Covid-19 Update

1243
मामले (हिमाचल)
931
मरीज ठीक हुए
09
मौत
9,06,380
मामले (भारत)
13,133,976
मामले (दुनिया)

लक्ष्मी उपासना का पर्व दिवाली 

लक्ष्मी उपासना का पर्व दिवाली 

- Advertisement -

कहते हैं लक्ष्मी के सहस्र चरण हैं पर वह अंधेरे में नहीं आ पाती। वह केवल प्रकाश में अपना रास्ता तय करती है। इसी लिए इस महानिशा में असंख्य दीप जला कर लक्ष्मी का आह्वान किया जाता है। ऐसे में लक्ष्मी अंधकार के प्रतीक उल्लू को अपनी सवारी बनाकर आलोक रश्मियों के रथ पर सवार हो कर आती है।
वास्तव में लक्ष्मी महादेवी का एक रूप है और वह अनेक रूपों में धरती पर आती है। दीपावली लक्ष्मी उपासना का पर्व है तथा इसे धन-धान्य, सुख-संपदा के लिए सर्वोत्तम माना गया है। जरूरी यह भी है कि लक्ष्मी-गणेश जी की प्रतिमाओं के साथ कुबेर प्रतिमा या चित्र की भी स्थापना करें। कुबेर देवताओं के कोषाध्यक्ष हैं, वे आपके भी धन की रक्षा करेंगे और इस तरह अनायास होने वाला धन का खर्च बचा रहेगा। भगवती लक्ष्मी साक्षात नारायणी हैं और सभी चल व अचल में सामान्य रूप से निवास करती हैं। भगवान गणेश शुभ और लाभ के नियामक तथा सभी अमंगलों और विघ्नों के नाशक हैं। अत: इनके एक साथ पूजन से मनुष्य मात्र का कल्याण होता है। इनका विधि विधान से पूजन करें और सामग्री पहले ही एकत्र कर लें।
सामग्री- लक्ष्मी व गणेश जी तथा कुबेर की मूर्तियां,सोने अथवा चांदी का सिक्का, कलश,स्वच्छ कपड़ा, चौकी, धूप-अगरबत्ती, मिट्टी के छोटे-बड़े दीपक, सरसों का तेल, शुद्ध घी, दूध -दही ,शुद्धजल और गंगा जल। हल्दी, रोली, चंदन, कलावा, लाल कपड़ा, कपूर, नारियल, पान के पत्ते, चीनी के खिलौने, खील, सूखे मेवे, मिठाई, छोटी इलायची, कुमकुम, वंदनवार और फूल।
विधि- दीपावली के दिन सुंदर सा वंदनवार अपने मुख्य द्वार पर लगाएं। चौकी धो कर साफ करें , उस पर लाल कपड़ा बिछा कर लक्ष्मी व गणेश तथा कुबेर की मूर्तियां इस प्रकार रखें कि उनका मुख पूर्व या पश्चिम में हो। लक्ष्मी जी की मूर्ति गणेश जी की दाहिनी ओर रखें। कलश को जल से भरें, उसमें सिक्का डाल कर मौली बांधें और लक्ष्मी जी के सामने चावलों की ढेरी पर स्थापित करें। नारियल को लाल कपड़े में लपेट कर कलश पर स्थापित करें। कलश वरुण का प्रतीक है इस लिए मन ही मन वरुण का आवाहन करें। अब दो बड़े दीपक रखें, एक में तेल और एक में घी भरें। एक दीपक चौकी के दाईं ओर रखें और दूसरा घी वाला दीपक मूर्तियों के चरणों में रखें एक ओर दीपक गणेश जी के सामने रखें।
प्रतिमाओं तथा चांदी के सिक्कों की विधिवत पूजा कर सिंदूर, कुंकुम एवं अक्षत से चर्चित करें। पुष्पों और पुष्प मालाओं से अलंकृत करें। हो सके तो इस पूजा में कमल पुष्पों का प्रयोग करें। नैवेद्य में लाल मिठाई तथा मेवे चढ़ाएं। इसके बाद दीपमालिका का पूजन करें। किसी पात्र में 11,21 या इससे अधिक दीपक जला कर लक्ष्मी के सामने रखें और उनका पूजन करें। इसके बाद सभी दीपकों को जला कर घर के हर स्थान पर रखें। ध्यान रखें लक्ष्मी पूजन करते समय हाथ नहीं जोडऩा चाहिए यह विदा देने की रस्म है इसलिए  मन में ही नमन करें और कहें कि आपका तथा कुबेर जी का हमेशा हमारे घर में स्थिर निवास बना रहे।
लक्ष्मी पूजा के समय घरके हर सदस्य को पूजा स्थल पर मौजूद होना चाहिए और हर व्यक्ति लक्ष्मी जी की आरती करे व गाए यह भी जरूरी है। यदि इस प्रकार  पूजा संपन्न करेंगे तो निश्चय ही लक्ष्मी का आपके घर में  स्थायी निवास होगा।

- Advertisement -

loading...
loading...
Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Solan: झाड़ियों में मिली अधजली लाश से सहमे लोग, पुलिस जांच में खुला रहस्य

Kangra और शिमला में 4 कोरोना पॉजिटिव, 7 हुए ठीक- हिमाचल में आंकड़ा 1300 पार

NIT हमीरपुर के Director की एडमिनीस्ट्रेटिव व फाइनेंशियल पॉवर छीनी

राठौर बोले, Buses में 100% सिटिंग कैपेसिटी को लेकर CM Jai Ram व गोविंद पर दर्ज हो FIR

CBSE : दसवीं के Result से सस्पेंस खत्म, कब आएगा जानने के लिए करें क्लिक

एनकाउंटर में मारे गए Vikas Dubey के घर से पुलिस ने बरामद की AK-47, कारतूस, शशिकांत भी गिरफ्तार

कोल्डड्रिंक्स से भरा Truck, कार से जा टकराया, चार घायल - Accident के बाद लंबा जाम

Himachal में महिला के फाड़ डाले कपड़े-अश्लील हरकतों के विरोध पर दबाया गला

हिमाचल ब्रेकिंग : ITBP के तीन जवानों सहित परिजन भी Corona Positive, एक फौजी भी लपेटे में

बिहार में कोरोना बेकाबू : एक दिन में मंत्री समेत दो MLA निकले पॉजिटिव, लग सकता है पूर्ण लॉकडाउन !

First Hand : हिमाचल की गहरी खाई में जा गिरी Car, दो घरों के इकलौते चिराग बुझे

Covid-19 महामारी पर WHO की चेतावनी - और भी खतरनाक होती जा रही है स्थिति

भारत में 10 अरब डॉलर का निवेश करेगी Google, सुंदर पिचाई ने की घोषणा

कोरोना अपडेटः Solan के 21 मामलों सहित 30 मामले, 11 जीते जंग

अधिकारियों व कर्मचारियों के Departmental Examination की अधिसूचना जारी

loading...
Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

HP : Board

CBSE : दसवीं के Result से सस्पेंस खत्म, कब आएगा जानने के लिए करें क्लिक

CBSE : 12वीं का परीक्षा परिणाम घोषित, 88.7 फीसदी रहा Result

Himachal में अब मंत्री-विधायक नहीं कर पाएंगे शिक्षकों की Transfer, जानिए क्या होगी नई प्रक्रिया

ICSE की 10वीं और ISC की 12वीं परीक्षा का रिजल्ट हुआ आउट: यहां चेक करें

कल दोपहर 3 बजे घोषित होगा ICSE की 10वीं और ISC की 12वीं परीक्षा का रिजल्ट

बड़ी खबरः अब 12 को नहीं होगी D.El.Ed CET प्रवेश परीक्षा, कब होगी-जानिए

हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने TET के लिए आवेदन तिथि बढ़ाई, कल तक कर सकते हैं आवेदन

CBSE ने सिलेबस से हटाए राष्ट्रवाद, Secularism जैसे Chapters,और भी बहुत कुछ

HRD मंत्री का ऐलान: CBSE कक्षा 9 से 12वीं तक के सिलेबस को 30% तक करेगा कम

हिमाचल में B.Ed करने के इच्छुकों के लिए राहत देने वाली है ये रपट, क्लिक करें

UGC के निर्देश : सितंबर के अंत तक करवानी होंगी UG Final Semester की परीक्षाएं, और भी बहुत कुछ, जानें

Kendriya Vidyalaya: फेल नहीं होंगे 9वीं-11वीं के छात्र; बिना परीक्षा के प्रोजेक्ट वर्क के जरिए होंगे प्रोमोट

हिमाचल के स्कूलों में Morning Prayer सभा एक जैसी हो, शिक्षा बोर्ड कर रहा तैयारी

SOS अगस्त व सितंबर की परीक्षाओं के ऑनलाइन पंजीकरण की तिथियां घोषित

CBSE ने टीचर्स के लिए शुरू किए Online कोर्स: यहां देखें डीटेल्स


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है