Covid-19 Update

58,607
मामले (हिमाचल)
57,331
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,096,731
मामले (भारत)
114,379,825
मामले (दुनिया)

कांगड़ाः सीआरपीएफ जवान के छोटे भाई ने निभाया फर्ज, चिता को दी मुखाग्नि

कांगड़ाः सीआरपीएफ जवान के छोटे भाई ने निभाया फर्ज, चिता को दी मुखाग्नि

- Advertisement -

कांगड़ा। ब्रेन हेमरेज के चलते मौत का शिकार बने सीआरपीएफ जवान मुनीश कुमार का अंतिम संस्कार समेला के कशवाड़ा श्मशानघाट में पूरे सम्मान के साथ हुआ। प्रदेश पुलिस (Police) की टुकड़ी ने जवान मुनीश कुमार को सलामी दी। प्रशासन की ओर से एसडीएम (SDM) जतिन लाल व डीएसपी (DSP) विनोद धीमान सहित अन्य पुलिस अधिकारी मौजूद थे। इस अवसर पर काफी संख्या में लोग मौजूद थे। मुनीश कुमार के छोटे भाई प्रदीप कुमार ने मुखाग्नि दी। इससे पहले जवान की पार्थिव देह गांव पहुंचने पर हर आंख नम गई।

यह भी पढ़ें: मुख्यमंत्री निरोग योजना के तहत 9 माह में 10 लाख से ज्यादा का हुआ पंजीकरण

बता दें कि ब्रेन हेमरेज से मौत के मुंह में गए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के जवान मुनीश कुमार की एकाएक तबीयत बिगड़ी और रियासी अस्पताल पहुंचने से पहले ही मुनीश कुमार की मौत हो गई। मुनीश कुमार को समय रहते सही प्राथमिक उपचार मिल गया होता तो मुनीश कुमार आज हमारे बीच ही होता। मुनीश कुमार जम्मू-कश्मीर (J&K) के जिला रियासी के शिव खोड़ी मंदिर की पोस्ट पर तैनात था और मंगलवार को अपनी पोस्ट पर ड्यूटी कर था। ड्यूटी के दौरान ही सुबह से ही मुनीश कुमार सिर दर्द व तबीयत खराब होने की बात अपने साथी से करता रहा, जिसको लेकर उसके साथियों ने जांच करवाने के लिए भी कहा तो मुनीश कुमार ने ड्यूटी खत्म होते ही जांच कराने की बात कही।

इसी बीच जब मुनीश कुमार की ज्यादा तबीयत बिगड़ी तो मुनीश कुमार पोस्ट के साथ ही बनी फार्मेसी भी ले गए और वहां पर दवाई लेने के बाद भी मुनीश कुमार की सेहत ठीक नहीं हुई और इस दौर मुनीश कुमार को उल्टियां भी शुरू हो गईं। हालत गंभीर होता देख मुनीश कुमार के साथी पोस्ट से घोड़े पर बिठा कर उसे सड़क तक लेकर आए और वहां से 60 किलोमीटर दूर रियासी जिला अस्पताल पहुंचाया परंतु तब तक बहुत देर हो चुकी थी। मुनीश कुमार को समय रहते अस्पताल पहुंचा दिया गया होता तो मुनीश कुमार की जान बच सकती थी। हालांकि पहाड़ी रास्ता व समय लगने के कारण मुनीश कुमार को अस्पताल की सुविधा नहीं मिल पाई।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है