Covid-19 Update

2,18,000
मामले (हिमाचल)
2,12,572
मरीज ठीक हुए
3,646
मौत
33,617,100
मामले (भारत)
231,605,504
मामले (दुनिया)

चामुंडा और ज्वालामुखी मंदिर में अब कोविड टेस्टिंग की भी सुविधा

पहले दिन ज्वालामुखी में अस्सी तथा चामुंडा में 50 सैंपल लिए

चामुंडा और ज्वालामुखी मंदिर में अब कोविड टेस्टिंग की भी सुविधा

- Advertisement -

धर्मशाला। हिमाचल (Himachal) के कांगड़ा जिला के प्रमुख शक्तिपीठ ज्वालामुखी (Jwalamukhi) तथा चामुंडा मंदिर (Chamunda Temple)  परिसर में ही श्रद्वालुओं तथा कर्मचारियों को कोविड टेस्ट (Covid Test) की सुविधा मिलेगी, इसके लिए आज चामुंडा तथा ज्वालामुखी में कोविड टेस्ट सेंटर खोल दिए गए हैं। यह जानकारी देते हुए डीसी डॉ. निपुण जिंदल ने कहा कि ज्वालामुखी में कोविड टेस्टिंग सेंटर में अस्सी लोगों को सैंपल लिए गए जबकि, चामुंडा में 50 लोगों के कोविड सैंपल एकत्रित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि कांगड़ा जिला में कोविड टेस्टिंग पर विशेष बल दिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: HP Corona: आज 67 मामले और 83 ठीक, डेथ जीरो-941 एक्टिव केस

डीसी डॉ. निपुण जिंदल ने कहा कि मंदिरों में हजारों की संख्या में श्रद्वालु माथा टेकने आते हैं, जिसके चलते ही इन स्थानों पर कोविड टेस्टिंग सेंटर स्थापित किए गए हैं, ताकि कोविड संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। उन्होंने कहा कि मंदिर के नजदीक आइसोलेशन रूम (Isolation Room) स्थापित किया गया है। कोरोना संक्रमण के लक्षण वाले व्यक्ति को स्वास्थ्य कर्मी द्वारा कोरोना का सैंपल लिए जाने के उपरांत संक्रमित पाए गए व्यक्ति को आइसोलेट किया जाएगा।

डीसी डॉ. निपुण जिंदल ने कहा कि मंदिरों में कोविड प्रोटोकॉल की अनुपालना सुनिश्चित करने के लिए भी आवश्यक निर्देश दिए गए हैं, मंदिरों के प्रवेश द्वार पर सैनिटाइजर (Sanitizer) इत्यादि की व्यवस्था करने तथा सामाजिक दूरी की भी अनुपालना सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है, ताकि कोविड संक्रमण से बचाव किया जा सके। उन्होंने कहा कि मंदिर में 65 वर्ष से अधिक आयु के लोगों व 10 वर्ष से कम आयु के बच्चों, गंभीर बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति तथा गर्भवती महिलाओं को जाने की अनुमति नहीं होगी। उन्होंने कहा कि मंदिर परिसर में हवन, भजन, विवाह और मुंडन संस्कार तथा जागरण की अनुमति नहीं होगी।

यह भी पढ़ें: Himachal: कोरोना से जान गंवाने वाली महिला कर्मियों के परिजनों को मिलेंगे 50 लाख

उन्होंने कहा कि अभी भी कोविड से बचाव की जरूरत है। कोविड की संभावित तीसरी लहर से बचने के लिए प्रशासनिक स्तर पर तैयारियां की जा रही हैं जबकि लोगों को भी कोविड प्रोटाकॉल का पूरा ध्यान रखना चाहिए उन्होंने कहा कि अब ग्रामीण स्तर पर भी कोविड को लेकर रैंडम सैंपलिंग (Random Sampling) करने के निर्देश दिए गए हैं इसके साथ ही कोविड संक्रमितों की संपर्क सूची के आधार पर भी सुचारू टेस्टिंग के लिए स्वास्थ्य विभाग को कहा गया है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel…

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है