Covid-19 Update

1,42,510
मामले (हिमाचल)
1,04,355
मरीज ठीक हुए
2039
मौत
23,340,938
मामले (भारत)
160,334,125
मामले (दुनिया)
×

श्री नैना देवी मंदिर में आस्था का सैलाब, गुप्त नवरात्र क्यों हैं ‘गुप्त’- जानिए

शनिवार और रविवार के दिन श्रद्धालुओं की संख्या अधिक होने के चलते विशेष प्रबंध

श्री नैना देवी मंदिर में आस्था का सैलाब, गुप्त नवरात्र क्यों हैं ‘गुप्त’- जानिए

- Advertisement -

बिलासपुर। हिमाचल (Himachal) के विश्व विख्यात शक्तिपीठ श्री नैना देवी मंदिर (Sri Naina Devi Temple) में आज दूसरे गुप्त नवरात्र के दौरान आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा। गुप्त नवरात्र (Gupt Navratri) के दौरान श्रद्धालुओं के पहुंचने का क्रम जारी है। श्रद्धालुओं ने जहां पर मंदिर में पूजा-अर्चना की, वहीं माताजी का शुभ आशीर्वाद प्राप्त किया। गुप्त नवरात्र के उपलक्ष्य पर स्थानीय पुजारी वर्ग द्वारा मंदिर न्यास के सहयोग से विश्व कल्याण हेतु पाठ का आयोजन किया जा रहा है। शनिवार और रविवार के दिन श्रद्धालुओं की संख्या ज्यादा होने के चलते मंदिर न्यास ने व्यापक व्यवस्था की है। मंदिर के अंदर एक्स सर्विसमेन (Ex Servicemen) तैनात हैं। मंदिर के बाहर होमगार्ड (Home Guard) के जवानों ने मोर्चा संभाल रखा है।


यह भी पढ़ें: गुप्त नवरात्र आज से शुरू, घट स्थापना का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि यहां पढे़ं

 


 

अब हम आपको बताते हैं कि गुप्त नवरात्र का क्या महत्व है, इन्हें गुप्त क्यों कहा जाता है और वर्ष भर में कितनी बार गुप्त नवरात्र आते हैं। मंदिर के पुजारी नीलम शर्मा का कहना है कि वर्ष भर में चार नवरात्र में मनाए जाते हैं, जिनमें चैत्र मास और अश्विन मास के नवरात्र और दो गुप्त नवरात्र जिनमें माघ मास और आषाढ़ मास शामिल हैं। गुप्त नवरात्र को गुप्त इसलिए कहा जाता है कि ऋषि-मुनियों ने अपनी तंत्र सिद्धि के लिए इन्हें गुप्त रखा हुआ था, इसलिए इन्हें गुप्त नवरात्र कहा जाता है।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है