Covid-19 Update

36,659
मामले (हिमाचल)
28,754
मरीज ठीक हुए
579
मौत
9,266,697
मामले (भारत)
60,719,949
मामले (दुनिया)

DDU Hospital: कोरोना संक्रमित महिला आत्महत्या मामले में डीसी ने ADM को सौंपा जांच का जिम्मा

10 दिन में जांच पूरी कर रिपोर्ट सौंपने के दिए निर्देश, अस्पताल में मिलने वाली सुविधाओं की भी होगी जांच

DDU Hospital: कोरोना संक्रमित महिला आत्महत्या मामले में डीसी ने ADM को सौंपा जांच का जिम्मा

- Advertisement -

शिमला। राजधानी शिमला के डेडिकेटेड कोविड अस्पताल दीन दयाल उपाध्याय (DDU Hospital) में कोरोना पॉजिटिव महिला (Corona Positive woman) द्वारा आत्महत्या करने के मामले की जांच शुरू हो गई है। डीसी शिमला ने मामले पर संज्ञान लेते हुए एडीएम लॉ एंड ऑर्डर को जांच का जिम्मा सौंपा है। आगामी दस दिनों में मामले की जांच कर रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए हैं। वहीं डीडीयू अस्पताल के भीतर मरीजों को मिलने वाली सुविधाओं की भी जांच करने के साथ ही महिला के ट्रीटमेंट के सभी दस्तावेजों को भी सील करने के निर्देश दिए हैं। डीसी अमित कश्यप (DC Amit Kashyap) ने कहा कि कोरोना पॉजिटिव महिला ने अस्पताल के भीतर ऐसा कदम क्यों उठाया इसकी जांच की जा रही है। मृतक महिला का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: Breaking : हिमाचल में #Corona_Positive महिला ने किया सुसाइड, DDU Hospital की गैलरी में लगाया फंदा

बता दें कि हिमाचल में किसी कोरोना पॉजिटिव महिला द्वारा आत्महत्या (Suicide) करने का यह पहला मामला सामने आया है। चौपाल (Chopal) की 54 साल की महिला 18 सितंबर से डीडीयू अस्पताल में भर्ती थी। चौपाल से इसे कोरोना की पुष्टि होने के बाद यहां इलाज के लिए लाया गया था। यह महिला चिकित्सकों की निगरानी में थी। महिला ने अस्पताल में ही मंगलवार रात्रि फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली थी। महिला की आत्महत्या से अस्पताल प्रशासन पर भी सवाल उठने शुरू हो गए हैं। इससे पहले भी कई बार कोरोना पीड़ित मरीजों ने आईजीएमसी और डीडीयू पर सवाल उठाए थे।

मृतक महिला के परिजनों ने दोषियों के खिलाफ मांगी कड़ी कार्रवाई

महिला की मौत को लेकर परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन (Hospital management) पर कई सवाल उठाए हैं। महिला के देवर और बेटे ने आरोप लगाया है कि चौपाल से डीडीयू अस्पताल में शिफ्ट करने के बाद उनकी भाभी व मां परेशान थीए लेकिन उन्होंने यह कदम क्यों उठाया यह समझ से परे है। उन्होंने अस्पताल प्रबंधन पर आरोप लगाया है कि अस्पताल में पर्याप्त सुविधा ना मिलने के चलते यह कदम उठाया है। उनका कहना है कि रात साढ़े दस बजे उनकी भाभी ने उन्हें फोन किया और कहा कि आज के बाद मुझे कॉल नहीं करना और ना ही वे उनकी कॉल उठाएगी। जब उन्होंने उससे कारण जानना चाहा तो भाभी ने कुछ भी कहने से मना कर दिया और फोन काट दिया। परिजनों ने प्रशासन से मामले की उचित जांच कर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है