Covid-19 Update

1,61,072
मामले (हिमाचल)
1,24,434
मरीज ठीक हुए
2348
मौत
24,965,463
मामले (भारत)
163,750,604
मामले (दुनिया)
×

शिमला पहुंची Corona Vaccine, चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर की रिसीव, फिर सड़क मार्ग से पहुंचाई

16 जनवरी से शुरू होगा टीकाकरण, हिमाचल में तैयारियां पूरीं

शिमला पहुंची Corona Vaccine, चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर की रिसीव, फिर सड़क मार्ग से पहुंचाई

- Advertisement -

शिमला। कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) का इंतजार आखिरकार खत्म हो गया। हिमाचल के लिए कोरोना वैक्सीन शिमला पहुंच गई है। आज चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर कोरोना वैक्सीन को रिसीव किया गया और इसके बाद सड़क मार्ग से शिमला पहुंचाई गई। कोरोना वैक्सीन 16 जनवरी को लगनी शुरू होगी  हिमाचल के लिए पहले चरण में 93 हजार डोज भेजें गए हैं, जिन्हें सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों को लगाया जाएगा। शिमला जिला में 5 जगहों आईजीएमसी (IGMC), डीडीयू, केएनएच, ठियोग अस्पताल और रामपुर अस्पताल में कोविड 19 वैक्सीन लगाई जाएगी। स्वास्थ्य विभाग (Health Department) ने सभी अस्पतालों में वैक्सीन लगाने के लिए टीमों की तैनाती और अन्य व्यवस्थाओं को पूरा कर लिया है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी शिमला डॉ. सुरेखा चोपड़ा ने बताया कि पहले चरण में जिला के 5 स्थानों पर 100-100 हेल्थ वर्करों (Health Workers) को वैक्सीन लगाई जाएगी। जिला के 5 स्थानों पर चयनित सफाई कर्मचारी, लैब तकनीशियन, ओटीए, ठियोग में क्लास-4 कर्मचारी और रामपुर में स्टाफ नर्स को पहला टीका लगाया जाएगा। सीएमओ डॉ. सुरेखा चोपड़ा ने बताया कि जिला में पहले चरण में 11,050 लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी, जिसमें पुलिस, सफाई, राजस्व कर्मचारियों और अधिकारियों को टीका लगाया जाएगा, जिसके लिए 39 स्थान चिंहित किए गए हैं। हर बूथ पर पांच-पांच कर्मचारी और डॉक्टर तैनात किए जाएंगे, ताकि किसी तरह की समस्या ना हो।


यह भी पढ़ें: #Himachal में कितना पहुंचा #Corona रिकवरी रेट और कितने बचे एक्टिव केस- जानिए

सीएमओ सुरेखा चोपड़ा ने बताया कि टीका लगने के बाद संबंधित व्यक्ति को 28 दिनों के लिए निगरानी में रखा जाएगा, जिसके बाद व्यक्ति दूसरी डोज़ लगाई जाएगी। उन्होंने बताया कि वैक्सीन उसी तरीके से लगाई जाएगी जिस तरीके से ड्राई रन (Dry run) किया गया है। वैक्सीन के साइड इफेक्ट को लेकर लोगों को भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है। वैक्सीन की पहली डोज लगाने के बाद भी व्यक्ति को कोरोना होने की संभावना रहती है, इसलिए व्यक्ति को जब तक दूसरी डोज नहीं लगती और 42 दिन नहीं हो जाते हैं, तब तक पहले की तरह मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग और साफ सफाई का ध्यान रखना होगा।


सिरमौर जिला के 180 स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को लगेगा कोविड टीका

नाहन। जिला सिरमौर में 16 जनवरी को 180 स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को कोविड टीका लगाया जाएगा, जिसमें डॉ. वाईएस परमार राजकीय मेडिकल कॉलेज नाहन में 100 और सिविल अस्पताल पांवटा साहिब में 80 स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का चयन किया गया है। यह जानकारी डीसी सिरमौर ड़ॉ. आरके परूथी ने नाहन में आयोजित हुई जिला टास्क फोर्स की बैठक में दी। बैठक में बताया गया कि केंद्र सरकार से राज्य सरकार को मिली कोविशील्ड टीके की पहली खेप आज शाम को शिमला पहुंचेगी, जिसमें 3400 डोज सिरमौर को आवंटित हुए हैं। यह टीका 2 फरवरी तक जिला के लगभग 5645 स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं जिनकी उर्म 50 वर्ष से कम और जो किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित नहीं है, उन्हें लगाया जाएगा। बैठक में बताया गया कि टीका लगने वाले व्यक्तियों को उनके मोबाइल पर एसएमएस के माध्यम से समय, तिथि  व सत्र के बारे में सूचित किया जाएगा। टीका लगाए जाने वाले स्थान पर चयनित व्यक्ति को अपने साथ पहचान पत्र लेकर आना अनिवार्य होगा। प्रवेश द्वार पर पहले व्यक्ति की पहचान की जांच की जाएगी, जिसके बाद आगे दूसरे व्यक्ति द्वारा चयनित व्यक्ति का सत्यापन किया जाएगा। टीका लगने के बाद व्यक्ति को 30 मिनट तक निगरानी में रखा जाएगा। डॉ. परूथी ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि कोविड टीके की डोज की बर्बादी किसी भी हाल में ना हो और यह सुनिश्चित करने के लिए इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि टीका लगने वाले दिन चयनित व्यक्तियों में से कोई भी अनुपस्थित ना हो।

किसे लगेगा टीका, किसे नहीं

1. 18 वर्ष से कम आयु के व्यक्ति, गर्भवती महिलाएं, स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को यह टीका नहीं लगाया जाएगा।
2.  सर्दी, जुकाम खांसी जैसे लक्षणों की स्थिति में यह टीका नहीं लगाया जाएगा।
3. जो व्यक्ति पहले कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं उन्हें यह टीका लगाया जाएगा।
4.  टीका लगने के बाद दूसरी डोज 28 दिनों के बाद दी जाएगी।
5. 42 दिनों के बाद व्यक्ति की रोग-प्रतिरोधक प्रणाली पूर्णतया सुदृढ़ होगी।
6. टीका लगने के बाद हल्का बुखार, दर्द, सूजन, टिका लगने वाली जगह का लाल होना आदि बदलाव 2 से 7 दिनों के भीतर आना स्वभाविक होगा जिससे घबराने की आवश्यकता नहीं है।
7. टीका लगने के बाद भी व्यक्ति को कोरोना हो सकता है। इसलिए मास्क पहनना, सामाजिक दूरी का पालन करना और नियमित तौर पर हाथों को धोना या सैनिटाइज करना जरूरी होगा।
8. टीका लगने के बाद व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी जो उसे कोरोना से होने वाले तेज बुखार, सांस लेने में तकलीफ होना और मृत्यु जैसी संभावनाओं को कम कर देगा।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Channel  

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है