जानिए चुनाव में जीत को लेकर क्या कहती है राहुल गांधी और स्मृति इरानी की कुंडली

जानिए चुनाव में जीत को लेकर क्या कहती है राहुल गांधी और स्मृति इरानी की कुंडली

- Advertisement -

चुनावी दंगल में सब उम्मीदवार और दल जीतने की भरपूर कोशिश कर रहे हैं। आज हम स्मृति इरानी (Smriti Irani) और राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की कुंडलियों का तुलनात्मक विश्लेषण पराशरी ज्योतिष से कर रहे हैं। यहां जो जन्म तारीख ली गई है वह गूगल (Google) में से प्राप्त की गई है। यह ज्योतिष विश्लेषण किसी को लाभ या हानि पहुचाने के लिए नहीं किया जा रहा। राहुल गांधी का जन्म 19 जून, 1970 को सुबह 6 बजे दिल्ली में हुआ। स्मृति इरानी का जन्म 23 मार्च, 1972 को 12:00 बजे दिल्ली में हुआ बताया जाता है।


यह भी पढ़ें  :  बीजेपी के मंत्री ने कहा- राहुल गांधी को ज़हर पिलाओ, ज़िंदा बचे तो शंकर के अवतार

 

  • राहुल गांधी का जन्म मिथुन लग्न और धनु राशि में हुआ था जिसके अनुसार साढ़ेसाती चल रही है जिससे प्रत्येक कार्य में अड़चन आएगी। 7 मार्च, 2019 से राहु लग्न में गोचर कर रहा है जिससे शारीरिक कष्ट (Physical pain) होंगे। शनि, केतु और गुरु धनु और फिर अप्रैल 2019 में चन्द्र पर गोचर करेंगे जो इतना लाभप्रद न होगा। गोचर में शनि 7 वे भाव में होने से शत्रुओं पर विजय प्राप्त करवाता है।  वर्षफल (49 वर्ष) में सूर्य और मंगल दोबारा अपने स्थान लग्न में विराजमान होने से सफलता निश्चित होगी, मगर राहु एकादश भाव में आने से मेहनत का पूर्ण फल नहीं मिलेगा।
  • स्मृति इरानी की कुंडली में गोचर का राहु लग्न में शनि, केतु धनु राशि में और गुरु धनु और फिर अप्रैल 2019 में 8वीं राशि में  गोचर करेंगे जो इतना लाभप्रद ना होगा। गोचर में शनि, केतु  7 वे भाव में होने से शत्रुओं पर विजय प्राप्त करवाता है। बुध में शनि की दशा 23 जुलाई, 2019 तक चलेगी। बुध लग्न का स्वामी होने से वाणी का प्रभाव लोगों पर अच्छा डालेगा। शनि अष्ठम मारक स्थान का स्वामी सप्तम मारक भाव में बैठा होने से ज्यादा लाभ नहीं मिलेगा।
  • क्या 2019 में राहुल गांधी प्रधानमंत्री पद तक पहुंच पाएंगे या नहीं इस संदर्भ में राहुल गांधी की कुंडली का अध्यन करने पर कुछ तथ्य उजागर होते हैं। वर्ष 2019 में लोकसभा चुनावों (Lok Sabha elections 2019) की तिथियों का ऐलान होने के साथ चुनावी सरगर्मियों में तेजी आ गई है। 19 जून, 1970 को राहुल गांधी का जन्म दिल्ली में 5:50 सुबह का लिया गया है मगर कई जगह 18 जून, 1970 भी कुंडलियों का विश्लेषण किया गया है। यहां पर इसी लिए चन्द्र कुंडली से भी विचार किया गया है। इस कुंडली का विश्लेषण किया जाए तो राहुल गांधी को यूथ कांग्रेस की प्रधानगी का पदभार 25 सितंबर, 2007 को मिला था। उस समय चन्द्र में चन्द्र की दशा चल रही थी। चन्द्र नीच राशि में बैठा होने से पूर्ण फल ना दे सका अड़चनों से ज्यादा वास्ता रहा।
  • 16 दिसंबर, 2017 को राहुल गांधी ने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष का पद भार संभाला। इस समय मंगल में राहु का अंतर और शनि का प्रत्यंतर चल रहा था। मंगल छटे भाव (रोग और शत्रु भाव) का स्वामी है और शनि नीच राशि का होने से परेशानी बढ़ती ही जा रही है। लग्न का स्वामी बुध 12 वे स्थान पर बैठा है। बुध ग्रह बुद्धि पर और वाणी पर प्रभाव रखता है और बुध 12वें स्थान में लालकिताब के अनुसार नीच का माना जाता है, इसलिए वाणी और बुद्धि पर अच्छा असर नहीं मिलता। दशम भाव प्रोफेशन के बारे में बताता है जो पांचवें स्थान पर बैठा पूर्ण फलदायक नहीं होता। 2 रे भाव में शुक्र 9 अंश का होने से पूर्ण फल नहीं दे रहा। सूर्य और मंगल सप्तम पर पूर्ण दृस्टि डाल रहे है जो विवाह में बाधक है। इन परस्थितिओं में अच्छा राजनेता बनने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। गोचर में राहु 7 मार्च 2019 से इस कुण्डली में लग्न में बैठा होने से सेहत को नुकसान देगा। साढेसाती भी चल रही है जो मार्च 2020 को ख़त्म होगी।
  • गुरु ग्रह गोचर में 30 मार्च, 2019 से 22 अप्रैल, 2019 तक धनु राशि में होने से कुछ आराम मिलेगा। मगर गुरु 22 अप्रैल, 2019 से पुन: वृश्चिक राशि   करेगा और 5 नवम्बर 2019 तक तक यहीं पर रहेगा। जब गुरु चन्द्र पर आते हैं तो फल अच्छे नहीं मिलते।
स्टेलर ऑक्यूपेशनल इफेक्ट्स ऑफ़ जुपिटर Stellar Occupational Effects Of Jupiter में इसके बुरे फल बताये गए है इस में वर्णन है : When Jupier moves on Moon then there will be the ill effects on the native like fear, sorrows, disappointments, various illnesses, unwanted anxiety, all round difficulities.
अगर इस को ठीक करने के उपाय किये जाये तो बुरे प्रभाव खत्म किये जा सकते हैं।  इसके लिए हवन, पाठ-पूजा करने से काफी सुधार हो सकता है। निष्कर्ष में कहा जा सकता है कि 2019 में राहुल गांधी का प्रधानमंत्री बनना मुश्किल प्रतीत होता है, मगर प्रधानमंत्री बनाने में अहम भूमिका अदा कर सकते हैं।

पंडित दयानन्द शास्त्री, उज्जैन (म.प्र.)(ज्योतिष-वास्तु सलाहकार) 09669290067, 09039390067

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

नालागढ़ में धोखाधड़ी: 9 हजार रुपए लेकर थमा दी 2 लाख की गड्डी, गिरफ्तार

कुल्लू: डिस्‍पेंसरी में दवा पीने से 5 स्‍कूली बच्चे हुए बेहोश, हालत नाजुक

चंबा: कार खाई में गिरने से 2 की मौत,3 घायल

नालागढ़ में नाबालिग स्‍कूली छात्रा से जीजा ने किया रेप

बड़ी दुर्घटना: 200 मीटर गहरी खाई में गिरी कार, 4 बच्चों समेत 6 की मौत, 4 जख्मी

फर्जी दस्‍तावेज लेकर पीएनबी बैंक में नौकरी ज्‍वाइन करने पहुंची महिला, धरी गई

बड़ी खबर: फ़तेहपुर के जंगलों में आसमान से गिरा 'बम', धमाके के बाद भड़क उठी आग

सीएम ने दुबई में एसीएआई के सदस्यों के साथ बैठक कर निवेश के लिए आमंत्रित किया

मधुमक्‍खी पालन विकास समिति की रिपोर्ट जारी, जानें कैसे दोगुनी होगी आय

धर्मशाला में होगा द ग्रेट खली शो, विदेशी पहलवानों सहित कांगड़ा के युवा लेंगे भाग

रिश्वतखोर हेडमास्टर और मास्टर को एक दिन का पुलिस रिमांड

बिना अनुमति किन्नर कैलाश यात्रा पर निकले, शिमला और हरियाणा निवासी युवकों की मौत

चंडीगढ़-मनाली एनएच पर खतरा बढ़ा, तीन परिवार हुए बेघर, गौशालाओं में रहने को मजबूर लोग

बस ऑपरेटर सात दिन में आरटीओ ऑफिस में दें चालकों की पूरी जानकारी

दोस्तों संग नहाने गया किशोर बाता नदी में डूबा, तलाश जारी

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है