- Advertisement -

आधी रात को भू-स्खलन की जद में आया घर व गौशाला, दो गाय दबीं

गंगोटी गांव में धंसी एक किलोमीटर जमीन, प्रशासन मौके पर

0

- Advertisement -

लडभड़ोल। आधी रात को ऊपरी धार पंचायत की निहार गंगोटी गांव में हुए भू-स्खलन में एक घर व गौशाला मलबे की चपेट में आ गई। यह घर गौशाला की ऊपरी मंजिल पर था। हादसे में तीन लोगों और एक गाय को सुरक्षित निकाल लिया है। साथ ही दो गाय मलबे में दब गईं हैं। ऊपरी धार के पूर्व प्रधान खेम सिंह व पंचायत समिति सदस्य रविंद्र ठाकुर ने बताया कि कलां देवी पत्नी स्व. रोशन लाल अपनी बहू व पोते के साथ घर में थी। रात करीब दो बजे कलां देवी को जमीन धंसने का आभास हुआ तो वह अपने परिवार को लेकर घर से बाहर निकल गई। आस-पड़ोस के लोगों को आवाज लगाने पर लोग वहां इकट्ठे हो गए। लेकिन, कुदरत के कहर के आगे सब कुछ असहाय हो गया। देखते ही देखते गौशाला व मकान धंसने लगे।लोगों की कड़ी मेहनत व सूझबूझ से एक गाय को घायल अवस्था में बाहर निकाल लिया गया, जबकि दो गाय मलबे में दब गईं। मौके पर पहुंचे नायब तहसीलदार प्रवीण कुमार ने बताया कि निहारी गंगोटी गांव में करीब डेढ़ किमी जमीन भू-स्खलन की जद में आ गई है। इस हादसे में कलां देवी का काफी नुकसान हुआ है। लोक निर्माण विभाग के कनिष्ठ अभियंता त्रिलोक चंद जेसीबी मशीन सहित मौके पर पहुंच गए हैं तथा राहत कार्य जारी है। गांव के लोगों के साथ-साथ पुलिस भी राहत कार्य में सहयोग कर रही हैं। प्रवीण कुमार ने बताया कि प्रशासन की ओर से पीड़ित परिवार को दस हजार रुपये की फौरी राहत प्रदान की गई हैं। नुकसान का आकलन तैयार किया जा रहा है।उधर जोगिंद्रनगर के एसडीएम अमित मैहरा ने भी मौके का दौरा किया तथा नुकसान का आकलन तैयार करने के आदेश दिए। उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवार की नियमानुसार हरसंभव सहायता की जाएगी। लडभड़ोल क्षेत्र के जिला परिष्द सदस्य संजीव शर्मा ने भी मौके का दौरा कर पीड़ित परिवार को अपनी ओर से दो हजार रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की। उधर, जोगिंद्रनगर विधान सभा क्षेत्र के विधायक प्रकाश राणा ने कहा कि वह शिमला गए हैं तथा शीघ्र वापस आने पर मौके का दौरा करेंगे। पीड़ित परिवार की सहायता की जाएगी। उन्होंने प्रशासन को शीघ्र नुकसान का आकलन तैयार करने के आदेश दिए हैं, ताकि पीड़ित परिवार को शीघ्र सहायता प्रदान की जाए।

- Advertisement -

Leave A Reply