Covid-19 Update

2,00,832
मामले (हिमाचल)
1,95,254
मरीज ठीक हुए
3,440
मौत
30,028,709
मामले (भारत)
179,981,557
मामले (दुनिया)
×

मिसाल: नौकरी के साथ पढाई कर यह कॉस्टेबल बना पीसीएस अफसर, जानें 

मिसाल: नौकरी के साथ पढाई कर यह कॉस्टेबल बना पीसीएस अफसर, जानें 

- Advertisement -

नई दिल्ली। अगर आपके मन में कुछ अलग हासिल करने का जज्बा हो तो आपको कामयाबी हासिल करने से कोई नहीं रोक सकता। इस बात का गवाह बना है एक पुलिस कॉन्स्टेबल जिसने 14 साल से पुलिस कॉन्स्टेबल (Police constable) की ड्यूटी पर तैनात रहते हुए पढ़ाई की। इनकी मेहनत का नतीजा आज ये है कि पीसीएस-2016 (PCS-2016) पास कर एक पीसीएस ऑफिसर (PCS Officer) बन गए है। इन्होंने परीक्षाओं की तैयारी कर रहे कई बच्चों के लिए भी एक मिसाल कायम की है।

 

 


बता दें कि श्याम बाबू नाम के यह शख्स यूपी पुलिस (UP Police) में 14 साल से कांस्टेबल के पद पर कार्यरत थे। जब वह 19 साल के थे तब उनका चयन कांस्टेबल के पद पर हो गया। वर्तमान में वह प्रयागराज हेडक्वार्टर (Prayagraj Headquarter) में कार्यरत हैं। कांस्टेबल के पद पर नौकरी करने के बाद भी वह हमेशा कुछ और बेहतर करने का सोचते थे। इसके लिए वह तमाम प्रतियोगी परीक्षा के लिए फॉर्म भरते थे। साल 2012 से 2013 में पीसीएस बनने के लिए गंभीर रूप से तैयारी शुरू कर दी।

 

 

इस तरह करते थे नौकरी के साथ पढ़ाई
श्याम बाबू ने पीसीएस की तैयारी के लिए किसी भी तरह के कोचिंग सेंटर का सहारा न लेकर सेल्फ स्टडी की। उन्होंने 5-6 घंटे तैयारी को दिए और पीसीएस बनने का संकल्प लिया। श्याम बाबू 2 घंटे कम नींद लेते थे ताकि 2 घंटे ज्यादा पढ़ाई को दे सकें। उन्होंने युवाओं को सन्देश देते हुए कहा, जीवन में आप जो कुछ आप करना चाहते हैं उसके लिए एक निर्णय लें और खुद में विश्वास रखें। सफलता आपके कदम चूमेंगी। बता दें, श्याम बाबू का जन्म यूपी के बलिया गांव में 10 अक्टूबर 1985 को हुआ था। उनके पिता गांव में जनरल स्टोर की एक छोटी सी दुकान चलाते हैं। जबकि माता गृहणी हैं। श्याम बाबू 5 बहनें और दो भाइयों में से सबसे छोटे हैं। उनकी इस उपलब्धि पर उनका परिवार खुश है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है