर का बजट बिगड़ चुका है। सुक्खू ने हर वर्ग से अपील की है कि वह दस सितंबर को सुबह दस से तीन बजे तक कांग्रेस के भारत बंद का समर्थन करें, जिससे कि केंद्र सरकार नींद से जागे और महंगाई पर लगाम लगाए।

सुक्खू ने पार्टी कार्यकर्ताओं को शांतिपूर्ण तरीके से बंद करने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि बंद के दौरान किसी सूरत में आपातकालीन सेवाओं एंबुलेंस, अग्निशमन व अन्य सेवाओं को न रोका जाए। प्रदेशाध्यक्ष सुखविंदर सुक्खू ने कहा कि गिरता रुपया, महंगा तेल, मोदी जी के भाषण हो चुके हैं फेल।

देश व प्रदेश की जनता महंगाई का बोझ कब तक सहेगी। केंद्र की मोदी सरकार ने साढे़ चार साल में पेट्रोल-डीजल पर टैक्स लगाकर 11 लाख करोड़ रुपया कमाया है। पेट्रो पदार्थों की कीमतें आसमान छू रही हैं। रसोई गैस का सिलेंडर नौ सौ रुपये का हो गया है।

16 मई 2014 को अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल की कीमत 107.09 डॉलर प्रति बैरेल थी, जबकि आज कच्चे तेल की कीमत 73 डॉलर प्रति बैरेल है। सुक्खू ने कहा कि कांग्रेस-यूपीए के समय पेट्रोल की कीमत 70 रुपये थी, जबकि मोदी सरकार में बीते 6 सितंबर को 80 रुपये थी।

यूपीए सरकार में डीज़ल की कीमत 55 रुपये थी, जबकि आज 70 रुपये है। रसोई गैस का सिलेंडर यूपीए सरकार में 400 था, आज नौ सौ रुपए में मिल रहा है। दूध यूपीए सरकार में 40 रुपये था, आज 52 रुपये मिल रहा है। दाल यूपीए सरकार में 70 रुपये थी, आज 170 रुपये मिल रही है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है