दस आयुध धारण करने वाले हनुमान जी, जानिए क्या हैं इनके अस्त्र-शस्त्र

दस आयुध धारण करने वाले हनुमान जी, जानिए क्या हैं इनके अस्त्र-शस्त्र

- Advertisement -

हनुमान जी अपने प्रभु श्रीराम के चरणों में पूर्ण स‍मर्पित आप्तकाम निष्‍काम सेवक है। उनका सर्वस्व प्रभु की सेवा का उपकरण है उनके संपूर्ण अंग-प्रत्यंग, रद, मुष्ठि, नख, पूंछ, गदा एवं गिरि, पादप आदि प्रभु के अमंगलों का नाश करने के लिए एक दिव्यास्त्र के समान है। महाबली रामभक्त हनुमान जी के अस्त्र-शस्त्रों में पहला स्थान उनकी गदा का है। आपको जानकर हैरानी होगी कि केवल गदा के साथ दिखने वाले महाबली हनुमान दस आयुध (अस्त्र-शस्त्र) धारण करने वाले हैं।



यह भी पढ़ें :- वक्री हुए बृहस्पति, जानिए आपकी राशि पर पड़ा क्या प्रभाव

हनुमान जी वज्रांग हैं। यम ने उन्हें अपने दंड से अभयदान दिया है, कुबेर ने गदाघात से अप्रभावित होने का वर दिया है, भगवान शंकर ने हनुमान जी को शूल एवं पाशुपत आदि अस्त्रों से अभय होने का वरदान दिया था, अस्त्र-शस्त्र (Ammunitions) के कर्ता विश्‍वकर्मा ने हनुमान जी को समस्त आयुधों से अवध्‍य होने का वरदान दिया है।

ये दस हैं हनुमान जी के आयुध

शास्त्रों में हनुमान जी को दस आयुधों से अलंकृत कहा गया है। हनुमान जी के आयुधों की व्याख्‍या में खड्ग, त्रिशूल, खट्वांग, पाश, पर्वत, अंकुश, स्तम्भ, मुष्टि, गदा और वृक्ष हैं। हनुमान जी का बायां हाथ गदा से युक्त कहा गया है ” वामहस्तगदायुक्तम् ”
लक्ष्‍मण और रावण के बीच युद्ध में हनुमान जी ने रावण के साथ युद्ध में गदा का प्रयोग किया था उन्होंने गदा के प्रहार से ही रावण के रथ को खंडित किया था। स्कंदपुराण में हनुमान जी को वज्रायुध धारण करने वाला कहकर उनको नमस्कार किया गया है उनके हाथ में वज्र सदा विराजमान रहता है। अशोक वाटिका में हनुमान जी ने राक्षसों के संहार के लिए वृक्ष की डाली का उपयोग किया था, हनुमान जी का एक अस्त्र उनकी पूंछ भी है, अपनी मुष्टिप्रहार से उन्होंने कई दुष्‍टों का संहार किया है।

खड्गं त्रिशूलं खट्वाङ्गं पाशाङ्कुशसुपर्वतम् ।
मुष्टिद्रुमगदाभिन्दिपालज्ञानेन संयुतम् ॥
एतान्यायुधजालानि धारयन्तं यजामहे ।
प्रेतासनोपविष्टं तु सर्वाभरणभूषितम् ॥


यह भी पढ़ें :-  गलती से भी थाली में न छोड़े झूठा भोजन

पवन है हनुमान जी का वाहन

हनुमान जी का वाहन होने की शक्ति किसमें है। हनुमान जी इतने वेगवान है कि उनकी वेग की तुलना कोई और कर ही नहीं सकता है। ‘हनुमत्सहस्त्रनामस्तोत्र’ के 72वें श्‍लोक में उन्हें ‘वायुवाहन:’ कहा गया है और यह युक्तिसंगत भी है, तथापि वायु भी उनके भार का वहन करने में प्राय: असमर्थ ही हैं। हनुमान जी ने एक बार जगतपति श्रीराम और शेषनाग के रूप श्री लक्ष्‍मण को अपने कंधे पर बैठाकर उड़ान भरी थी। हनुमानजी के वेग का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि एक बार लक्ष्मण जी को मेघनाद द्वारा ” शक्ति बाण ” लगने पर , हनुमान जी द्रोणाचल पर्वत को उखाड़कर लंका ले गए थे और उसी रात को यथास्थान रख भी आए थे। समूचे द्रोणाचल पर्वत को उखाड़कर क्षणमात्र में उसे लंका में पहुंचाने और यथास्थल रख आने वाले पवनपुत्र के वेग से बढ़कर किसका वेग हो सकता है।

पंडित दयानंद शास्त्री, उज्जैन (म.प्र.) (ज्योतिष-वास्तु सलाहकार)

09669290067, 09039390067

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Like करें हिमाचल अभी अभी का Facebook Page….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

अनिल शर्मा की दो टूकः पहले रहने की व्यवस्था करो, तभी छोड़ूंगा मंत्री की कोठी

सत्ती ने अनिल को घेरा-बोले, कार्यकर्ताओं की मेहनत पर सवाल उठाने का नहीं अधिकार

सरकार अगले छह महीने तक नहीं भरेगी मंत्री पद, जानिए क्या हैं कारण

आश्रय शर्मा का आरोप-सराज में बीजेपी ने की बूथ कैप्चरिंग

सरकाघाट : किचन में बेसुध पड़ी मिली महिला टीचर, संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

ट्रैक्टर से जोरदार टक्कर के बाद सड़क से नीचे लुढ़का ट्रक, चालक की मौत

भरमौर में आग की भेंट चढ़ा मकान, बीस लाख का नुकसान

हिमाचल के कॉलेजों में दाखिले, परीक्षा और छुट्टियों का शेड्यूल जारी, पढ़ें पूरी खबर

मई में स्नोफॉलः रोहतांग में 2 तो मढ़ी में आधा इंच बर्फबारी, ठिठुरा कुल्लू

पांवटा साहिब: गंदे पानी के गड्ढे में गिरा तीन साल का मासूम, मौत

यौन उत्पीड़न मामले में जितेंद्र के खिलाफ हाईकोर्ट ने रद की एफआईआर

एग्रीकल्चर एक्सटेंशन ऑफिसर का फाइनल रिजल्ट आउट, चार हुए सफल

मंडी से अचानक दिल्ली रवाना हुए जयराम ठाकुर, यह रहा कारण

बीजेपी ने स्वीकारे तो कांग्रेस ने नकारे एग्जिट पोल, अपनी-अपनी जीत का दावा

जयराम सरकार ने अनिल शर्मा से छीनी गाड़ी, बंगला खाली करने को नोटिस

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है