Covid-19 Update

11908
मामले (हिमाचल)
7457
मरीज ठीक हुए
113
मौत
5,351,723
मामले (भारत)
30,833,232
मामले (दुनिया)

हिंदुओं की पवित्र नदी गंगा

हिंदुओं की पवित्र नदी गंगा

- Advertisement -

गंगा, हिंदुओं की सबसे पवित्र नदी है। इसके किनारे मैदानी इलाकों में रहने वाले लाखों लोगों के लिए यह जीवन का आधार भी है। सच तो यह है कि गंगा घाटी दुनिया की और किसी भी नदी घाटी क्षेत्र की अपेक्षा अधिक जनसंख्या वाला क्षेत्र है।ganga-2


वेदों, पुराणों और रामायण एवं महाभारत जैसे महाकाव्यों में गंगा नदी का व्यापक उल्लेख मिलता है।एक पौराणिक कथा के अनुसार गंगा हिमवान की पुत्री और उमा की बहन है। देवताओं को खुश करने के लिए इन्द्र् गंगा को स्वर्ग ले गए। कहा जाता है कि राजा सागर ने खुद को अधिक शक्तिशाली बनाने के लिए अश्वमेध यज्ञ का आयोजन किया। इस खबर से देवराज इन्द्र को चिन्ता सताने लगी कि कहीं उनका सिंहासन न छिन जाए। इन्द्र ने यज्ञ के अश्व को चुराकर कपिल मुनि के आश्रम के एक पेड़ से बांध दिया। जब सागर को अश्वं नहीं मिला तो उसने अपने 60 हजार बेटों को उसकी खोज में भेजा। उन्हेंल कपिल मुनि के आश्रम में वह अश्व मिला। यह मानकर कि कपिल मुनि ने ही उनके घोड़े को चुराया है, वो पेड़ से घोड़े को छुड़ाते हुए शोर कर रहे थे। उनके शोरगुल से मुनि के ध्यान में बाधा उत्पन्न हो रही थी। और जब उन्हें पता चला कि ये यह सोच रहे हैं कि मैने घोड़ा चुराया है तो वे अत्यंत क्रोधित हुए। उनकी क्रोधाग्नि वाली एक दृष्टि से ही वे सारे राख के ढेर में तबदील हो गए।

वे सारे अन्तिम संस्कारों की धार्मिक क्रिया के बिना ही राख में बदल गए थे। इसलिए वे प्रेत के रूप में भटकने लगेकई पीढि़यों बाद सागर के कुल के भगीरथ ने हजारों सालों तक कठोर तपस्या की। तपस्या से प्रसन्न होकर ब्रह्मा ने गंगा को धरती पर उतारने की भगीरथ की मनोकामना पूरी कर दी। गंगा बहुत ही उद्दंड और शक्तिशाली नदी थी। वे यह तय करके स्वर्ग से उतरीं कि वे अपने प्रचण्ड वेग से धरती पर उतरेंगी और रास्ते में आने वाली सभी चीजों को बहा देंगी। शिव को गंगा के इस इरादे का अंदाजा था इसीलिए उन्हों ने गंगा को अपनी जटाओं में कैद कर लिया।ganga-1

भागीरथ ने तब शिव को मनाया और फिर उन्होंने गंगा को धीरे-धीरे अपनी जटाओं से आजाद किया। और तब गंगा भगीरथी के नाम से धरती पर आईं। उन राख के ढेरों से गुजरते हुए गंगा ने जहनुमुनि के आश्रम को डूबो दिया। गुस्से में आकर मुनि ने गंगा को लील लिया। एक बार फिर भगीरथ को मुनि से गंगा को मुक्त करने हेतु प्रार्थना करनी पड़ी। इस तरह गंगा बाहर आईं और अब वो जाह्नवी कहलाईं।

गंगा हमेशा से ही प्रथम पूज्य देवी के रूप में सम्मान पाती रही हैं। उनके धरती पर आने का कारण चाहे जो भी रहा हो – कोई श्राप या किसी दुखी इंसान की याचना। उनका रूप सदा ही दैवीय रहा है । कहा जाता है कि गंगा की धारा स्वर्ग, नर्क और धरती तीनों लोक में जाती है।

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

ये हैं दुनिया के 5 सबसे जानलेवा जीव: लिस्ट में शामिल है मक्खी और मच्छर का भी नाम, जानें

अटल टनल रोहतांग में 4G नेटवर्क की सुविधा का Trial सफल; जानें कितनी मिलेगी स्पीड

#Corona_Update: हिमाचल में आज 286 नए मामले, पांच लोगों ने गंवाई जान

Big Breaking: शिमला में कंडा जेल का कैदी पुलिस को चकमा देकर हुआ फरार

Rohru: बर्फबारी में बिजली-पानी और सड़कों को नहीं होगा नुकसान, प्रदेश सरकार निकालेगी स्थायी हल

HPU से करनी है PhD तो तीन अक्टूबर तक है मौका; 66 सीटों के लिए करें ऑनलाइन आवेदन

Una: गगरेट में धरे रेत तस्कर, पंजाब जा रहे पांच टिप्परों से वसूला 75 हजार का जुर्माना

सोलन में बैचवाइज प्रशिक्षित स्नातक अध्यापकों की Counseling 26 को

#Himachal में अब साहसिक पर्यटन गतिविधियां होंगी सुरक्षित, जाने क्या है सरकार का प्लान

जितने में #Reliance जैसी 6 कंपनियों को खरीदा जा सके उतना तो भारत सरकार पर कर्ज है; पढ़ें रिपोर्ट

30 साल की सेवा के बाद आखिरी सफर पर निकला #INS_Viraat: इसके लोहे से बनेंगी मोटरबाइक्स

शोषण कर रही है Fourlane निर्माण कर रही कंपनी, ठेकेदार यूनियन करेगी अब नंगा

‘ऑरो-स्कॉलर’की हिमाचल प्रदेश में शुरुआत, APP के माध्यम से जुड़ेंगे शिक्षक और छात्र

पालमपुर : हिमाचल के पर्वतों में मिला कैंसर का इलाज, वैज्ञानिकों ने खोजा एंजाइम

IPL 2020: आज होगा क्रिकेट के महासंग्राम का आगाज; मुंबई-चेन्नई के बीच उद्घाटन मुकाबला

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board

तकनीकी विवि में द्वितीय, चतुर्थ और छठे समेस्टर के छात्रों को किया जाएगा Promote

शिक्षकों-गैर शिक्षकों को स्कूल बुलाने के लिए Notification जारी, विभाग ने ये दिए निर्देश

#HPBose: बोर्ड की अनुपूरक परीक्षाओं से संबंधित जानकारी के लिए घुमाएं ये नंबर

D.El.Ed. CET -2020 की स्पोर्टस कोटे की काउंसिलिंग अब 17 को डाइट में होगी

#HPBose: बोर्ड ने D.El.Ed.CET स्पोर्ट्स कैटेगरी काउंसलिंग की तिथि की तय

#HPBose: हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने घोषित किया यह रिजल्ट- जानिए

Himachal के सरकारी स्कूलों में नौवीं से 12वीं के #OnlineExam आज से शुरू

#HPBose: D.El.Ed. CET स्पोर्ट्स कैटेगरी की काउंसलिंग स्थगित- जाने कारण

#HPBose_ Dharamshala: बोर्ड ने घोषित किया यह रिजल्ट, वेबसाइट में देखें

बड़ी खबर: हिमाचल में सितंबर के बाद स्कूल खुलने के संकेत; छात्रों के #Syllabus को लेकर भी बड़ा फैसला

Himachal: तकनीकी शिक्षा बोर्ड विद्यार्थियों को अगली कक्षा में करेगा प्रमोट, इनकी होंगी परीक्षाएं

मार्च की 10वीं और 12वीं SOS की Practical परीक्षा में Absent छात्रों को विशेष अवसर

#HPBose: D.El.Ed. CET स्पोर्ट्स कैटेगरी काउंसलिंग की तिथियां घोषित

#HPBose: बड़ा फैसला- SOS के तहत जमा दो मेडिकल व नॉन मेडिकल की हो सकेगी पढ़ाई

#HPBose : शिक्षा बोर्ड ने इन परीक्षाओं की ऑनलाइन आवेदन तिथि बढ़ाई



×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है