Story in Audio

Story in Audio

परिवर्तिनी एकादशी : ये व्रत करने वाले को मिलता है वाजपेय यज्ञ का फल

इस दिन निद्रा के दौरान करवट लेते हैं भगवान विष्णु योग

परिवर्तिनी एकादशी : ये व्रत करने वाले को मिलता है वाजपेय यज्ञ का फल

- Advertisement -

भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को जल झूलनी एकादशी या परिवर्तिनी एकादशी कहते हैं। इस दिन भगवान वामन (Lord Vamana) की पूजा की जाती है। इस बार परिवर्तिनी एकादशी 9 सितंबर यानी सोमवार को है। कहा जाता है कि इस दिन भगवान विष्णु (Lord Vishnu) योग निद्रा के दौरान करवट लेते हैं, इसलिए इसको परिवर्तिनी एकादशी कहते हैं। कुछ स्थानों पर ये दिन भगवान श्रीकृष्ण के सूरज पूजा (जन्म के बाद होने वाला मांगलिक कार्यक्रम) के रूप में मनाया जाता है। हम आपको परिवर्तिनी यानी जल झूलनी एकादशी व्रत की विधि और महत्व के बारे में बता रहे हैं …


 

यह भी पढ़ें:बढ़ गया है कर्ज का बोझ, मुक्ति दिलाएगा “ऋणहर्ता गणपति स्तोत्र”

व्रत विधि :

परिवर्तिनी एकादशी व्रत का नियम पालन दशमी तिथि 8 सितंबर की रात से ही शुरू करें व ब्रह्मचर्य का पालन करें। एकादशी के दिन सुबह स्नान आदि करने के बाद साफ कपड़े पहनकर भगवान वामन की प्रतिमा के सामने बैठकर व्रत का संकल्प लें। इस दिन यथासंभव उपवास करें उपवास में अन्न ग्रहण नहीं करें संभव न हो तो एक समय फलाहारी कर सकते हैं। इसके बाद भगवान वामन की पूजा विधि-विधान से करें। (यदि आप पूजन करने में असमर्थ हों तो पूजन किसी योग्य ब्राह्मण से भी करवा सकते हैं।) भगवान वामन को पंचामृत से स्नान कराएं। स्नान के बाद उनके चरणामृत को व्रती (व्रत करने वाला) अपने और परिवार के सभी सदस्यों के अंगों पर छिड़कें और उस चरणामृत को पीएं। इसके बाद भगवान को गंध, पुष्प, धूप, दीप, नैवेद्य आदि पूजन सामग्री अर्पित करें। विष्णु सहस्त्रनाम का जाप एवं भगवान वामन की कथा सुनें। रात को भगवान वामन की मूर्ति के समीप ही सोएं और दूसरे दिन यानी द्वादशी पर वेदपाठी ब्राह्मणों को भोजन कराकर दान देकर आशीर्वाद प्राप्त करें।

ये है व्रत का महत्व :

  • जिसने भाद्रपद शुक्ल एकादशी को व्रत और पूजन किया, उसने ब्रह्मा, विष्णु सहित तीनों लोकों का पूजन किया। अत: हरिवासर अर्थात एकादशी का व्रत अवश्य करना चाहिए।
  • इस व्रत के बारे में भगवान श्रीकृष्ण ने स्वयं युधिष्ठिर से कहा है कि जो इस दिन कमलनयन भगवान का कमल से पूजन करते हैं, वे अवश्य भगवान के समीप जाते हैं।
  • जो मनुष्य यत्न के साथ विधिपूर्वक परिवर्तिनी एकादशी व्रत करते हुए रात्रि जागरण करते हैं, उनके समस्त पाप नष्ट होकर अंत में वे स्वर्गलोक को प्राप्त होते हैं।
  • इस व्रत करने से वाजपेय यज्ञ का फल मिलता है। पापियों के पाप नाश के लिए इससे बढ़कर कोई उपाय नहीं है।
  • जो मनुष्य इस एकादशी को भगवान विष्णु के वामन रूप की पूजा करता है, उससे तीनों लोक पूज्य होते हैं।

 

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

In Depth : शरारती छात्र पर हंस रही थीं छात्राएं, छुट्टी होने पर फेंक दिया Acid, देखें वीडियो

Hamirpur Acid Attack मामले में छात्राओं का खुलासा : शरारती छात्र पर हंस रही थीं इसलिए फेंका एसिड

Vipin Parmar ने विधानसभा अध्यक्ष का नामांकन भरा, जयराम रहे मौजूद

बिग ब्रेकिंग : Himachal में आ गया एक और चुनाव, 26 मार्च को होगा मतदान

राष्ट्रपति भवन पहुंचे Donald Trump, दिया गया गार्ड ऑफ ऑनर

राज्य प्रशासनिक - Judicial Service Officers भर्ती के हजारों आवेदन रद

बिग ब्रेकिंगः Himachal विधानसभा स्पीकर के नाम पर लगी मुहर, यह होंगे

Budget Session: सरकार की घेराबंदी को विपक्ष तैयार, इन मुद्दों पर बोला जाएगा हमला

रात के अंधेरे में एक किलोमीटर दूर उतारी महिला पत्रकार, HRTC चालक चार्जशीट

ब्रेकिंगः बिंदल की टीम तैयार, 8 बनाए उपाध्यक्ष- Chamba से युवा मोर्चा अध्यक्ष

Live: दीदार-ए-ताज करके आगरा से दिल्ली पहुंचे ट्रंप और मेलानिया

शिक्षा बोर्ड की Answer Sheets के मूल्यांकन को दस साल का चाहिए अनुभव

सरकारी स्कूलों की केमिस्ट्री-बायोलॉजी लैब में एप्रिन व Mask के बिना नो एंट्री

Una में खैर की लकड़ी, बंदूक और जिंदा कारतूस के साथ चार धरे, एक फरार

शोर-शराबा ना करे सत्तापक्ष-विपक्ष , विस उपाध्यक्ष ने Mukesh-भारद्वाज संग की बैठक

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

HP : Board

विज्ञान विषयः अध्याय-11... मानव नेत्र तथा रंग-विरंगा संसार

विज्ञान विषयः अध्याय-10... प्रकाश-परावर्तन तथा अपवर्तन

Students के लिए अब आसान होगी केलकुलेशन, शिक्षा बोर्ड करेगा कुछ ऐसा

विज्ञान विषयः अध्याय-9......... अनुवंशिकता एवं जैव विकास

विज्ञान विषयः अध्याय-8......... जीव जनन कैसे करते हैं?

इस बार दो लाख 17 हजार 555 छात्र देंगे बोर्ड परीक्षाएं, 15 से Practical

शिक्षा बोर्डः 10वीं और 12वीं के Admit Card अपलोड, फोन नंबर भी जारी

ब्रेकिंगः HP Board ने इस शुल्क में की कटौती, 300 से 150 किया

विज्ञान विषयः अध्याय-7......... नियंत्रण एवं समन्वय

विज्ञान विषयः अध्याय-6......... जैव प्रक्रम

बोर्ड इन छात्रों को पेपर हल करने के लिए एक घंटा देगा अतिरिक्त, डेटशीट जारी

विज्ञान विषयः अध्याय-5......... तत्वों का आवर्त वर्गीकरण

बोर्ड एग्जाम में आएंगे अच्छे मार्क्स,  बस फॉलो करें ये ख़ास टिप्स

विज्ञान विषयः अध्याय-4… कार्बन और इसके घटक

Breaking: ग्रीष्मकालीन स्कूलों की 9वीं और 11वीं वार्षिक परीक्षा की Date Sheet जारी


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है