Covid-19 Update

2,06,589
मामले (हिमाचल)
2,01,628
मरीज ठीक हुए
3,507
मौत
31,767,481
मामले (भारत)
199,936,878
मामले (दुनिया)
×

राहतः Corona से ठीक होने में Himachal अव्वल, 62 फीसदी पहुंचा रिकवरी रेट

राहतः Corona से ठीक होने में Himachal अव्वल, 62 फीसदी पहुंचा रिकवरी रेट

- Advertisement -

शिमला। कोरोना वायरस (Coronavirus) से ठीक होने में हिमाचल पड़ोसी राज्यों और देश के कई बड़े राज्यों की तुलना में अव्वल है। अब तक हिमाचल (Himachal) में रिकवरी रेट 62 फीसदी पहुंच गया है। जोकि बेहतर उपचार दर वाले अन्य प्रदेशों के बराबर है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 658 मामले आए हैं, जिनमें से 409 व्यक्ति स्वस्थ हो चुके हैं और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। इनमें चार हिमाचल के बाहर चले गए चार लोग भी शामिल हैं। जोकि सोलन जिला के खाते में हैं और दिल्ली के एक निजी अस्पताल (Private Hospital) में इलाज करवाकर ठीक हुए हैं।

यह भी पढ़ें: Corona Breaking:चंबा व सोलन में सुबह -सवेरे दो लोग आए Positive

कोरोना के मामलों में कांगड़ा जिला नंबर वन पर है और दूसरे नंबर पर हमीरपुर है। कांगड़ा जिला में 170 कुल मामले हैं। अब तक 114 लोग ठीक हुए हैं। हमीरपुर में 166 कुल मामले हैं और 109 लोग कोरोना (Corona) से जंग जीते हैं। ऊना जिला में कुल आंकड़ा 80 पहुंच गया है और 49 लोग ठीक हो चुके हैं। सोलन में कांगड़ा 75 है तथा 34 लोग ठीक हुए हैं। प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण से 6 लोगों की मृत्यु हुई है। यह सभी लोग देश के अन्य भागों से वापस आए थे और गंभीर बीमारियों से पीड़ित थे। शिमला और मंडी जिला के दो-दो, कांगड़ा और हमीरपुर जिला के एक-एक कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) की मृत्यु हुई है।


 

 

यह भी पढ़ें: पहले Negative बता घर भेजा, फिर रिपोर्ट में गड़बड़ी  कहकर 6 घंटे खेतों में बिठाया

हिमाचल में कोरोना वायरस संक्रमण का पहला मामला 19 मार्च को सामने आया था। 4 मई को प्रदेश कोरोना मुक्त होने वाला था। इसी बीच राज्य सरकार द्वारा अपनाए गए मानवीय दृष्टिकोण और प्रभावी निर्णय के परिणामस्वरूप लगभग दो लाख हिमाचलवासियों को दूसरे राज्यों से वापस लाया गया। दूसरे राज्यों से वापस आए व्यक्तियों के बाद ही कोरोना संक्रमण के मामलों में वृद्धि हुई। क्वारंटाइन मानदंडों के अनुसार ही दूसरे राज्यों से वापस आए व्यक्तियों को उनके घर भेजा जा रहा है। अप्रवासी हिमाचलवासियों और अप्रवासी श्रमिकों को प्रदेश में 14 दिन का क्वारंटाइन अवधि का कड़ाई से पालन करवाया जा रहा है। इससे कोरोना के संभावित सामुदायिक फैलाव को रोकने में मदद मिल रही है।

यह भी पढ़ें: Corona in India: संक्रमितों की संख्या 4 लाख पार, 24 घंटों में रिकार्ड 15,413 पॉजिटिव मामले

प्रदेश सरकार ने बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों के परिजनों को सामाजिक दूरी के बारे में शिक्षित करने के लिए ‘निगाह’ कार्यक्रम आरंभ किया। इसके तहत राज्य में वापस आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की समुचित स्वास्थ्य जांच की गई। उसकी यात्रा का पूरा विवरण भी लिया गया। आशा, स्वास्थ्य और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा बाहरी राज्यों से वापिस लौटे हिमाचलवासियों के घर जाकर उनके परिजनों को सामाजिक दूरी बनाए रखने के महत्व के बारे में शिक्षित किया गया।
प्रदेश सरकार ने एक अप्रैल 2020 से एक्टिव केस फाइंडिंग अभियान आरंभ किया। 16 हजार से अधिक स्वास्थ्य तथा आशा कार्यकर्ता घर-घर गए। राज्य में इन्फलुएंजा लक्षणों वाले व्यक्तियों के संबंध में जानकारी हासिल की। पीएम नरेंद्र मोदी ने इस अभियान की सराहना की और देश के कुछ राज्यों ने इसे अपनाया भी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है