Covid-19 Update

14198
मामले (हिमाचल)
10343
मरीज ठीक हुए
171
मौत
6,047,690
मामले (भारत)
33,195,494
मामले (दुनिया)

माता पार्वती को समर्पित : कजरी तीज

माता पार्वती को समर्पित : कजरी तीज

- Advertisement -

भाद्रपद मास के तीसरे दिन यानी भाद्रपद कृष्ण तृतीया को मनाने की परम्परा है। यह तिथि माता पार्वती को समर्पित है। इस दिन भगवान शंकर तथा माता पार्वती के मंदिर में जाकर उन्हें भोग लगाने तथा विधि-विधान पूर्वक पूजा करने से सभी सुखों की प्राप्ति होती है। यह व्रत भाद्रपद माह की शुक्ल पक्ष की तृतीया को मनाने की परम्परा है। शास्त्रों में कहा जाता है कि अखण्ड सुहाग के लिए इस दिन शिव-पार्वती का विशेष पूजन होता है।
‘कजरी तीज’ से कुछ दिन पूर्व सुहागिन महिलाएं नदी-तालाब आदि से मिट्टी लाकर उसका पिंड बनाती हैं और उसमें जौ के दानो की बिजाई करती हैं। रोज इसमें पानी डालने से पौधे निकल आते हैं। इन पौधों को कजरी वाले दिन लड़कियां अपने भाई तथा बुजुर्गों के कान पर रखकर उनसे आशीर्वाद प्राप्त करती हैं। कजरी का यह स्वरूप केवल ग्रामीण इलाकों तक सीमित है। यह खेल गायन करते हुए किया जाता है, जो देखने और सुनने में अत्यन्त मनोरम लगता है। ‘कजरी तीज’ को ‘सतवा’ व ‘सातुड़ी तीज’ भी कहते हैं। यह माहेश्वरी समाज का विशेष पर्व है, जिसमें जौ, गेहूं, चावल और चने के सत्तू में घी, मीठा और मेवा डाल कर पकवान बनाते हैं और चंद्रोदय होने पर उसी का भोजन करते हैं।


इस व्रत को ‘हरितालिका’ इसलिए कहते हैं कि पार्वती की सखी उसे पिता प्रदेश से हरकर घनघोर जंगल में ले गई थी। ‘हरत’ शब्द का अर्थ है- ‘हरण करना’ तथा ‘आलिका’ शब्द का अर्थ है- ‘सहेली’, ‘सखी’ आदि, अर्थात सखी हरण करने की प्रक्रिया के कारण ही इस व्रत का नाम ‘हरितालिका तीज’ व्रत पड़ा। मुख्यतः इस दिन व्रत रहने वाली स्त्रियां संकल्प लेकर घर की साफ-सफाई कर, पूजन सामग्री एकत्रित करती हैं। शास्त्रों में कहा गया है कि इस व्रत को करने वाली सभी स्त्रियां देवी पार्वती के समान सुखपूर्वक रह कर साक्षात शिवलोक को जाती हैं। इस व्रत में पूर्णतः निराहार निर्जला रहना होता है। सूर्यास्त के समय स्नान करके, शुद्ध तथा श्वेत वस्त्र धारण कर शिव-पार्वती की मिट्टी की प्रतिमा बनाकर पूजन करना चाहिये। जहां तक सम्भव हो, प्रातः दोपहर और सायंकाल की पूजा भी घर पर ही करना श्रेयस्कर होता है।

व्रत विधि :

  • स्त्रियां निराहार निर्जला रहकर व्रत करें।
  • पूजन के पश्चात ब्राह्मण को भोजन के साथ यथाशक्ति दक्षिणा देकर ही व्रत का पारण करें।
  • सुहाग सामग्री किसी गरीब ब्राह्मणी को ही देना चाहिए।
  • सास-ननद आदि को चरण स्पर्श कर यथाचित आशीर्वाद लेना चाहिए।
  • शुद्धता के साथ और शुद्ध मनःस्थिति के साथ ही शिव-पार्वती का पूजन करना चाहिए।
  • सच्ची लगन और निष्ठा के साथ ही गौरी-शंकर का पूजन-भजन करने से अनंत फल की प्राप्ति होती है।

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

#Corona काल में मुंह मीठा करवाकर पर्यटकों का स्वागत, शिमला में हुआ कुछ ऐसा

#DC की दो टूक- बिना अनुमति स्टेशन छोड़ा तो अधिकारी के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई

Vikramaditya बोले- डॉक्टरों व पैरामेडिकल स्टाफ के खाली पद भरे सरकार, अदला-बदली रोके

पीएम मोदी के Himachal दौरे को लेकर सुरक्षा एजेंसियां Alert, कल मनाली पहुंचेगी SPG

खुली मिठाई खरीदने से पहले देख लें निर्माण और उपयोग की Date, लागू हो रहा यह नियम

Fourlane निर्माण में लगे मजदूरों-वाहनों का नहीं कोई रिकार्ड, SP Mandi के पास पहुंचा मामला

पूर्व केंद्रीय मंत्री #Jaswant_Singh का निधन, राष्ट्रपति कोविंद-पीएम मोदी सहित कई नेताओं ने जताया शोक

पार्क में घूम रहे बैंक मैनेजर ने कांच का टुकड़ा समझकर जो उठाया, निकला 9 कैरेट का हीरा

7वीं पास शख्स ने 'टॉप सीक्रेट' फॉर्मूले से बनाई फर्ज़ी Covid-19 वैक्सीन, हुआ गिरफ्तार

Himachal में ठंड का आगाज, मनाली और भरमौर की ऊंची चोटियों पर हल्का हिमपात

#Corona को मात देकर लौटे मंत्रियों का अनुभव आएगा काम, सरकार करेगी कुछ ऐसा

Scholarship Scam: केसी ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट के वाइस चेयरमैन सहित दो को सशर्त जमानत

बड़ी खबर: BJP चीफ बनने के 8 महीने बाद नड्डा ने बनाई अपनी टीम; एक भी हिमाचली नेता शामिल नहीं

PM Narendra Modi के प्रस्थान तक कुल्लू जिला के अधिकारियों-कर्मियों के पैरों में बेड़ियां

#Cabinet_Breaking: एक विभाग का बदला नाम, भरे जाएंगे ये पद-खुलेंगी ITI

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board

पहली से आठवीं कक्षाओं के छात्रों की ऑनलाइन परीक्षाओं की Datesheet जारी

#HPBose: डीईएलईडी पार्ट वन और टू का रिजल्ट आउट, कितने सफल, कितने असफल- जानिए

छात्र Online देख सकते हैं SOS की प्रेक्टिकल परीक्षा के अंक , feeding का भी विकल्प

D.El.Ed CET स्पोर्ट्स कैटेगरी काउंसलिंग में आधे अभ्यर्थी ही पात्र

#HPBose: SOS मैट्रिक व जमा दो कक्षाओं की प्रैक्टिकल परीक्षा की डेटशीट जारी

तकनीकी विवि में द्वितीय, चतुर्थ और छठे समेस्टर के छात्रों को किया जाएगा Promote

शिक्षकों-गैर शिक्षकों को स्कूल बुलाने के लिए Notification जारी, विभाग ने ये दिए निर्देश

#HPBose: बोर्ड की अनुपूरक परीक्षाओं से संबंधित जानकारी के लिए घुमाएं ये नंबर

D.El.Ed. CET -2020 की स्पोर्टस कोटे की काउंसिलिंग अब 17 को डाइट में होगी

#HPBose: बोर्ड ने D.El.Ed.CET स्पोर्ट्स कैटेगरी काउंसलिंग की तिथि की तय

#HPBose: हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने घोषित किया यह रिजल्ट- जानिए

Himachal के सरकारी स्कूलों में नौवीं से 12वीं के #OnlineExam आज से शुरू

#HPBose: D.El.Ed. CET स्पोर्ट्स कैटेगरी की काउंसलिंग स्थगित- जाने कारण

#HPBose_ Dharamshala: बोर्ड ने घोषित किया यह रिजल्ट, वेबसाइट में देखें

बड़ी खबर: हिमाचल में सितंबर के बाद स्कूल खुलने के संकेत; छात्रों के #Syllabus को लेकर भी बड़ा फैसला



×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है