Covid-19 Update

58,645
मामले (हिमाचल)
57,332
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,112,241
मामले (भारत)
114,689,260
मामले (दुनिया)

मासूम की रेप कर हत्या करने वाले दरिंदे को मिली फांसी की सज़ा, कोर्ट ने 6 माह में ही निपटाया केस

मासूम की रेप कर हत्या करने वाले दरिंदे को मिली फांसी की सज़ा, कोर्ट ने 6 माह में ही निपटाया केस

- Advertisement -

रेवाड़ी। 8 साल की एक मासूम बच्ची के साथ रेप व मर्डर के मामले में अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश नरेश कुमार ने आरोपी को फांसी की सजा सुनाई है। आरोपी ने सबूत नष्ट करने की मंशा से बच्ची के शव को अलमारी में छिपा दिया था। जैसे ही न्यायाधीश ने शुक्रवार को फांसी की सजा सुनाई तो आरोपी फूट-फूट कर रो पड़ा। जिस समय इस केस की सजा सुनाई गई, उस समय पीडि़त व आरोपी पक्ष के परिजनों के अलावा भारी संख्या में लोग मौजूद थे। रेवाड़ी के न्यायिक इतिहास में पहली बार रेप व मर्डर के मामले में किसी को फांसी की सजा सुनाई गई है। न्यायाधीश ने त्वरित न्याय प्रदान करने के लिए मामले का निपटारा मात्र छह माह में कर दिया। आपको बता दें कि यह मामला 8 जून का है और रेवाड़ी जिला के कसौला थाना क्षेत्र के अंतर्गत आता है।

मध्यप्रदेश का है पीड़ित परिवार

मध्यप्रदेश का एक परिवार यहां किराए का मकान में रहकर अपनी आजीविका कमा रहा था। 8 साल की एक बच्ची व 5 साल का लडक़ा माता-पिता के साथ रह रहे थे। बच्ची स्कूल जाती थी। यहीं पर हाथरस यूपी के गांव मीरपुर निवासी 22 वर्षीय सन्नी भी अपनी बहन व जीजा के साथ किराए के कमरे में रह रहा था। इसी मकान में पीडि़त परिवार भी रहता था। बच्ची के पिता और सन्नी दोनों कंपनी में काम करते थे। 8 जून को जीजा व बहन गांव चले गए थे और वह घर पर अकेला था। इधर, लडक़ी के माता-पिता सन्नी से यह कह कर गए थे कि वह अपने पुत्र को दवाई दिलवाने जा रहे हैं। घर पर पुत्री अकेली है और उसका ख्याल रखना। उसने बच्ची को धोखे से अपने कमरे में बुला लिया। वह उसके साथ जब जबरदस्ती करने लगा तो बच्ची ने विरोध किया। तत्पश्चात उसने बच्ची के हाथ-मुंह बांध दिए और फिर दरिंदगी की।

हमदर्द बनने का ड्रामा करता था सन्नी

माता-पिता जब देर शाम को घर पहुंचे तो उन्होंने सन्नी से बच्ची के बारे में पूछा। उसने कहा कि वह किसी लडक़ी के साथ चली गई है। जब काफी देर तक तलाशने के बाद भी बच्ची नहीं मिली तो इसकी सूचना कसौला थाना पुलिस को दी गई। तलाशी के दौरान सन्नी हमदर्द बनने व उसे तलाशने का ड्रामा करता रहा। इसी दौरान पुलिस को जब कुछ शक हुआ और सन्नी से कड़ी पूछताछ की गई तो वह टूट गया। उसने बताया कि उसने बच्ची के साथ दुष्कर्म करके उसकी गला दबाकर हत्या कर दी है और शव को अलमारी में छिपा रखा है।

जिला बाल संरक्षण समिति ने की अदालत के फैसले की सराहना

जिला बाल संरक्षण समिति के सदस्य उपासना गुप्ता ,अध्यक्ष नलिनी यादव व डीएसपी सतपाल ने अदालत के इस फैसले की सराहना करते हुए कहा कि ऐसे फैसलों से दरिंदगी की सोच रखने वालों को सबक मिलेगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है