मुंह पर रजाई ओढ़कर सोते हैं तो बदल दें आदत, ये हैं नुकसान

मुंह पर रजाई ओढ़कर सोते हैं तो बदल दें आदत, ये हैं नुकसान

- Advertisement -

हर आदमी का सोने का अपना अलग तरीका होता है। अलग-अलग पोजीशन और तरीका तो ठीक है लेकिन इनमें से सही तरीका कौन सा होता है ये पता होना भी बहुत जरूरी होता है। कभी-कभी आपके सोने की आदत आपके लिए खतरनाक और जानलेवा भी साबित हो सकती है। सर्दियों में काफी लोगों को कंबल और रजाई मुंह पर ओढ़कर सोने की आदत होती है। ठंड से बचने के लिए तो ये आदत हमें ठीक लगती है, लेकिन असल में ये हमारी सेहत के लिए बिलकुल ठीक नहीं है। हम आपको इस आदत से होने वाले नुकसान के बारे में बताने जा रहे हैं …

सोते हुए सिर को ढंककर सोना कई लोगों को आरामदायक लगता है, लेकिन सोते समय थोड़ी सी रजाई खुली रहने दें, जिससे ऑक्सीजन का प्रवाह बना रहे। जिन लोगों को अस्थमा, हृदय रोग और फेफड़ों की समस्या है वे लोग मुंह ढककर बिलकुल न सोएं। इससे दम घुटने की समस्या हो सकती है।

स्लीप ऐप्रिया एक ऐसी स्थिति है जब सोते हुए सांस लेने में थोड़ी दिक्कत आने लगती है जिसकी वजह मोटापा और ओबेसिटी की समस्या हो सकती है इसलिए मुंह ढक कर सोने से बचना चाहिए।

मुंह ढककर सोने की वजह से ओवर हीटिंग के कारण आपको अनिद्रा की समस्या हो सकती है। ओवरहीटिंग की वजह से सूजन, चक्कर आना, मांसपेशियों में ऐंठन जैसे अन्य प्रतिकूल प्रभाव भी हो सकते हैं और आप गर्मी की वजह से थकावट भी महसूस कर सकते हैं।

एक रिसर्च के अनुसार सिर ढककर सोने से ब्रेन डैमेज की समस्या भी हो सकती है। सोते समय सिर ढकने से ऑक्‍सीजन की पूर्ति बाधक होती है जिससे अल्जाइमर और डिमेंशिया का खतरे बढ़ने की संभावना रहती है इसल‍िए सोते समय सिर न ढके।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है