×

तख्तापलट की तैयारी: MC नालागढ़ में President के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव

तख्तापलट की तैयारी: MC नालागढ़  में President के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव

- Advertisement -

नालागढ़। नगर परिषद नालागढ में अध्यक्ष पद को लेकर घमासान मच गया है। नप के पांच पार्षदों ने नगर परिषद अध्यक्ष महेश गौतम के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाकर मोर्चा खोल दिया है जिससे नप अध्यक्ष की कुर्सी खतरे में पड़ गई है। परिषद गठन के करीब एक साल बाद ही दो कांग्रेस समर्थित, दो बीजेपी समर्थित और एक निर्दलीय पार्षद की  मिली भगत से अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है। सोमवार को इन पांच पार्षदों ने अविश्वास प्रस्ताव की एक प्रति डीसी सोलन को सौंप दी, उसके बाद वह अज्ञात स्थान के लिए चले गए। प्राप्त जानकारी अनुसार सोमवार को नगर परिषद के पांच पार्षदों ने नप अध्यक्ष की अब तक की कार्यप्रणाली से असंतुष्ट होकर, अध्यक्ष पर मनमानी व तानाशाही का आरोप जड़ा  है। उनका कहना है कि नगर परिषद अध्यक्ष ने उन्हें किसी भी कार्य के दौरान विश्वास में नहीं लिया। अध्यक्ष से खफा पार्षदों में वार्ड नंबर  2 से बीजेपी समर्थित पार्षद धर्मेंद्र राणा,  वार्ड नंबर 3 से पवन कुमार तथा कांग्रेस समर्थित वार्ड नंबर 5 से अल्का वर्मा , वार्ड नंबर 9 से मनोज कुमार वर्मा तथा वार्ड नंबर 7 से निर्दलीय पार्षद सरोज शर्मा शामिल हैं। बताते चलें कि जनवरी 2016 में नगर परिषद का चुनाव हुआ था जिसमें कांग्रेस के छह पार्षद एक निर्दलीय और दो बीजेपी के थे। हालांकि कांग्रेस समर्थित पार्षदों के पास पूर्ण बहुमत के बावजूद गुटबाजी के चलते एक निर्दलीय व एक बीजेपी समर्थित पार्षद का सहारा लेना पड़ा।


  • पांच पार्षदों ने डीसी को सौंपा अविश्वास प्रस्ताव का ज्ञापन
  • बागियों में नगर परिषद उपाध्यक्ष भी शामिल

  बताया जाता है कि नगर परिषद अध्यक्ष पद के लिए तय समय अवधि को लेकर समझौता हुआ था जिसमें पहले कार्यकाल में दो साल के लिए महेश गौतम अध्यक्ष पद पर आसीन होंगे और उसके बाद दो साल के लिए नीरू शर्मा ओर एक साल आशा गौतम में अध्यक्ष पद के लिए समझौता हुआ था। इसी तरह उपाध्यक्ष पद के लिए समझौता बताया जा रहा है लेकिन इस अविश्वास प्रस्ताव में उपाध्यक्ष का भी पूरा समर्थन रहा है। नगर परिषद नालागढ़ की अध्यक्ष की कुर्सी के लिए पर्दे के पीछे से बीजेपी व कांग्रेस नेताओं का खेल भी माना जा रहा है। धर्मेंद्र राणा, पवन कुमार स्थानीय विधायक के बेहद करीबी माने जाते हैं तो वहीं मनोज कुमार वर्मा, अल्का वर्मा कांग्रेस के पूर्व विधायक लखविंद्र राणा के करीबी है। वहीं नप अध्यक्ष महेश गौतम , कामगार बोर्ड़ के चेयरमैन हरदीप बावा के खासम खास माने जाते हैं।

 इस तरह बावा समर्थक व राणा समर्थकों के बीच राजनति की जंग छिड़ चुकी है अब देखना यह है ऊंट किस करवट बैठता है । इस बारे में नगर परिषद अध्यभ महेश गौतम ने बताया कि जल्द ही रूठे पार्षदों की घर वापसी होगी। महेश गौतम ने पार्षदों द्वारा लगाए गए आरोपों को बेबुनियाद बताया है। उनका कहना है कि  उन्होंने शहर में कई विकास कार्य शुरू किए हैं जिसमें अधिकतर कार्य पूर होने वाले हैं और उन्होंने भष्ट्राचार पर भी लगाम लगाई है इससे कुछ लोग इससे खुश नहीं थे । उन्होने जल्द ही इस विवाद को सुलझा देने के संकेत दिए हैं। वहीं इस बारे में डीसी सोलन राकेश कंवर ने बताया कि सुबह उन्हें नगर परिषद अध्यक्ष नालागढ़ के खिलाफ पांच पार्षदों द्वारा अविश्वास पत्र की प्रति सौंपी है जिस पर आगामी कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने बताया नियमों अनुसार नप सदस्यों को नोटिस देकर अगली बैठक तय की जाएगी और उस बैठक में नप अध्यक्ष को अपना बहुमत दिखाना होगा, अगर वह बहुमत साबित करने में असफल रहते हैं तो नियमानुसार अगली कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है