Expand

अपने घरौंदों से कल OUT हो जाएंगे 14 परिवार

अपने घरौंदों से कल OUT हो जाएंगे 14 परिवार

- Advertisement -

शिमला। कुल्लू के सैंज में गरीब परिवारों की बेदखली के फरमानों को लेकर माकपा उग्र हो गई है। आज माकपा ने कांग्रेस सरकार पर जमकर प्रकार किया। माकपा ने कांग्रेस सरकार को अब तक की सबसे निकम्मी और आम जनता, मजदूर और किसान विरोधी करार दिया है। माकपा ने सरकार के इस फैसले का विरोध करते हुए चेतावनी दी है कि किसी भी कीमत पर गरीब लोगों को उजड़ने नहीं दिया जाएगा।

  • cpi1गरीबों की बेदखली पर माकपा उग्र, कहा किसी भी कीमत पर उजड़ने नहीं दिया जाएगा
  • सिंघा बोले, सरकार समाज के कमजोर तबके को बना रहीं निशाना
  • जिन गरीब किसानों को उजाड़ा जा रहा है, वे सब एक बीघा से कम भूमि पर काबिज

पूर्व विधायक और माकपा राकेश सिंघा ने प्रेस कांफ्रेस में आरोप लगाया कि सरकार समाज के कमजोर तबके को जमीन से बेदखल कर रही है। उन्होंने कहा कि कुल्लू जिले को बंजार के सैंज में 14 गरीब किसानों को मकान से बेदखली के आदेश दिए गए हैं और उन्हें कल यानि 15 नवंबर तक जमीन पर बने मकानों को खाली करना होगा। उन्होंने कहा कि माकपा सरकार के इस कदम का कड़ा विरोध करती है और किसी भी कीमत पर इन गरीब लोगों को उजड़ने नहीं देगी।

cpi2माकपा नेता ने कहा कि डीएफओ वाइल्डलाइफ ने इन गरीब लोगों को जमीन से हटने के आदेश दिए हैं, जबकि वह ऐसा नहीं कर सकते। उनका कहना था कि जिन लोगों को बेदखली के आदेश दिए हैं, उनमें से 12 परिवार दलित वर्ग के हैं। उन्होंने कहा कि जिन किसानों को बेदखली के आदेश दिए हैं वे कल से बेघर को जाएंगे और सरकार ने यह नहीं सोचा कि इन गरीब परिवारों का क्या होगा। सिंघा ने कहा कि माकपा ऐसा किसी भी कीमत नहीं होने देगी और इसे रोकने के लिए सरकार के पास जाएगी। उन्होंने कहा कि जिन गरीब किसानों को उजाड़ा जा रहा है, वे सब एक बीघा से कम भूमि पर काबिज हैं। ऐसे में सरकार को चाहिए कि वे गरीबों को न उजाड़ें।

cpi11विस में पारित कानून को लागू नहीं कर रही सरकार

माकपा नेता ने कहा कि सरकार विधानसभा में पारित कानून को लागू नहीं कर रही। उन्होंने कहा कि राजस्व कानून 1953 की धारा 163 में संशोधन कर एक नई धारा जोड़ी। इसके तहत जिन किसानों ने सरकारी भूमि पर लंबे समय से कब्जा किया है, उसे नियमीत किया जाएगा। इसके लिए सरकार ने 2002 में शपथपत्र के माध्यम से आवेदन करने को कहा था। उन्होंने कहा कि सरकार ने 20 बीघा तक भूमि को नियमीत करने की बात कही थी। लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ और अब किसानों पर बेदखली की तलवार लटकी है।

उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार छोटे किसानों को तंग कर रही है और जिन लोगों ने जंगलों के बीच अतिक्रमण किए हैं, उनका खिलाफ कोई कदम नहीं उठाए जा रहे। उन्होंने कहा कि माकपा सरकार के खिलाफ अब सड़कों पर उतरेगी और किसानों को लामबंद कर उनके हकों की लड़ाई लड़ेगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है