Covid-19 Update

2,00,328
मामले (हिमाचल)
1,94,235
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,881,965
मामले (भारत)
178,960,779
मामले (दुनिया)
×

पूरा नहीं कर पाए खाने का Order, कोर्ट ने रेस्टोरेंट मालिक को सुनाई 1500 साल की सजा

पूरा नहीं कर पाए खाने का Order, कोर्ट ने रेस्टोरेंट मालिक को सुनाई 1500 साल की सजा

- Advertisement -

हर देश में जुर्म करने या कानून तोड़ने की अलग-अलग सजा दी जाती है लेकिन थाईलैंड (Thailand) में कुछ अजब ही मामला सामने आया है। यहां एक रेस्टोरेंट के दो मालिकों को करीब 1500 साल की जेल की सजा (Jail) सुनाई गई है। वजह ये थी कि इन लोगों ने जितने लोगों को खाना खिलाने का ऑर्डर लिया था, वो पूरा नहीं कर पाए। लोगों से पैसे एडवांस में लिए और उन्हें सर्विस नहीं दे पाए। थाईलैंड में कानून है कि किसी को भी 20 साल से ज्यादा जेल की सजा नहीं दी जाती, लेकिन इस मामले में कोर्ट ने बेहद सख्त फैसला सुनाते हुए रेस्टोरेंट के मालिकों (Restaurant owners) को 1500 साल की सजा सुना दी।

 


अपिचार्त बोवोर्नबनचरक और प्रैपासॉर्न बोवोर्नबनचरक लेएमगेट रेस्टोरेंट के मालिक थे। इन लोगों ने पिछले साल एक ऑफर निकाला कि 10 डॉलर यानी 759 रुपए में 10 लोग सीफूड बफे खा सकते हैं। रेस्टोरेंट ने कहा था कि ऑर्डर ऑनलाइन देना था और पैसे रेस्टोरेंट के बैंक अकाउंट में जमा कराने थे। करीब 20 हजार लोगों ने खाने की बुकिंग कर दी और एडवांस पैसे भी जमा करा दिए। दिक्कत ये हुई कि रेस्टोरेंट इतने लोगों के ऑर्डर को पूरा नहीं कर पाया। फिर 350 कस्टमर्स ने पुलिस में शिकायत कर दी। इन लोगों ने 2 मिलियन बहत यानी 49.04 लाख रुपये का हर्जाना मांगा है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

दोनों के ऊपर 723 लगाए गए आरोप

अपिचार्त और प्रैपासॉर्न को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद दोनों के क्रिमिनल कोर्ट में पेश किया गया। दोनों के ऊपर 723 आरोप लगाए गए। दोनों को एकसाथ 1446 साल जेल की सजा सुनाई गई, लेकिन दोनों ने अपनी गलती मान ली तो कोर्ट ने दोनों की सजा आधी कर दी। अब दोनों को 723-723 साल की सजा भुगतनी होगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है