Covid-19 Update

1,58,472
मामले (हिमाचल)
1,20,661
मरीज ठीक हुए
2282
मौत
24,684,077
मामले (भारत)
163,215,601
मामले (दुनिया)
×

भाजयुमो का हमलाः CPS के सहारे शिक्षा विभाग चला रही Congress

भाजयुमो का हमलाः CPS के सहारे शिक्षा विभाग चला रही Congress

- Advertisement -

हमीरपुर। जब से प्रदेश में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने सत्ता संभाली है, तब से प्रदेश में प्राथमिक से लेकर उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को सुधारने में पूर्णतः असफल साबित हुई है। प्रदेश सरकार के पास शिक्षा मंत्री तक नहीं है। मात्र एक सीपीएस के सहारे शिक्षा विभाग चलाया जा रहा है। यह बात भाजयुमो प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य एवं जिला सहकारी विकास संघ हमीरपुर के निदेशक विशाल पठानिया ने कही। उन्होंने कहा कि जो चुनावी घोषण पत्र में कांग्रेस ने प्रदेश के युवाओं को गुणात्मक शिक्षा देने का वादा किया था, उस पर कांग्रेस सरकार पूर्णतः विफल रही है। प्रदेश सरकार ने बिना किसी सर्वे के विभिन्न स्तर के स्कूल व कालेज तो खोल दिए, लेकिन उनमें सही गुणवत्ता वाले अध्यापक नहीं दे पाई। प्रदेश में शिक्षा का हाल यह है कि कहीं पर शिक्षक नहीं हैं, तो कहीं पर शिक्षा ग्रहण करने के लिए उचित ढांचा नहीं है। एक तरफ प्रदेश के सीएम अपने भाषणों में  बोलते रहते हैं कि वह राजनीति में नहीं होते तो शिक्षक का काम अध्यापन क्षेत्र में करते, लेकिन प्रदेश में गिरते शिक्षा के स्तर को देखते हुए यह बात स्पष्ट होती है कि वह शिक्षा के प्रति कितनी सजकता के साथ काम कर रहे हैं।


  • आरोप, एजुकेशन की गुणवत्ता को सुधारने में असफल सरकार
  • प्रदेश में स्कूल, कॉलेज खोलकर अध्यापक रखना भूले सीएम 

हालांकि इस वर्तमान सरकार में शिक्षा विभाग खुद सीएम ही देख रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के शिक्षा के प्रति नकारात्म्क रवैय को देखते हुए अभिभावक निजी शिक्षण संस्थानों की तरफ प्रदेश व प्रदेश के बाहर गुणात्मक शिक्षा ग्रहण करने के लिए रुख कर रहे हैं। जब कांग्रेस सरकार प्रदेश में सत्ता में आई तो विद्यार्थियों के लिए  मुफ्त बस सेवा व वर्दी देने की बड़ी-बड़ी घोषणाएं कीं, लेकिन कोई नई बस स्कूल टाइम पर लगाने में सरकार ने रुचि नहीं दिखाई। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के पास प्रदेश के स्कूलों में खाली पड़े शिक्षकों के पदों को भरने के लिए कोई योजना नहीं है।


 जब चुनावी वर्ष शुरू हुआ तो प्रदेश में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने बिना किसी योजना के इन भर्तियों को आनन-फानन में शुरू कर दिया। पठानिया ने कहा कि शिक्षण संस्थानों में घटती विद्यार्थियों की संख्या चिंता का विषय है, लेकिन कांग्रेस सरकार गुणात्मक शिक्षा देने में पक्षधर नहीं लगती है। प्रदेश की जनता प्रदेश सरकार के शिक्षा के प्रति नकारात्मक रवैय को भलीभांति समझ गई है। आगामी विधानसभा चुनावों में इस शिक्षा के गिरते हुए स्तर को दोबारा पटरी पर लाने के लिए प्रदेश की जनता ने तख्तापलट का मन बना लिया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस सरकार की इन जनविरोधी नितियों को घर-घर तक युवा मोर्चा पहुंचाएगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है