Covid-19 Update

3744
मामले (हिमाचल)
2402
मरीज ठीक हुए
17
मौत
24,11,547
मामले (भारत)
20,850,291
मामले (दुनिया)

नवग्रहों की शांति के लिए अवश्य करें ये सरल उपाय

जीवन की सभी समस्याएं होंगी दूर

नवग्रहों की शांति के लिए अवश्य करें ये सरल उपाय

- Advertisement -

ज्योतिष के अनुसार हर कोई किसी न किसी ग्रह दोष से ग्रस्त रहता है। कई बार हमें पता ही नहीं होता कि किस वजह से हमारे जीवन में समस्याएं पैदा हो रही है। अगर बिना बात घर में कलह क्लेश हो, हर काम बनते-बनते बिगड़ जाते हैं, शत्रु अकारण परेशान कर रहे हों , सेहत नहीं दे रही साथ, मान सम्मान का हो रहा हो नाश, बच्चे की बुद्धि का विकास नहीं हो रहा है तो आप नवग्रह दोषों से ग्रस्त हैं। आज हम आप को नवग्रह दोष से निजात पाने के उपाय.


सूर्यः सूर्य को बली बनाने के लिए व्यक्ति को प्रातःकाल सूर्योदय के समय उठकर लाल पुष्प वाले पौधों एवं वृक्षों को जल से सींचना चाहिए। रात्रि में तांबे के पात्र में जल भरकर सिरहाने रख दें तथा दूसरे दिन प्रातःकाल उसे पीना चाहिए।तांबे का कड़ा दाहिने हाथ में धारण किया जा सकता है।लाल गाय को रविवार के दिन दोपहर के समय दोनों हाथों में गेहूं भरकर खिलाने चाहिए। गेहूं को जमीन पर नहीं डालना चाहिए।किसी भी महत्त्वपूर्ण कार्य पर जाते समय घर से मीठी वस्तु खाकर निकलना चाहिए।हाथ में मोली (कलावा) छह बार लपेटकर बांधना चाहिए।
लाल चन्दन को घिसकर स्नान के जल में डालना चाहिए।सूर्य के दुष्प्रभाव निवारण के लिए किए जा रहे टोटके रविवार का दिन, सूर्य के नक्षत्र (कृत्तिका, उत्तरा-फाल्गुनी तथा उत्तराषाढ़ा) तथा सूर्य की होरा में अधिक शुभ होते है।

चन्द्रमाः व्यक्ति को देर रात्रि तक नहीं जागना चाहिए।रात्रि के समय घूमने-फिरने तथा यात्रा से बचना चाहिए।
रात्रि में ऐसे स्थान पर सोना चाहिए जहां पर चन्द्रमा की रोशनी आती हो।ऐसे व्यक्ति के घर में दूषित जल का संग्रह नहीं होना चाहिए। वर्षा का पानी कांच की बोतल में भरकर घर में रखना चाहिए। वर्ष में एक बार किसी पवित्र नदी या सरोवर में स्नान अवश्य करना चाहिए। सोमवार के दिन मीठा दूध नहीं पीना चाहिए।सफेद सुगंधित पुष्प वाले पौधे घर में लगाकर उनकी देखभाल करनी चाहिए। चन्द्रमा के दुष्प्रभाव निवारण के लिए उपाय सोमवार को चन्द्रमा के नक्षत्र (रोहिणी, हस्त तथा श्रवण) तथा चन्द्रमा की होरा में अधिक शुभ होते है।

मंगलः लाल कपड़े में सौंफ बांधकर अपने शयनकक्ष में रखनी चाहिए।ऐसा व्यक्ति जब भी अपना घर बनवाये तो उसे घर में लाल पत्थर अवश्य लगवाना चाहिए।बन्धुजनों को मिष्ठान्न का सेवन कराने से भी मंगल शुभ बनता है। लाल वस्त्र लेकर उसमें दो मुठ्ठी मसूर की दाल बांधकर मंगलवार के दिन किसी भिखारी को दान करनी चाहिय।
मंगलवार के दिन हनुमानजी के चरण से सिन्दूर लिकर उसका टीका माथे पर लगाना चाहिए।बंदरों को गुड़ और चने खिलाने चाहिए।अपने घर में लाल पुष्प वाले पौधे या वृक्ष लगाकर उनकी देखभाल करनी चाहिए।मंगल के दुष्प्रभाव निवारण के लिए टोटके मंगलवार का दिन, मंगल के नक्षत्र (मृगशिरा, चित्रा, धनिष्ठा) तथा मंगल की होरा में अधिक शुभ होते है।

बुधः अपने घर में तुलसी का पौधा अवश्य लगाना चाहिए तथा निरन्तर उसकी देखभाल करनी चाहिए।बुधवार के दिन तुलसी पत्र का सेवन करना चाहिए।बुधवार के दिन हरे रंग की चूड़ियां हिजड़े को दान करनी चाहिए। हरी सब्जियां एवं हरा चारा गाय को खिलाना चाहिए। बुधवार के दिन गणेशजी के मंदिर में मूंग के लड्डुओं का भोग लगाएं तथा बच्चों को बाँटें।घर में खंडित एवं फटी हुई धार्मिक पुस्तकें एवं ग्रंथ नहीं रखने चाहिए। अपने घर में कंटीले पौधे, झाड़ियां एवं वृक्ष नहीं लगाने चाहिए।फलदार पौधे लगाने से बुध ग्रह की अनुकूलता बढ़ती है।
तोता पालने से भी बुध ग्रह की अनुकूलता बढ़ती है।बुध के दुष्प्रभाव निवारण के लिए किए जा रहे टोटक बुधवार का दिन, बुध के नक्षत्र (आश्लेषा, ज्येष्ठा, रेवती) तथा बुध की होरा में अधिक शुभ होते।

गुरुः ऐसे व्यक्ति को अपने माता-पिता, गुरुजन एवं अन्य पूजनीय व्यक्तियों के प्रति आदर भाव रखना चाहिए तथा महत्त्वपूर्ण समयों पर इनका चरण स्पर्श कर आशीर्वाद लेना चाहिए।सफेद चंदन की लकड़ी को पत्थर पर घिसकर उसमें केसर मिलाकर लेप को माथे पर लगाना चाहिए या टीका लगाना चाहिए।ऐसे व्यक्ति को मन्दिर में या किसी धर्म स्थल पर निःशुल्क सेवा करनी चाहिए।किसी भी मन्दिर या इबादत घर के सम्मुख से निकलने पर अपना सिर श्रद्धा से झुकाना चाहिए।ऐसे व्यक्ति को परस्त्री / पर पुरुष से संबंध नहीं रखने चाहिए।गुरुवार के दिन मन्दिर में केले के पेड़ के सम्मुख गौघृत का दीपक जलाना चाहिए।गुरुवार के दिन आटे के लोयी में चने की दाल, गुड़ एवं पीसी हल्दी डालकर गाय को खिलानी चाहिए।गुरु के दुष्प्रभाव निवारण के लिए किए जा रहे टोटके गुरुवार का दिन, गुरु के नक्षत्र (पुनर्वसु, विशाखा, पूर्व-भाद्रपद) तथा गुरु की होरा में अधिक शुभ होते है।

शुक्रः काली चींटियों को चीनी खिलानी चाहिए। शुक्रवार के दिन सफेद गाय को आटा खिलाना चाहिए। किसी काने व्यक्ति को सफेद वस्त्र एवं सफेद मिष्ठान्न का दान करना चाहिए। किसी महत्त्वपूर्ण कार्य के लिए जाते समय 10 वर्ष से कम आयु की कन्या का चरण स्पर्श करके आशीर्वाद लेना चाहिए।अपने घर में सफेद पत्थर लगवाना चाहिए।
किसी कन्या के विवाह में कन्यादान का अवसर मिले तो अवश्य स्वीकारना चाहिए।शुक्रवार के दिन गौ-दुग्ध से स्नान करना चाहिए। शुक्र के दुष्प्रभाव निवारण के लिए किए जा रहे टोटके शुक्रवार का दिन, शुक्र के नक्षत्र (भरणी, पूर्वा-फाल्गुनी, पुर्वाषाढ़ा) तथा शुक्र की होरा में अधिक शुभ होते है।


शनिः शनिवार के दिन पीपल वृक्ष की जड़ पर तिल्ली के तेल का दीपक जलाएं। शनिवार के दिन लोहे, चमड़े, लकड़ी की वस्तुएं एवं किसी भी प्रकार का तेल नहीं खरीदना चाहिए। शनिवार के दिन बाल एवं दाढ़ी-मूंछ नहीं कटवाने चाहिए भिखारी को कड़वे तेल का दान करना चाहिए। भिखारी को उड़द की दाल की कचोरी खिलानी चाहिए। किसी दुःखी व्यक्ति के आंसू अपने हाथों से पोंछने चाहिए। घर में काला पत्थर लगवाना चाहिए।
शनि के दुष्प्रभाव निवारण के लिए किए जा रहे टोटके शनिवार का दिन, शनि के नक्षत्र (पुष्य, अनुराधा, उत्तरा-भाद्रपद) तथा शनि की होरा में अधिक शुभ होते हैं।

राहुः ऐसे व्यक्ति को अष्टधातु का कड़ा दाहिने हाथ में धारण करना चाहिए। हाथी दांत का लाकेट गले में धारण करना चाहिए। अपने पास सफेद चन्दन अवश्य रखना चाहिए। सफेद चन्दन की माला भी धारण की जा सकती है।
जमादार को तम्बाकू का दान करना चाहिए। दिन के संधिकाल में अर्थात् सूर्योदय या सूर्यास्त के समय कोई महत्त्वपूर्ण कार्य नहीं करना चाहिए। यदि किसी अन्य व्यक्ति के पास रुपया अटक गया हो, तो प्रातःकाल पक्षियों को दाना चुगाना चाहिए। झूठी कसम नहीं खानी चाहिए। राहु के दुष्प्रभाव निवारण के लिए किए जा रहे टोटकों के लिए शनिवार का दिन, राहु के नक्षत्र (आर्द्रा, स्वाती, शतभिषा) तथा शनि की होरा में अधिक शुभ होते है।

केतुः भिखारी को दो रंग का कम्बल दान देना चाहिए। नारियल में मेवा भरकर भूमि में दबाना चाहिए। बकरी को हरा चारा खिलाना चाहिए। ऊंचाई से गिरते हुए जल में स्नान करना चाहिए। घर में दो रंग का पत्थर लगवाना चाहिए। चारपाई के नीचे कोई भारी पत्थर रखना चाहिए। किसी पवित्र नदी या सरोवर का जल अपने घर में लाकर रखना चाहिए। केतु के दुष्प्रभाव निवारण के लिए किए जा रहे टोटके मंगलवार का दिन, केतु के नक्षत्र (अश्विनी, मघा) एवं शनि की होरा में अत्यंत फलीभूत होते है।

पंडित दयानंद शास्त्री, उज्जैन (म.प्र.) (ज्योतिष-वास्तु सलाहगाड़ी) 09669290067, 09039390067

- Advertisement -

loading...
loading...
Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

















सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है