Covid-19 Update

59,059
मामले (हिमाचल)
57,473
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,204,179
मामले (भारत)
116,873,133
मामले (दुनिया)

माकपा का हमलाः Modi सरकार ने देश के लिए डूबने की स्थिति कर दी पैदा

माकपा का हमलाः Modi सरकार ने देश के लिए डूबने की स्थिति कर दी पैदा

- Advertisement -

CPIM : शिमला। माकपा के मजदूर संगठन सीटू के राष्ट्रीय महासचिव तपन सेन ने कहा है कि केंद्र की मोदी सरकार ने तीन वर्ष में देश के लिए डूबने की स्थिति पैदा कर दी है। उन्होंने कहा कि आज लोग मन की बात तो सुन रहे हैं, लेकिन नई बातों पर कुछ नहीं हो रहा है। देश की सरकार आज किसान, मजदूर, विपक्ष और समाज पर आक्रमक हो गई है। वे आज यहां मीडिया से अनौपचारिक मुलाकात में बोल रहे थे।  तपन सेन यहां सीटू की राष्ट्रीय वर्किंग कमेटी की बैठक में हिस्सा लेने आए हैं। सीटू की इस अहम बैठक में देश की ज्वलंत समस्याओं पर चर्चा हो रही है। इस बैठक में देश के सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक हालात पर चर्चा की जा रही है और किसानों और मजदूरों की समस्याओं पर मंथन कर रही है। बैठक में इन मुद्दों पर चर्चा कर आगे इससे कैसे निपटना है और कैसे केंद्र सरकार के आक्रामक रुख का मुकाबला करना है।

CPIM  : मजदूर संगठनों को एक मंच पर लाना जरूरी
तपन सेन ने कहा कि सीटू की इस बैठक में देश के आर्थिक हालात और मजदूरों और किसानों की स्थिति पर भी चर्चा की जा रही है। उन्होंने कहा कि आज देश की सरकार ने हर स्तर पर हमले किए हैं और हर वर्ग अपने-अपने स्तर पर आंदोलन कर रहे हैं, लेकिन इन आंदोलनों को अब बड़ा स्वरूप देने की जरूत है। उनका कहना था कि देश की मोदी सरकार जो काम कर रही है उसकी असलियत जनता के सामने लाना जरूरी है।  तपन सेन ने कहा कि अब समय आ गया है कि जब छोटे-छोटे संगठनों से लेकर मजदूर संगठनों को एक मंच पर लाना जरूरी हो गया है। इसके लिए तय किया गया है कि 8 अगस्त को दिल्ली के ताल कटोरा स्टेडियम में सभी संगठनों का सम्मेलन होगा और इसमें किसानों और मजदूरों की समस्याओं को लेकर बड़े आंदोलन की रणनीति बनेगी और उसकी वहां से घोषणा होगी।

 

CPIM : सरकार डिफेंस फैक्टरी को भी बंद करने जा रही

तपन सेन ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि यह सरकार डिफेंस फैक्टरी को भी बंद करने जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार निजी क्षेत्र को बढ़ावा दे रही है और यह क्षेत्र रक्षा जरूरतों को पूरा नहीं कर पाएगा और फिर रक्षा सामग्री विदेशों से आयात की जाएगी। उन्होंने कहा कि यह सब एक साजिश के तहत हो रहा है और सरकार खुली हुई दुकानों को बंद करने पर तुली है। उन्होंने कहा कि विपक्ष में होने के नाते वे लोगों को इसके प्रति लोगों को जागरूक करने में विफल रहे हैं और अब फिर नए सिरे से कोशिश होगी और लोगों को बताया जाएगा कि केंद्र सरकार आम जनता के हित में कोई कार्य नहीं कर रही।

तपन सेन ने कहा कि जीएसटी से आम आदमी पर बोझ पड़ा है। जीएसटी के विरोध में गुजरात में हजारों व्यापारी सड़क पर आए हैं। जीएसटी में ज्यादा रेवेन्यू की बात की जा रही है, लेकिन इसका असर आम जनता पर ही भार पड़ेगा। उन्होंने कहा कि अप्रत्यक्ष कर की जगह प्रत्यक्ष कर को बढ़ाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कारपोरेट घराने पूरा टैक्स नहीं देते और इनका ही लाखों करोड़ रुपए बकाया है और सरकार जनता पर ज्यादा कर थोप रही है।

यह भी पढे़ं : बाली समर्थक बोले : शहीद के परिवार के नाम पर न हो राजनीति

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है