Covid-19 Update

2,01,054
मामले (हिमाचल)
1,95,598
मरीज ठीक हुए
3,446
मौत
30,082,778
मामले (भारत)
180,423,381
मामले (दुनिया)
×

SC पहुंचा निर्भया का दोषी मुकेश, फिर कानूनी विकल्प इस्तेमाल करने की रखी मांग

SC पहुंचा निर्भया का दोषी मुकेश, फिर कानूनी विकल्प इस्तेमाल करने की रखी मांग

- Advertisement -

नई दिल्ली। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट (Patiala House Court Of delhi) ने निर्भया गैंगरेप (Nirbhaya Gangrape) के दोषियों को फांसी की सजा देने के लिए तीसर चौथा डेथ वारंट जारी कर दिया है। निर्भया के दोषियों के सभी कानूनी विकल्प खत्म हो चुके हैं ऐसे में माना जा रहा है कि दोषियों को फांसी की सजा नहीं टल सकती। इसी बीच एक दोषी मुकेश ने फांसी की सजा से बचने के लिए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का रुख किया है। दोषी ने अपने सुधारात्मक याचिका और अन्य कानून विकल्प इस्तेमाल करने का वक्त देने की मांग की है। एक याचिका में दोषी ने कहा अपने पुराने वकील पर उसे गुमराह करने का आरोप भी लगाया है।

यह भी पढ़ें: साढ़े बारह घंटे पहले टली Nirbhaya के दोषियों की ‘मौत’, फिर रद्द हुआ डेथ वारंट

सुप्रीम कोर्ट में दायर अपनी याचिका में मुकेश ने अपने नए वकील एमएल शर्मा के जरिए फिर से सुधारात्मक याचिका (Curative petition) दाखिल करने की इजाजत मांगी है। इस याचिका को मुकेश के भाई सुरेश ने वकील एमएल शर्मा के जरिए दाखिल करवाया है। मुकेश ने अपनी पूर्व वकील वृंदा ग्रोवर पर आरोप लगाते हुए कहा कि उसे बताया ही नहीं गया कि सुधारात्मक याचिका दाखिल करने के लिए तीन साल तक का वक्त होता है। इस याचिका पर सोमवार को सुनवाई हो सकती है। इससे पहले भी तीन बार दोषियों का डेथ वांरट कैंसिल हो चुका है। लेकिन इस बार दोषियों के सभी कानूनी विकल्प खत्म होने के बाद ऐसा माना जा रहा है कि दोषियों को फांसी की सजा से कोई नहीं बचा सकता। बता दें, नए डेथ वारंट के अनुसार दोषियों को 20 मार्च सुबह 5 :30 बजे फांसी पर लटकाया जाना है।


हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel..

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है