Covid-19 Update

19,174
मामले (हिमाचल)
16,382
मरीज ठीक हुए
267
मौत
7,602,414
मामले (भारत)
40,747,420
मामले (दुनिया)

रोजाना हनुमान चालीसा पढ़ेंगे तो हर रोग भागेगा दूर

रोजाना हनुमान चालीसा पढ़ेंगे तो हर रोग भागेगा दूर

- Advertisement -

भगवान हनुमानजी की भक्ति सबसे सरल और जल्द ही फल प्रदान करने वाली मानी गई है। हनुमान की सबसे बड़ी भक्ति हनुमान चालीसा का पाठ है। यह भक्ति हमें न केवल भूत-प्रेत जैसी अदृश्य आपदाओं से बचाती है, बल्कि यह ग्रह-नक्षत्रों के बुरे प्रभाव से भी बचाती है। व्यक्ति रोज़ाना नियमित रूप से हनुमान चालीसा पढ़ता है वह कभी संकट में नहीं पड़ता।

कहते हैं भगवान श्रीराम के अनन्य भक्त हनुमानजी अपने भक्तों और धर्म के मार्ग पर चलने वालों की हर क़दम पर सहायता करते हैं। हनुमान चालीसा बहुत प्रभावकारी है। इसकी सभी चौपाइयां मंत्र ही हैं जिनके निरंतर जप से ये सिद्ध हो जाती है और पवनपुत्र हनुमानजी की कृपा प्राप्त हो जाती है। हनुमान जी जिंदगी से संकट दूर करते हैं ये तो सब जानते हैं, लेकिन वह रोग भी दूर करते हैं ये शायद आप नहीं जानते होंगे। हनुमान चालीसा की चौपाई – ‘नासै रोग हरै सब पीरा, जो सुमिरै हनमत बलबीरा’ तंदुरुस्ती को समर्पित है। कहा जाता है कि जो लोग रोज़ाना कम से कम एक बार हनुमान चालीसा का जाप करते हैं वे तंदुरुस्त जीवन व्यतीत करते हैं।

हनुमानजी को संकटमोचक कहा जाता है। भगवान राम जब-जब संकट में पड़े, तब-तब हनुमानजी संकटमोचक बनकर सामने आए इसलिए हिंदू धर्म में हनुमान चालीसा का बहुत अधिक महत्व है। जब भी हम अंधेरे या सुनसान इला़के से गुज़रते हैं, हनुमानजी को याद करना नहीं भूलते। ज़्यादातर लोग हनुमान चालीसा पढ़ना शुरू कर देते हैं। मज़ेदार बात यह है कि जैसे ही हनुमान चालीसा पढ़ना शुरू करते हैं हमारा डर दूर हो जाता है। हमें नई ऊर्जा मिलती है। हनुमानजी सर्वशक्तिमान और एकमात्र ऐसे देवता हैं, जिनका नाम जपने से ही संकट शरीर और मन से दूर हटने शुरू हो जाते हैं।

अगर आप मानसिक अशांति से गुज़र रहे रहे हैं। कार्य की अधिकता के चलते आपका मन अस्थिर है, आपके घर-परिवार या रिश्तेदारी की कोई समस्या है तो आपकी समस्या का हल हनुमान चालीसा है। इसके पाठ से चमत्कारिक लाभ प्राप्त होता है। हिंदुओं की यह मान्यता है कि हनुमान चालीसा का पाठ करने पर डर, भय, संकट या विपत्ति नहीं आती और अगर आती है तो फ़ौरन दूर हो जाती है। कहते हैं, अगर किसी व्यक्ति पर शनि के संकट की छाया है तो हनुमान चालीसा का पाठ करने से शनि का संकट दूर हो जाता है और जीवन में शांति का वास होता है।

हनुमान चालीसा की रचना गोस्वामी तुलसीदास ने की है। इसमें तीन दोहे और 40 चौपाइयां हैं। हनुमान चालीसा में हनुमानजी के जीवन का सार छिपा है जिसे पढ़ने से जीवन में प्रेरणा और शक्ति मिलती है। हनुमान चालीसा को सिर्फ़ तुलसीदास का विचार नहीं कहा जा सकता, बल्कि यह उनकी श्रद्धा और अटूट विश्वाचस है। जब औरंगज़ेब ने तुलसीदास को बंदी बना लिया था तब अपने इसी विश्वाास के चलते तुलसीदासजी ने बंदीगृह में ही हनुमान चालीसा की रचना की थी।

कहते हैं, जब हर जगह भटकने के बाद भी शांति और सुख न मिले और संकटों का समाधान न हो, तब हनुमान चालीसा पढ़ना चाहिए। संकट से हनुमानजी की भक्ति ही बचा सकती है इसलिए जो पहले से ही हनुमान जी की शरण में हैं यानी हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं, उनका किसी भी प्रकार के संकट से साक्षात्कार नहीं होता। शास्त्रों अनुसार कलयुग में हनुमानजी की भक्ति को सबसे ज़रूरी और उत्तम बताया गया है।

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

#Himachal में सात जिलों के DC बदले : आदित्य नेगी को शिमला, देबश्वेता बनिक को सौंपा Hamirpur

आपके पास हैं 5-10 रुपए के खास सिक्के तो आप भी बन सकते हैं लखपति, पढ़िए पूरी खबर

इस शहर में रहते हैं सिर्फ 2 लोग फिर भी करते हैं #Corona से बचाव के नियमों का पूरा पालन

बिना कुछ खाए भी कई साल तक जिंदा रह सकता है यह अजीबोगरीब जीव

Gurugram में मीटिंग के बहाने युवती से किया गलत काम, जान से मारने की धमकी भी दी

School तो खुले पर छात्रों की हाजिरी ना के बराबर, अभिभावक नहीं दिखा रहे दिलचस्पी

पंगा लेने वाली #KanganaRanaut पहुंची पालमपुर, Shanta को दिया भाई की शादी का न्योता

Himachal की इस ITI में पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर हो रही एडमिशन

HPU प्रशासन की नीतियों के खिलाफ ABVP ने किया "शव प्रदर्शन"

हिमाचल में आज अब तक 135 ने जीती #Corona से जंग, चार की गई जान

मणिकर्ण के कसोल में Police ने नेपाली से पकड़ी Charas

#Conductor भर्ती प्रकरणः जांच रिपोर्ट आने के बाद जयराम सरकार परीक्षा बाबत लेगी निर्णय

नवाज शरीफ का दामाद Karachi में गिरफ्तार, मरियम बोलीं - कमरे का दरवाजा तोड़कर घुसी पुलिस

Assam-Mizoram Border पर दो गुटों में हिंसक झड़प, कई घायल, सीएम ने #PMO को दी जानकारी

अगर आप भी रखते हैं अपनी कार में #Sanitizer तो इस खबर को जरूर पढ़ें

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board

जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा 6 का #Entrance_Exam अब 7 नवंबर को

स्कूलों के बाद अब Colleges खोलने की तैयारी, नवंबर से आएंगे Practical विषयों के छात्र

TET Exam में इन अभ्यर्थियों को मिली छूट, बिना आवेदन दे सकेंगे परीक्षा, बस करना होगा ये काम

#Himachal में School खोलने की तैयारी में सरकार, क्या रहेगा प्लान पढ़े यहां

Big Breaking: हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने टैट परीक्षा का शेड्यूल किया जारी- जानिए

#HPBose: 9वीं, 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षाओं के छात्रों को बड़ी राहत- पढ़ें खबर

हिमाचल में 100% मास्टर जी लौट आए #School, बनने लगा स्टूडेंट्स के लिए माइक्रो प्लान

SMC शिक्षकों को बड़ी राहत, #Supreme_Court ने हिमाचल हाईकोर्ट के फैसले पर लगाई रोक

गोविंद ठाकुर बोले- #Himachal में स्कूल खोलने हैं या नहीं, 9 को होगा फैसला

शिक्षा विभाग ने तैयार किया #Himachal में स्कूल खोलने का प्रस्ताव; जानें क्या है योजना

D.El.Ed CET 2020: 12 से 23 अक्टूबर तक होगी स्क्रीनिंग, अभ्यर्थी करें ऐसा

Himachal में 530 हेड मास्टर और लेक्चरर बने प्रिंसिपल, पर वेतन बढ़ोतरी को करना होगा इंतजार

बिग ब्रेकिंगः हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने आठ विषयों की TET परीक्षा का Result किया आउट

#HPBose: बोर्ड ने छात्र हित में लिया फैसला, 30 तक बढ़ाई यह तिथि

पहली से आठवीं कक्षाओं के छात्रों की ऑनलाइन परीक्षाओं की Datesheet जारी



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है