Covid-19 Update

2,05,383
मामले (हिमाचल)
2,00,943
मरीज ठीक हुए
3,502
मौत
31,470,893
मामले (भारत)
195,725,739
मामले (दुनिया)
×

हिमाचल: जंगल में पशु चराने गई नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी को मिली ये सजा

दोषी को अदालत ने 7 साल की सजा के साथ 20 हजार का जुर्माना लगाया

हिमाचल: जंगल में पशु चराने गई नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी को मिली ये सजा

- Advertisement -

कांगड़ा। हिमाचल के कांगड़ा (Kangra) जिला में अपनी बहन के साथ जंगल में पशु चराने गई नाबालिग युवती से दुष्कर्म (Rape) मामले में दोषी को सात साल की सजा सुनाई है। अदालत ने आरोपी को 20 हजार का जुर्माना (fined )भी लगाया है। जुर्माना अदा ना करने पर दोषी को 6 माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा। यह फैसला स्पैशल जज फास्ट ट्रैक कोर्ट पोक्सो जिला कांगड़ा स्थित धर्मशाला कृष्ण कुमार ने सुनाया है। मामले की पैरवी करने वाले स्पेशल सरकारी वकील फास्ट ट्रैक कोर्ट पोक्सो धर्मशाला (Dharamshala) राम देव चौधरी ने बताया कि ज्वाली क्षेत्र की 9वीं कक्षा में पढ़ने वाली पीड़िता 19 जून, 2017 को भारी बारिश के कारण अपने स्कूल नहीं गई थी। वह अपनी बहन के साथ जंगल में पशु चराने क्षेत्र के समीपवर्ती खड्ड के जंगल में चली गई।

यह भी पढ़ें: हरियाणा से भतीजी को शिमला घुमाने लाया था चाचा, होटल में किया गंदा काम

जंगल (Forest) में गुरमीत उर्फ गोल्डी भी अपनी बकरियां चराने पहुंचा था। इस दौरान गुरमीत ने उसके साथ जबरदस्ती दुष्कर्म किया। इसके बाद पीड़िता ने ज्वाली पुलिस थाना में आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज करवाया। मामले की जांच के बाद पुलिस ने कोर्ट में चालान पेश किया। सुनवाई के दौरान सरकारी वकील ने 22 गवाह पेश किए, जिसके आधार पर न्यायालय (Court) ने गुरमीत को दोषी करार देते हुए सजा सुनाई। अदालत ने दुष्कर्म का आरोप सिद्ध होने पर दोषी को 7 वर्ष के कठोर कारावास की सजा सुनाई है, साथ ही 20 हजार रुपए जुर्माना भी किया है। जुर्माना न भरने पर दोषी को 6 माह का अतिरिक्त कारावास की सजा भुगतनी होगी।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel…

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है