Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,526,589
मामले (भारत)
196,267,832
मामले (दुनिया)
×

मतदाता सूची में गड़बड़झाला, 50 फीसदी वोटर के नाम काटे

मतदाता सूची में गड़बड़झाला, 50 फीसदी वोटर के नाम काटे

- Advertisement -

Voters List : शिमला। निगम चुनाव को लेकर बनाई गई मतदाता सूची में भारी गड़बड़ी के आरोप लग रहे हैं। आरोप है कि मतदाता सूची से 50 फीसदी लोगों के नाम काट दिए गए हैं। माकपा के राज्य सचिवालय सदस्य व नगर निगम महापौर संजय चौहान और उपमहापौर टिकेंद्र पंवर ने यह आरोप लगाए। यहां पत्रकार वार्ता में उन्होंने कहा कि एक ओर देश संविधान निर्माता डॉ भीमराम अम्बेडकर की जयंती मना रहा है वहीं, दूसरी ओर शिमला में लोकतंत्र की हत्या की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस बार वोटर लिस्ट में 63000 मतदाता के नाम हैं, जबकि नगर निगम का क्षेत्र में मतदाता एक लाख से अधिक है। उन्होंने कहा कि पिछली बार जब नगर निगम का चुनाव हुआ था उस समय 80000 मतदाता थे। उस समय भी बहुत लोगों के नाम छूट गए थे, लेकिन इस बार मतदाता सूची में मतदाता के नाम बहुत कम है।

Voters List से कई अहम नाम गायब

उन्होंने कहा कि जो सूचियां जारी की गई हैं उनमें से करीब 50 फीसदी मतदाता सूची से बाहर हैं। मेयर और डिप्टी मेयर ने कहा कि मतदाता सूची से कई अहम नाम गायब हैं। चौहान ने कहा कि सूची से डिप्टी मेयर टिकेंद्र पंवर, पांच पार्षदों के नाम गायब हैं। इसके साथ-साथ कई लोग ऐसे हैं जो रहते किसी और वार्ड में है और नाम किसी दूसरे वार्ड में डाल दिया गया है। उन्होंने कहा कि मर्ज्ड एरिया में तो मतदाताओं के नाम सूची से गायब है, लेकिन जो पहले से ही निगम में थे उन मतदाताओं को भी अपना नाम सूची में नहीं मिल रहा है। उन्होंने कहा की विश्वविद्यालय और हॉस्टल में रहने वाले छात्रों के नाम भी मतदाता सूची में नहीं हैं। टिकेंद्र पंवर  ने सरकार से मांग की है कि मतदाता सूची को फ़ाइनल करने की तिथि आगे बढ़ाई जाए और बीएलओ को घर -घर जाकर मतदाता सूची को सही करने के आदेश दिए जाएं। उन्होंने कहा कि यदि सरकार उनकी मांगों को नहीं मानती है और इसी सूची को अंतिम रूप देती है तो माकपा लोगो के बीच में जाकर आंदोलन करेगी और न्यायालय का दरवाजा खटखटाएगी।


ईवीएम का विरोध

देशभर में ईवीएम के विरोध की गूंज शिमला निगम चुनाव तक पहुंच गई है। महापौर संजय चौहान ने कहा कि देश में ईवीएम का विरोध किया जाना सही है क्योंकि अब इसमें गड़बड़ियां होने लगी है। संजय चौहान ने कहा कि निगम चुनाव बैलेट पेपर पर होने चाहिए। चौहान ने कहा कि चुनाव आयोग यदि निष्पक्ष चुनाव करवाना चाहता है तो निगम के चुनाव बैलेट पेपर पर करवाए जाने चाहिए।

ये भी पढ़ें  : ईवीएमः मतदाताओं के साथ छलावा और लोकतंत्र के लिए घातक

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है