Covid-19 Update

20,586
मामले (हिमाचल)
17,764
मरीज ठीक हुए
288
मौत
7,946,429
मामले (भारत)
43,820,929
मामले (दुनिया)

नाग पंचमी के दिन क्यों है धरती खोदना निषिद्ध

नाग पंचमी के दिन क्यों है धरती  खोदना निषिद्ध

- Advertisement -

हिन्दू धर्म में सावन मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी का विशेष महत्व है। आदि काल से ही इस दिन नाग देवता की पूजा की जाती है और नागों को दूध पिलाया जाता है। इस दिन लोग नाग देवता के दर्शन को शुभ मानते हैं। ऐसी मान्यता है के इस दिन नाग देवता की पूजा करने से और उसे दूध पिलाने ने सारे बुरे प्रभाव दूर हो जाते हैं। सांप बिल में रहता है और अधिकांशतः एकान्त का सेवन करता है। इसलिए किसी भी साधक को जनसमूह को टालना चाहिए। इस बारे में सांप का उदाहरण दिया जाता है। देव-दानवों द्वारा किए गए समुद्र मंथन में साधन रूप बनकर वासुकी नाग ने दुर्जनों के लिए भी प्रभु कार्य में निमित्त बनने का मार्ग खुला कर दिया है। दुर्जन मानव भी यदि सच्चे मार्ग पर आए तो वह सांस्कृतिक कार्य में अपना बहुत बड़ा योग दे सकता है और दुर्बलता सतत खटकती रहने पर ऐसे मानव को अपने किए हुए सत्कार्य के लिए ज्यादा घमंड भी निर्माण नहीं होगा।

दुर्जन भी यदि भगवद् कार्य में जुड़ जाए तो प्रभु भी उसको स्वीकार करते हैं, इस बात का समर्थन शिव ने सांप को अपने गले में रखकर और विष्णु ने शेष-शयन करके किया है। समग्र सृष्टि के हित के लिए बरसते बरसात के कारण निर्वासित हुआ सांप जब हमारे घर में अतिथि बनकर आता है तब उसे आश्रय देकर कृतज्ञ बुद्धि से उसका पूजन करना हमारा कर्त्तव्य हो जाता है। इस तरह नाग पंचमी का उत्सव श्रावण महीने में ही रखकर हमारे ऋषियों ने बहुत ही औचित्य दिखाया है।

नाग पूजा की विधि

  • प्रातः उठकर घर की सफाई कर नित्यकर्म से निवृत्त हो जाएं। पश्चात स्नान कर साफ-स्वच्छ वस्त्र धारण करें।
  • पूजन के लिए सेंवई-चावल आदि ताजा भोजन बनाएं। कुछ भागों में नाग पंचमी से एक दिन भोजन बना कर रख लिया जाता है और नागपंचमी के दिन बासी खाना खाया जाता है।
  • इसके बाद दीवाल पर गेरू पोतकर पूजन का स्थान बनाया जाता है। फिर कच्चे दूध में कोयला घिसकर उससे गेरू
  • पुती दीवाल पर घर जैसा बनाते हैं और उसमें अनेक नागदेवों की आकृति बनाते हैं।
  • कुछ जगहों पर सोने, चांदी, काठ व मिट्टी की कलम तथा हल्दी व चंदन की स्याही से अथवा गोबर से घर के मुख्य दरवाजे के दोनों बगलों में पांच फन वाले नागदेव अंकित कर पूजते हैं।

  • सर्वप्रथम नागों की बांबी में एक कटोरी दूध चढ़ा आते हैं और फिर दीवाल पर बनाए गए नागदेवता की दधि, दूर्वा, कुशा, गंध, अक्षत, पुष्प, जल, कच्चा दूध, रोली और चावल आदि से पूजन कर सेंवई व मिष्ठान से उनका भोग लगाते हैं।
  • पश्चात आरती कर कथा श्रवण करना चाहिए। पूरे श्रावण माह विशेष कर नागपंचमी को धरती खोदना निषिद्ध है। इस दिन व्रत करके सांपों को खीर खिलाई जाती है व दूध पिलाया जाता है।
  • कहीं-कहीं सावन माह की कृष्ण पक्ष की पंचमी को भी नाग पंचमी मनाई जाती है। इस दिन सफेद कमल पूजा में रखा जाता है।

नाग पंचमी के दिन क्या करें

  • इस दिन नागदेव का दर्शन अवश्य करना चाहिए।
  • बांबी (नागदेव का निवास स्थान) की पूजा करना चाहिए।
  • नागदेव की सुगंधित पुष्प व चंदन से ही पूजा करनी चाहिए क्योंकि नागदेव को सुगंध प्रिय है।

नाग पंचमी के दिन अष्टनागों की पूजा

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Mandi में सियासत गरमाई, Kaul की बेटी और पूर्व जिलाध्यक्ष ने Congress टिकट को जताई दावेदारी

Cabinet: श्रीनगर में शहीद जवान की बहन को मिलेगी नौकरी, JOA पद पर होगी तैनाती

#HPSSC: कंप्यूटर ऑपरेटर के पदों को किया है आवेदन तो पढ़ें यह खबर

Jairam Cabinet: भरे जाएंगे कांस्टेबल के 1334 पद; SMC शिक्षकों को भी राहत, जानें

#Cabinet Breaking: तीन नए नगर निगम और 6 नई नगर पंचायत बनाने का हुआ ऐलान

सरकार ने नहीं ली सुध, करुणामूलक संघ का आमरण अनशन शुरू- दी यह चेतावनी

बिहार में सत्ता के अहंकार में डूबी सरकार की ना करनी अच्छी है, ना कथनी: सोनिया गांधी

पतलीकूहल में Parapit से टकराकर सड़क पर गिरी Bike, एक की मौत, दूसरा गंभीर

#Viral_Video : रामलीला के बीच में बजने लगा पंजाबी गाना तो रावण ने शुरू कर दिया भांगड़ा

61 वर्षीय शख्स ने 453 पियर्सिंग करवाकर बनाया रिकॉर्ड, पूरे शरीर में बनाए टैटू, सिर पर लगाए सींग

370 हटने के बाद लद्दाख का पहला चुनाव: BJP ने मारी बाजी, 26 में से 15 सीटों पर जमाया कब्जा

ग्रेजुएट्स के लिए सुनहरा मौका: ग्रामीण बैंकों में 8424 सरकारी नौकरियां, #Himachal में भी होगी भर्ती

#Corona_Update: हिमाचल में 2511 एक्टिव केस, आज 216 मामले और 192 ठीक

#Kangra के बीड़ बिलिंग की तरह Mandi में जल्द उड़ते दिखेंगे मानव परिंदे

सरकारी नौकरी: HP में 10वीं पास के लिए एक्साइज एंड टैक्सेशन विभाग ने मांगे ड्राइवर के पदों पर आवेदन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board

#Himachal के इन स्कूलों में सर्दियों की छुट्टियों पर चलेगी कैंची, प्रस्ताव तैयार

जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा 6 का #Entrance_Exam अब 7 नवंबर को

स्कूलों के बाद अब Colleges खोलने की तैयारी, नवंबर से आएंगे Practical विषयों के छात्र

TET Exam में इन अभ्यर्थियों को मिली छूट, बिना आवेदन दे सकेंगे परीक्षा, बस करना होगा ये काम

#Himachal में School खोलने की तैयारी में सरकार, क्या रहेगा प्लान पढ़े यहां

Big Breaking: हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने टैट परीक्षा का शेड्यूल किया जारी- जानिए

#HPBose: 9वीं, 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षाओं के छात्रों को बड़ी राहत- पढ़ें खबर

हिमाचल में 100% मास्टर जी लौट आए #School, बनने लगा स्टूडेंट्स के लिए माइक्रो प्लान

SMC शिक्षकों को बड़ी राहत, #Supreme_Court ने हिमाचल हाईकोर्ट के फैसले पर लगाई रोक

गोविंद ठाकुर बोले- #Himachal में स्कूल खोलने हैं या नहीं, 9 को होगा फैसला

शिक्षा विभाग ने तैयार किया #Himachal में स्कूल खोलने का प्रस्ताव; जानें क्या है योजना

D.El.Ed CET 2020: 12 से 23 अक्टूबर तक होगी स्क्रीनिंग, अभ्यर्थी करें ऐसा

Himachal में 530 हेड मास्टर और लेक्चरर बने प्रिंसिपल, पर वेतन बढ़ोतरी को करना होगा इंतजार

बिग ब्रेकिंगः हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने आठ विषयों की TET परीक्षा का Result किया आउट

#HPBose: बोर्ड ने छात्र हित में लिया फैसला, 30 तक बढ़ाई यह तिथि



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है