Covid-19 Update

20,213
मामले (हिमाचल)
17,300
मरीज ठीक हुए
285
मौत
7,845,328
मामले (भारत)
42,576,778
मामले (दुनिया)

प्रदोष व्रत से ऐसे प्रसन्न होंगे भगवान शिव, जानिए महत्व और विधान

प्रदोष व्रत से ऐसे प्रसन्न होंगे भगवान शिव, जानिए महत्व और विधान

- Advertisement -

प्रदोष व्रत भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए किया जाता है। इस दिन भगवान शिव की पूजा और दिनभर व्रत रखने से मनोकामना पूरी होती है। प्रदोष व्रत से दांपत्य जीवन में प्रेम बना रहता है। इस व्रत के प्रभाव से जाने-अनजाने में किए गए पाप खत्म हो जाते हैं।सावन माह में भगवान शिव की पूजा का विशेष योग बन रहा है। आने वाले तीन दिन भगवान शिव को समर्पित रहेंगे। 18 जुलाई यानि शनिवार को प्रदोष व्रत है। जिसे शनि त्रयोदशी और शनि प्रदोष के नाम से भी जाना जाता है। इसके बाद 19 जुलाई को मासिक शिवरात्रि का पावन पर्व है और 20 जुलाई को सावन का पवित्र सोमवार है।

 

18 जुलाई को चातुर्मास का दूसरा प्रदोष व्रत है। प्रदोष व्रत का पौराणिक कथाओं में विशेष महत्व बताया गया है। इस व्रत की पूजा सुबह और शाम दोनों समय करने का विधान है। इस दिन भगवान शिव का अभिषेक किया जाता है। मान्यता है कि इस व्रत को रखने से हर प्रकार की बाधाएं दूर होती है। जीवन में सुख समृद्धि आती है। इस दिन भगवान शिव त्रयोदशी तिथि में शाम के समय कैलाश पर्वत पर स्थित अपने रजत भवन में नृत्य करते हैं। इस दिन भगवान शिव प्रसन्न होते हैं।

स्कंदपुराण के अनुसार –

त्रयोदश्यां तिथौ सायं प्रदोषः परिकीर्त्तितः । तत्र पूज्यो महादेवो नान्यो देवः फलार्थिभिः ।।
प्रदोषपूजामाहात्म्यं को नु वर्णयितुं क्षमः । यत्र सर्वेऽपि विबुधास्तिष्ठंति गिरिशांतिके ।।
प्रदोषसमये देवः कैलासे रजतालये । करोति नृत्यं विबुधैरभिष्टुतगुणोदयः ।।
अतः पूजा जपो होमस्तत्कथास्तद्गुणस्तवः । कर्त्तव्यो नियतं मर्त्यैश्चतुर्वर्गफला र्थिभिः ।।
दारिद्यतिमिरांधानां मर्त्यानां भवभीरुणाम् । भवसागरमग्नानां प्लवोऽयं पारदर्शनः ।।
दुःखशोकभयार्त्तानां क्लेशनिर्वाणमिच्छताम् । प्रदोषे पार्वतीशस्य पूजनं मंगलायनम् ।

इसका सार है – “त्रयोदशी तिथि में सायंकाल को प्रदोष कहा गया है। प्रदोष के समय महादेवजी कैलाशपर्वत के रजत भवन में नृत्य करते हैं और देवता उनके गुणों का स्तवन करते हैं। अतः धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष की इच्छा रखने वाले पुरुषों को प्रदोष में नियमपूर्वक भगवान शिव की पूजा, होम, कथा और गुणगान करने चाहिए। दरिद्रता के तिमिर से अंधे और भक्तसागर में डूबे हुए संसार भय से भीरु मनुष्यों के लिए यह प्रदोषव्रत पार लगाने वाली नौका है। शिव-पार्वती की पूजा करने से मनुष्य दरिद्रता, मृत्यु-दुःख और पर्वत के समान भारी ऋण-भार को शीघ्र ही दूर करके सम्पत्तियों से पूजित होता है।”

प्रदोष व्रत विधि :

दोनों पक्षों की प्रदोषकालीन त्रयोदशी को मनुष्य निराहार रहे। निर्जल तथा निराहार व्रत सर्वोत्तम है परंतु अगर यह संभव न हो तो नक्तव्रत करे। पूरे दिन सामर्थ्यानुसार या तो कुछ न खाये या फल लें। अन्न पूरे दिन नहीं खाना। सूर्यास्त के कम से कम 72 मिनट बाद हविष्यान्न ग्रहण कर सकते हैं।

जिन नियमों का पालन इन व्रत में अवश्य करना होता है, वह हैं :

अहिंसा, सत्य वाचन, ब्रह्मचर्य, दया, क्षमा, निंदा और ईर्ष्या न करना ।

जितना संभव हो सके मौन धारण करें।

अगर संभव हो सके तो सूर्योदय से तीन घड़ी (अर्थात 72 मिनट) पूर्व स्नान कर लें। श्वेत वस्त्र धारण करें।

प्रदोषकाल में पूजा करें।

शिव पार्वती युगल दम्पति का ध्यान करके उनकी मानसिक पूजा करें।

पूजा के आरंभ में एकाग्रचित्त हो संकल्प पढ़ें।

तदनन्तर हाथ जोड़कर मन-ही-मन उनका आह्वान करे- “हे भगवान् शंकर ! आप ऋण, पातक, दुर्भाग्य और दरिद्रता आदि की निवृत्ति के लिए मुझ पर प्रसन्न हों।’ मैं दुःख और शोक की आग में जल रहा हूं, संसार भय से पीड़ित हूं, अनेक प्रकार के रोगों से व्याकुल हूं। वृषवाहन! मेरी रक्षा कीजिये। देवदेवेश्वर! सबको निर्भय कर देने वाले महादेव जी! आप यहाँ पधारिये और मेरी की हुई इस पूजा को पार्वती के साथ ग्रहण कीजिये।”

पंचब्रह्म मंत्र का पाठ करें। रुद्रसूक्त का पाठ करें। पंचामृत से अभिषेक करें। षोडशोपचार पूजा करें। भगवान को साष्टांग प्रणाम करें।

पंडित दयानन्द शास्त्री,(ज्योतिष-वास्तु सलाहकार)

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

#Jobs: देश की नामी कंपनी ने खोले रोजगार के द्वार, भरेगी 150 पद; इस दिन होंगे Interview

Himachal: सरकारी स्कूलों में तैनात कंप्यूटर शिक्षकों का बढ़ेगा मानदेय, Cabinet में लगेगी मुहर

#Kullu_Dussehra: घर बैठे देख सकेंगे, Facebook व YouTube पर होगा लाइव प्रसारण

Sundernagar: लावारिस बैलों को बचाने के चक्कर में बीच सड़क पलटा डीजल से भरा Tanker

Una: बिना बिल सामान बेचने वालों पर आबकारी विभाग का शिकंजा, पकड़ा लाखों का सामान

#Uttarakhand में हादसे का शिकार बना हिमाचल निवासी क्लीनर; डंपर से कुचला गया, हुई मौत

Ashray Sharma का ऑफर, State Govt के पांच विकास कार्य बताओ और नकद इनाम ले जाओ

Sundernagar: तेज रफ्तार कार BBMB जलाशय की रेलिंग तोड़ खाई में गिरी, युवक की गई जान

KBC: हिमाचल से जुड़े सवाल का जवाब देकर फूलबासन यादव-रेणुका शहाणे ने जीते 50 लाख

हिमाचल में पुरानी पेंशन बहाली को सड़कों पर उतरा NPS कर्मचारी महासंघ

CM जयराम के दफ्तर में क्लर्क लगवाने के नाम पर ठग लिए 3.80 लाख; फर्जी ज्वाइनिंग लेटर थमाया

बड़ी खबर: प्रदेश में लगातार दूसरे दिन डोली धरती; 2 जिलों में #Earthquake, चार जिलों में झटके

Delivery के बाद बढ़ते वजन से हैं परेशान, ट्राई करें ये तरीके, जरूर पढे़गा असर

Himachal: घर में ट्यूबवेल, बोरवेल और हैंडपंप लगाया है तो जरूर पढ़ें यह खबर

SCERT ऑनलाइन स्पर्धाः हिमाचल के इन 10 शिक्षकों की प्रविष्टियां रहीं अव्वल

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board

#Himachal के इन स्कूलों में सर्दियों की छुट्टियों पर चलेगी कैंची, प्रस्ताव तैयार

जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा 6 का #Entrance_Exam अब 7 नवंबर को

स्कूलों के बाद अब Colleges खोलने की तैयारी, नवंबर से आएंगे Practical विषयों के छात्र

TET Exam में इन अभ्यर्थियों को मिली छूट, बिना आवेदन दे सकेंगे परीक्षा, बस करना होगा ये काम

#Himachal में School खोलने की तैयारी में सरकार, क्या रहेगा प्लान पढ़े यहां

Big Breaking: हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने टैट परीक्षा का शेड्यूल किया जारी- जानिए

#HPBose: 9वीं, 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षाओं के छात्रों को बड़ी राहत- पढ़ें खबर

हिमाचल में 100% मास्टर जी लौट आए #School, बनने लगा स्टूडेंट्स के लिए माइक्रो प्लान

SMC शिक्षकों को बड़ी राहत, #Supreme_Court ने हिमाचल हाईकोर्ट के फैसले पर लगाई रोक

गोविंद ठाकुर बोले- #Himachal में स्कूल खोलने हैं या नहीं, 9 को होगा फैसला

शिक्षा विभाग ने तैयार किया #Himachal में स्कूल खोलने का प्रस्ताव; जानें क्या है योजना

D.El.Ed CET 2020: 12 से 23 अक्टूबर तक होगी स्क्रीनिंग, अभ्यर्थी करें ऐसा

Himachal में 530 हेड मास्टर और लेक्चरर बने प्रिंसिपल, पर वेतन बढ़ोतरी को करना होगा इंतजार

बिग ब्रेकिंगः हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने आठ विषयों की TET परीक्षा का Result किया आउट

#HPBose: बोर्ड ने छात्र हित में लिया फैसला, 30 तक बढ़ाई यह तिथि



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है