Covid-19 Update

1,58,472
मामले (हिमाचल)
1,20,661
मरीज ठीक हुए
2282
मौत
24,684,077
मामले (भारत)
163,215,601
मामले (दुनिया)
×

नाबालिग को भगाने और दुष्कर्म के दोषी को 20 साल की कैद, जुर्माना भी लगाया

नाबालिग को भगाने और दुष्कर्म के दोषी को 20 साल की कैद, जुर्माना भी लगाया

- Advertisement -

ऊना। अदालत ने नाबालिग को जबरन भगाने और उसके साथ दुष्कर्म करने के आरोप में दोषी को विभिन्न धाराओं में कठोर कारावास भुगतने और 32 हजार रुपए जुर्माना अदा करने की सजा सुनाई। यह फैसला स्पेशल जज डीआर ठाकुर की अदालत ने अंब उपमंडल की सपोरी पंचायत के गांव मुंगाल निवासी 22 वर्षीय सलीम मोहम्मद को दोषी करार देते हुए सुनाया। जुर्माना न देने पर तीन साल का अतिरिक्त साधारण करावास भुगतना होगा। जानकारी देते जिला न्यायवादी भीषम चंद ने बताया कि 7 फरवरी 2018 को 12 वर्षीय नाबालिग पीड़िता के पिता ने अंब पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसकी बेटी कहीं खो गई है, जिसका कहीं अता.पता नहीं लग रहा। इसी दौरान उसने बटी को तलाश करते-करते मोहम्मद सलीम को अपनी बाइक पर पीड़िता को कहीं ले जाते देखा। नाबालिग के पिता ने सलीम की बाइक रोकने की कोशिश की, लेकिन वह भागने में सफल रहा। इसकी सूचना उसने फौरन बाइक नंबर समेत पुलिस को दी। पुलिस ने आरोपी को झलेड़ा में लापता नाबालिगा संग धर दबोचा। बच्ची का मेडिकल करवाया गया, जिसमें उसके साथ दुष्कर्म की पुष्टि हुई। बच्ची के साथ दलोह खड्‌ड में दुष्कर्म किया गया था।



पुलिस ने आरोपी को अरेस्ट करते हुए मामला दर्ज कर लिया। मामले की जांच के बाद आरोपी को कोर्ट में चार्जशीट किया गया। कोर्ट में मामले की पैरवी करने वाले जिला न्यायवादी भीषम चंद ने बताया कि मामले की तहकीकात अंब के तत्कालीन एसएचओ इंस्पेक्टर दर्शन सिंह ने की थी। वहीं अभियोजन पक्ष की ओर से मामले में 21 गवाह पेश किए गए। स्पेशल जज डीआर ठाकुर की अदालत ने सलीम मोहम्मद को दोषी करार देते हुए आईपीसी की धारा 376 के तहत 20 साल कठोर करावास भुगतने व 15 हजार जुर्माना अदा करने की सजा सुनाई। जुर्माना न देने पर उसे 3 साल का साधारण कारावास भुगतना होगा, धारा 363 के तहत 5 साल कठोर कैद, 2 हजार रुपए जुर्माना, जुर्माना न देने पर 6 माह की साधारण कैद, धारा 366 के तहत 7 साल की कठोर कैद, 5 हजार रुपए जुर्माना, जुर्माना देने पर 1 साल की साधारण कैद, धारा 506 के तहत एक साल कठोर कैद, जबकि पोक्सो एक्ट की धारा 4 के तहत 10 साल कठोर कारावास और 10 हजार रुपए जुर्माना, जुर्माना न देने पर 2 साल की साधारण कैद भुगतनी होगी।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Channel 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है