Covid-19 Update

2879
मामले (हिमाचल)
1714
मरीज ठीक हुए
12
मौत
1,906,121
मामले (भारत)
18,570,148
मामले (दुनिया)

खेलों में नाम करने वालों की कुंडली में मंगल का योगदान

मंगल से मिलता है साहस, शारीरिक बल, मानसिक क्षमता

खेलों में नाम करने वालों की कुंडली में मंगल का योगदान

- Advertisement -

कुछ समय पहले तक माता-पिता अपने बच्चों का खेल को करियर के रूप अपनाना ठीक नहीं समझते थे। परन्तु आज के समय में खेल को लेकर सभी का दृष्टिकोण बदल गया है। वर्तमान में खेलों में करियर बनाना एक सुनहरा अवसर माना जाने लगा है और अभिभावक भी अपने बच्चों का इसमें पूरा सहयोग करते हैं।


ज्योतिषीय दृष्टिकोण से देखें तो विशेष रूप से तो “मंगल” को ही खेलों या स्पोर्ट्स का कारक मना गया है क्योंकि खेलों में सफलता के लिए व्यक्ति का शारीरिक गठन, मांसपेशियां, फिटनेस और कार्य और पुरुषार्थ-क्षमता बहुत अच्छी होनी चाहिए इसके अलावा हिम्मत, शक्ति, पराक्रम, निर्भयता और प्रतिस्पर्धा का सामना करना एक अच्छे खिलाड़ी के गुण होते हैं। इन सभी का नियंत्रक ग्रह मंगल होता है इसलिए खेल में जाने के लिए हमारी कुंडली में मंगल का अच्छी स्थिति में होना बहुत आवश्यक है। मंगल के प्रबल प्रभाव वाले जातक शारीरिक रूप से बलवान तथा साहसी होते हैं। ऐसे जातक स्वभाव से जुझारू होते हैं तथा विपरीत से विपरीत परिस्थितियों में भी हिम्मत से काम लेते हैं तथा सफलता प्राप्त करने के लिए बार-बार प्रयत्न करते रहते हैं और अपने रास्ते में आने वाली बाधाओं तथा मुश्किलों के कारण आसानी से विचलित नहीं होते।

मंगल आम तौर पर ऐसे क्षेत्रों का ही प्रतिनिधित्व करते हैं जिनमें साहस, शारीरिक बल, मानसिक क्षमता आदि की आवश्यकता पड़ती है जैसे कि पुलिस की नौकरी, सेना की नौकरी, अर्ध-सैनिक बलों की नौकरी, अग्नि-शमन सेवाएं, खेलों में शारीरिक बल तथा क्षमता की परख करने वाले खेल जैसे कि कुश्ती, दंगल, टेनिस, फुटबाल, मुक्केबाजी तथा ऐसे ही अन्य कई खेल जो बहुत सी शारीरिक उर्जा तथा क्षमता की मांग करते हैं।

मंगल ग्रह शारीरिक तथा मानसिक शक्ति और ताकत का प्रतिनिधित्व करता है। मंगल के प्रबल प्रभाव से व्यक्ति में साहस , लड़ने की क्षमता और निड़रता का भाव आता है।
मंगल के प्रभाव स्वरुप जातक सामान्यतयः किसी भी प्रकार के दबाव के आगे नहीं झुकता। मंगल के द्वारा साहस, शारीरिक बल, मानसिक क्षमता प्राप्त होती है। पुलिस, सेना, अग्नि-शमन सेवाओं के क्षेत्र में मंगल का अधिकार है खेल कूद इत्यादि में जोश और उत्साह मंगल के प्रभाव से ही प्राप्त होता है।

यह भी पढ़ें: सुंदरनगरः Dental College की छात्रा से ऑनलाइन ठगी, UP के युवक-युवती गिरफ्तार

मंगल को ज्योतिष शास्त्र में व्यक्ति के साहस, छोटे भाई-बहन, आन्तरिक बल, अचल सम्पति, रोग, शत्रुता, रक्त शल्य चिकित्सा, विज्ञान, तर्क, भूमि, अग्नि, रक्षा, सौतेली माता, तीव्र काम भावना, क्रोध, घृ्णा, हिंसा, पाप, प्रतिरोधिता, आकस्मिक मृत्यु, हत्या, दुर्घटना, बहादुरी, विरोधियों, नैतिकता की हानि का कारक ग्रह ।

इसके अतिरिक्त मंगल ऐसे क्षेत्रों तथा व्यक्तियों के भी कारक होते हैं जिनमें हथियारों अथवा औजारों का प्रयोग होता है जैसे हथियारों के बल पर प्रभाव जमाने वाले गिरोह, शल्य चिकित्सा करने वाले चिकित्सक तथा दंत चिकित्सक जो चिकित्सा के लिए धातु से बने औजारों का प्रयोग करते हैं।

जानिए खेलों में कामयाबी योग

कुंडली का पहला, दूसरा, चौथा, सातवा, नौवा, दसवा, ग्यारहवा घर तथा इन घरों के स्वामी अपनी दशा और अंतर्दशा में जातक को कामयाबी प्रदान करते है।
यदि मंगल बलि होकर कुंडली के दशम भाव में बैठा हो या दशम भाव पर मंगल की दृष्टि हो तो स्पोर्ट्स में सफलता मिलती है।

खेलों में सफलता या अच्छा करियर बनाने में मुख्य रूप से मंगल की भूमिका तथा तीसरे और छटे भाव की सहायक भूमिका है परन्तु इसके अतिरिक्त किसी भी खेल से जुड़े खिलाड़ी की कुंडली में “बुध” जितना मजबूत और अच्छी स्थिति में होगा वह खिलाड़ी उतना ही जल्दी और अच्छे निर्णय ले पाएगा जिससे प्रतिस्पर्धा में आगे बढ़ने में सहायता होगी अतः एक खिलाड़ी की कुंडली में बुध का मजबूत होना उसकी क्षमताओं को कई गुना बढ़ा देता है ।

जो ग्रह अपनी उच्च, अपनी या अपने मित्र ग्रह की राशि में हो,शुभ फलदायक होगा।
इसके विपरीत नीच राशि में या अपने शत्रु की राशि में ग्रह अशुभफल दायक होगा।जो ग्रह अपनी राशि पर दृष्टि डालता है, वह शुभ फल देता है।
-त्रिकोण के स्वा‍मी सदा शुभ फल देते हैं। क्रूर भावों (3,6,11) के स्वामी सदा अशुभ फल देते हैं।
दुष्ट स्थानों (6,8,12) में ग्रह अशुभ फल देते हैं। शुभ ग्रह केन्द्र (1,4,7,10) में शुभफल देते हैं, पाप ग्रह केन्द्र में अशुभ फल देते हैं।
-बुध, राहु और केतु जिस ग्रह के साथ होते हैं, वैसा ही फल देते हैं। सूर्य के निकट ग्रह अस्त हो जाते हैं और अशुभ फल देते हैं।

यदि मंगल , शनि से पांचवे या नौवें भाव में बलि होकर बैठा हो तो भी स्पोर्ट्स में सफलता मिलती है।
तीसरे भाव के स्वामी का तीसरे भाव में ही बैठना या तीसरे भाव को देखना भी स्पोर्ट्स में जाने के लिए सहायक होता है।
षष्टेश का छटे भाव में बैठना या छटे भाव को देखना भी एक खिलाड़ी के लिए सहायक होता है।
कुंडली के तीसरे भाव में क्रूर ग्रहों ( राहु, केतु, शनि, मंगल, सूर्य) का होना एक खिलाडी का प्रक्रम बढ़ा कर उसे प्रतिस्पर्धा में आगे रखता है। यदि तृतीयेश दसवें भाव में हो और मंगल ठीक स्थिति में हो तो भी खेलों में सफलता मिलती है।
पंचमहापुरुष योगों में से “रूचक-योग” का कुंडली में बनना स्पोर्ट्स में सफलता दिलाता है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

loading...
loading...
Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

हिमाचल में नूरपुर बनेगा Police District, मामला फाइनल स्टेज पर

Corona Update: चंबा में एक साथ सामने आएं 17 Case, कांगड़ा और चंबा से 4-4

फील्ड के आदी  हैं CM Jai Ram ,लेकिन मौका हाथ नहीं लग पा रहा ,रोचक है मामला

Himachal से सटी सीमा पर चीनी गतिविधियों पर कड़ी नजर रखें, खुफिया तंत्र को मजबूत करें

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस यूजिंग पायथन के Training Program के पहले बैच में ये हुए पास

Apple Season के दौरान  बागवानों को एक क्लिक पर उपलब्ध होंगे मजदूर , जानें कैसे

इन 4 जिला के युवकों के लिए निकली सेना में भर्ती , जल्द करेंआवेदन

अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास पर Himachal में जश्न, घी के दीये जलाकर बांटे जा रहे लड्डू

Big Breaking: नियमित किए गए PTA, पैट और पैरा शिक्षक; जारी हुई आधिकारिक अधिसूचना

निर्वासित Tibet सरकार के चुनाव का बज गया डंका, ऐसे होंगे इस मर्तबा नियम

Job : ग्राम रोजगार सेवकों के भरे जाएंगे पद, जल्दी करें समय बचा है बहुत कम

हिमाचलः पति ने पत्नी की गोली मारकर ले ली जान, Hospital ले जाने तक हो चुकी थी ढेर

Himachal के Kinnaur में फटा बादल : चोलिंग आर्मी हेलीपैड पर घुसा मलबा

Video : बड़े धमाके से दहला Beirut, अब तक 78 की गई जान, 4000 हुए घायल

Ayodhya में राम मंदिर भूमि पूजन पर TV के राम-सीता ने इस तरह से जाहिर की खुशी

loading...
Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

HP : Board

शिक्षा बोर्ड ने SOS परीक्षाओं के लिए आवेदन तिथि बढ़ाई- जाने नई डेट

कोरोना संकट चलता रहा तो Students को घर पर ही मिल जाएगी वर्दी-बैग

Himachal में यहां मेधावी बेटियों को प्रतियोगी परीक्षाओं की मिलेगी निशुल्क Coaching

Breaking : हिमाचल में अब ई-पीटीएम, अभिभावक रख सकेंगे अपनी बात खुलकर

Covid-19 के चलते HPBOSE ने स्थगित की TET की परीक्षाएं, 2 अगस्त से होनी थी शुरू

9वीं से 12वीं के पाठ्यक्रम में कटौती को कवायद तेज, सरकार को भेजा जाएगा Proposal

Himachal में संस्कृत विश्वविद्यालय के लिए चिन्हित की जा रही जमीन

HPU ने यूजी के छात्रों को दी राहत, घर के नजदीक कॉलेजों में दे सकेंगे परीक्षा

TGT के इन 89 पदों पर होगी बैचवाइज भर्ती, दुर्गम और दूरदराज क्षेत्रों में मिलेगी तैनाती

इस दिन से शुरू होंगी यूजी अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं, HPU ने जारी की डेटशीट

HPBOSE ने D.El.Ed CET परीक्षा की Answer Key दोबारा की अपलोड

बड़ी खबरः JBT और शास्त्री टैट की परीक्षा को लेकर बोर्ड का बड़ा फैसला

SOS जमा दो का रिजल्ट आउट, 10वीं और 12वीं के नियमित छात्रों को भी राहत

HPBOSE: टैट की परीक्षा के लिए Admit Card जारी, ऐसे करें डाउनलोड

टैट के 52,859 आवेदनों में 4,146 बिना फीस के आए, Board ने जारी की लिस्ट


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है