Covid-19 Update

40,518
मामले (हिमाचल)
31,548
मरीज ठीक हुए
636
मौत
9,463,254
मामले (भारत)
63,589,301
मामले (दुनिया)

अब देश में बनेगा NASA का VITAL वेंटिलेटर; 3 भारतीय कंपनियों को मिला विनिर्माण का लाइसेंस

अब देश में बनेगा NASA का VITAL वेंटिलेटर; 3 भारतीय कंपनियों को मिला विनिर्माण का लाइसेंस

- Advertisement -

नई दिल्ली। तीन भारतीय कंपनियों– अल्फा डिज़ाइन टेक्नोलॉजीज़, भारत फोर्ज और मेधा सर्वो ड्राइव्स को कोरोना वायरस के गंभीर रोगियों के लिए नासा (राष्ट्रीय वैमानिकी एवं अंतरिक्ष प्रशासन) द्वारा 37 दिन में विकसित वेंटिलेटर बनाने का लाइसेंस मिला है। वाइटल (VITAL) नामक प्रोटोटाइप को नासा (NASA) की जेट प्रोपल्शन लैब में बनाया गया है और इसे यूएसएफडीए ने 30 अप्रैल को ‘आपातकालीन उपयोग की अनुमति’ दी थी। नासा की ओर से शुक्रवार को जारी बयान में यह जानकारी दी गई है।

यह भी पढ़ें: संजय कुंडू Himachal Police के नए Boss, मरड़ी की विदाई के साथ ग्रहण किया पदभार

आठ अमेरिकी और ब्राजील की तीन कंपनियों को भी लाइसेंस मिला

तीन भारतीय कंपनियों के अलावा 18 अन्य कंपनियों को भी यह लाइसेंस मिला है। इनमें आठ अमेरिका और तीन ब्राजील की कंपनियां शामिल हैं। उच्च दबाव पर काम करने में सक्षम इस वेंटिलेटर में मूल वेंटिलेटर के सातवें हिस्से के बराबर ही कल-पुर्जे इस्तेमाल किए गए हैं। इसकी वजह से इसकी लागत काफी कम हो गई है और यह इस्तेमाल में भी काफी आसान हो गया है। इस सस्ते वेंटिलेटर के निर्माण में जो सामान इस्तेमाल होगा, वह बाजार में आसानी से उपलब्ध है। नासा अमेरिका की अंतरिक्ष अनुसंधान, वैमानिकी और संबंधित कार्यक्रमों की स्वतंत्र एजेंसी है।

यह भी पढ़ें: ब्रेकिंगः 12वीं Geography और 10वीं वाद्य संगीत व गृह विज्ञान परीक्षा की तिथि घोषित

इसे फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन से इमर्जेंसी यूज ऑथराइजेशन मिला

नासा ने दक्षिण कैलिफोर्निया की जेट प्रॉपल्शन लैब (जेएलपी) में कोरोना वायरस के मरीजों के लिए विशेष रूप से वेंटिलेटर विकसित किया है। इसे फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन से इमर्जेंसी यूज ऑथराइजेशन मिल चुका है। नासा का कहा है कि वाइटल को चिकित्सकों तथा चिकित्सा उपकरण विनिर्माण से सलाह लेकर विकसित किया गया है। यह वेंटिलेटर कोरोना वायरस से गंभीर रूप से पीड़ित मरीजों को सस्ता इलाज दिलाने में काफी कारगर साबित होगा। गौरतलब है कि दुनियाभर में जारी कोरोना वायरस के कहर के बीच भारत में भी यह महामारी हावी होती नजर आ रही है। ऐसे में 3 भारतीय कंपनियों को विनिर्माण लाइसेंस मिलना भारत के लिए किसी उपलब्धि से काम नहीं है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है