Covid-19 Update

400
मामले (हिमाचल)
194
मरीज ठीक हुए
05
मौत
2,46,628
मामले (भारत)
68,91,213
मामले (दुनिया)

श्राद्ध में ब्राह्मण को भोजन करवाना क्यों हैं आवश्यक

सभी पकवान पितरों की पसंद के होने चाहिए

श्राद्ध में ब्राह्मण को भोजन करवाना क्यों हैं आवश्यक

- Advertisement -

धर्म ग्रंथों के अनुसार ब्राह्मणों के साथ वायु रूप में पितृ भी भोजन करते हैं।मान्यता है कि ब्राह्मणों द्वारा किया गया भोजन सीधे पितरों तक पहुंचता है। श्राद्ध में ब्राह्मणों को भोजन करवाना एक जरूरी परंपरा है।


यह भी पढ़ें :-पितृपक्ष : क्या करें मृत आत्मा की शांति के लिए, पढ़ें


  • पितृ पक्ष में श्राद्ध कर्म के बाद ब्राह्मण भोज कराने का विधान बताया गया है। हिंदू धर्मशास्त्रों के मुताबिक, श्राद्ध वाले दिन पितृ लोग खुद ब्राह्मण वेष धारण कर भोजन ग्रहण करते हैं। इसलिए श्राद्धकर्म कराने वाले हर व्यक्ति को ब्राह्मण भोज अवश्य कराना चाहिए।
  • श्राद्ध कर्म करने वाले संबंधित व्यक्ति को ब्राह्मण भोज के दौरान कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना चाहिए, जिससे पितरों का आशीर्वाद मिलता है।
  • श्राद्ध के निमित्त भोजन में खीर पूरी अनिवार्य है। जौ, मटर और सरसों का उपयोग श्रेष्ठ माना गया है। पकवान पितरों की पसंद के होने चाहिए।
    गंगाजल, दूध, शहद, कुश और तिल सबसे ज्यादा ज़रूरी है।
    तिल ज़्यादा होने से उसका फल अक्षय होता है। तिल पिशाचों से श्राद्ध की रक्षा करते हैं।


श्राद्ध के भोजन में क्या न बनाएं या परोसेः चना, मसूर, उड़द, कुलथी, सत्तू, मूली, काला जीरा-कचनार, खीरा, काला उड़द, काला नमक, लौकी, प्याज और लहसन -बड़ी सरसों, काले सरसों की पत्ती और बासी, खराब अन्न, फल और मेवे

  • ब्राह्मणों को रेशमी, ऊनी, लकड़ी, कुश जैसे आसन पर भी बैठाएं।
    लोहे के आसन पर ब्राह्मणों को कभी न बैठाएं। मान्यता है कि ब्राह्मणों को भोजन करवाए बिना श्राद्ध कर्म अधूरा माना जाता है। इसलिए विद्वान ब्राह्मणों को पूरे सम्मान और श्रद्धा के साथ भोजन कराने पर पितृ भी तृप्त होकर सुख-समृद्धि का आशीर्वाद देते हैं।
  • भोजन करवाने के बाद ब्राह्मणों को घर के द्वार तक पूरे सम्मान के साथ विदा करना चाहिए क्योंकि कहते हैं ब्राह्मणों के साथ-साथ पितृ भी चलते हैं।
  • श्राद्ध तिथि पर सबसे पहले ब्राह्मणों को आमंत्रित करें।
  • उन्हें दक्षिण दिशा में ही बैंठाएं, क्योंकि दक्षिण दिशा में ही पितर लोग वास करते हैं। हाथ में अक्षत, फूल, जल और तिल लेकर संकल्प कराएं। गाय, कुत्ते, चींटी तथा देवगण को भोजन अर्पित करने के बाद ही ब्राह्मणों को भोजन कराएं।

  • ब्राह्मण देवता को दोनों हाथों से ही भोजन परोसें, एक हाथ से परोसा भोजन पितर को नहीं मिलता है। बिना ब्राह्मण भोज के पितर श्राप देकर अपने लोक को लौट जाते हैं। भोजन कराने के बाद ब्राह्मणों को कपड़े, अनाज और दक्षिणा देकर आशीर्वाद लें।इतना ही नहीं ब्राह्मण भोज के पश्चात उन्हें उनके द्वार तक छोड़ें।
    ब्राह्मण भोज के बाद खुद तथा अपने रिश्तेदारों को भी भोजन जरूर कराएं।
  • पितृ पक्ष में अगर कोई भिक्षा मांगे तो उसे आदर के साथ भोजन कराएं। कुत्ते और कौए का भोजन, कुत्ते और कौए को ही खिलाएं। दामाद, भांजे और बहन को भोजन कराए बिना पितर भी भोजन नहीं करते हैं।
  • श्राद्ध के दिन यदि कोई तपस्वी ब्राह्मण, अतिथि या साधु-सन्यासी घर पर पधारें तो उन्हें भी भोजन कराना चाहिए। श्राद्धकर्त्ता को घर पर आये हुए ब्राह्मणों के चरण धोने चाहिए। फिर अपने हाथ धोकर उन्हें आचमन करना चाहिए। तत्पश्चात उन्हें आसनों पर बैठाकर भोजन कराना चाहिए।
  • पितरों के निमित्त अयुग्म अर्थात एक, तीन, पांच, सात इत्यादि की संख्या में तथा देवताओं के निमित्त युग्म अर्थात दो, चार, छः, आठ आदि की संख्या में ब्राह्मणों को भोजन कराने की व्यवस्था करनी चाहिए। देवताओं एवं पितरों दोनों के निमित्त एक-एक ब्राह्मण को भोजन कराने का भी विधान है।

पंडित दयानंद शास्त्री, उज्जैन (म.प्र.) (ज्योतिष-वास्तु सलाहगाड़ी) 09669290067, 09039390067

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

अब Delhi के अस्पतालों में होगा सिर्फ दिल्लीवासियों का इलाज, सोमवार से Border भी खुलेंगे

कोरोना की चपेट में IAS Officer, स्वास्थ्य विभाग में कर रहे थे स्पेशल ड्यूटी

प्रवासी मजदूरों को रोजगार दिलाने के लिए एक्शन में Govt, 6 राज्यों को किया मार्क

असंतुष्ट BJP Leaders की बैठक के लिए एसडीएम ने XEN PWD को लिया लपेट, भेजा Notice

हिमाचल में दूसरे राज्यों की बसों को No Entry, क्यों उठाया सरकार ने ये कदम पढ़ें

ब्रेकिंगः Viral Audio Case में विजिलेंस ने की बड़ी कार्रवाई, एक और गिरफ्तार

Corona की रेस में Italy और Spain को भी पीछे छोड़ पांचवें नंबर पर पहुंचा भारत

Coronavirus का पीक पर आना अभी बाकी, कम्युनिटी ट्रांसफर का भी खतरा

Corona Update: आज सात नए मामलों के साथ हिमाचल में आंकड़ा पहुंचा 400

नाहन: कांशीवाला में बीच सड़क पलटा Truck, नीचे दबे 6 प्रवासी- गंभीर घायल

Una में 21 वर्षीय विवाहिता कोरोना पॉजिटिव, कोई Travel History नहीं- गांव में ही रह रही थी

Bilaspur: विस्फोटक से गर्भवती गाय को घायल करने वाला आरोपी Arrest

Kangra मिशन रोड निर्माण में घोटाले का आरोप, 42 लाख के भुगतान पर रोक

Fake Degree Case: राणा को High Court से मिली अग्रिम जमानत, जांच में करना होगा सहयोग

आला अधिकारी ने फर्जीवाड़ा कर पत्नी की लगाई Job, सरकार ने तलब किया रिकॉर्ड

loading...
Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

HP : Board

स्कूली छात्र-छात्राओं को अटल स्कूल वर्दी योजना के तहत School Bags की खरीद को मंजूरी

Breaking: एसओएस की 10वीं व जमा दो कक्षा के प्रैक्टिकल की Datesheet जारी,  यहां पर पढ़ें पूरी खबर

निजी स्कूलों को राहत,पहली जून से ले सकेंगे Fees, नहीं लगेगा कोई जुर्माना

Breaking: लॉकडाउन के बीच हिमाचल के Schools में 15 जून तक छुट्टियां घोषित, ये रहा अहम कारण

ब्रेकिंगः 12वीं Geography और 10वीं वाद्य संगीत व गृह विज्ञान परीक्षा की तिथि घोषित

लाॅकडाउन के बीच Employment का मौका, Himachal में एक कंपनी भरने जा रही है 800 से ज्यादा पद

CBSE: 15,000 से अधिक सेंटरों में आयोजित होंगी 10वीं-12वीं की बची हुई परीक्षाएं, जानिए डिटेल

ICSE की 10वीं और ISC की 12वीं की बची हुई परीक्षाएं 1 जुलाई से 14 जुलाई तक

CBSE: अपने ही स्कूलों में बचे हुए सब्जेक्ट्स के Exam देंगे छात्र; जानें कब आएगा रिजल्ट

D.EL.ED CET- 2020 की तिथि घोषित, 21 मई से करें ऑनलाइन आवेदन

सरकार के आदेशों का कड़ाई से पालन करें Private School वरना होगी कड़ी कार्रवाई

CBSE: 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाओं में स्‍टूडेंट्स को पहनना होगा Mask; जानिए नए निर्देश

CBSE ने जारी की 10वीं-12वीं की Pending Exams की डेटशीट, जाने कब शुरू होंगे पेपर

12वीं Geography, कंप्यूटर साइंस और वोकेशनल परीक्षा को लेकर Board का बड़ा फैसला-जानिए

अर्धवार्षिक व प्री बोर्ड परीक्षाओं में प्राप्त अंकों के आधार पर मिलेंगे Practical के अंक


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है