×

ATM नंबर और पिन कोड जानकर उड़ाए 24 हजार

ATM नंबर और पिन कोड जानकर उड़ाए 24 हजार

- Advertisement -

मंडी में झारखंड का मजदूर हुआ शातिरों की ठगी का शिकार

cyber-crime: मंडी। एक मजदूर के खाते से नकली एटीएम के प्रयोग से ऑनलाइन शोपिंग करते हुए धोखेबाजों ने उसके खाते से 24 हजार रुपये उड़ा लिए। पीड़ित बाबूलाल राम जो झारखंड के गांव डाला खुर्द का स्थाई निवासी है ने पंडोह में पत्रकारों को बताया कि वे एक निजी कंपनी में मजदूरी करते हैं। उन्होंने पंडोह एसबीआई बैंक शाखा में 21 मार्च 2016 को अपने नाम का बचत खाता खोला था, जिसमें दिनांक 20 मार्च 2017 तक 24482 रुपये जमा थे। इसी दिन 20 मार्च 2017 को प्रातः 9: 45 पर उन्हें मोबाइल पर कॉल आई। कॉल करने वाला अपने आपको बैंक का मैनजर बता रहा था। उसने कहा कि आप का एटीएम ब्लॉक हो गया है। क्या आप इस एटीएम को चलाना चाहते हैं। यदि हां तो अभी अपना एटीएम नंबर और पिन कोड नंबर हमें बताएं, ताकि आपको एटीएम की सुविधा मिल सके,  उसे एटीएम नंबर व पिन कोड नंबर बता दिया।


यह भी पढ़ें… मैक्लोडगंज सेक्स रैकेटः 14 दिन की न्यायिक हिरासत में आरोपी

जब पैसों की जरूरत पड़ी तो मैंने 26 मार्च को अपने एटीएम कार्ड का प्रयोग पंडोह में लगे एटीएम पर किया। कई बार प्रयोग किया, किंतु पैसे एक बार भी नहीं निकले। पर्ची से खाते में बकाया राशी 445 रुपये शेष अंकित बताई गई।  27 मार्च को मैं बैंक गया तो पता चला कि मेरे बचत खाते में उतने 445 ही रुपये शेष बचे हैं। मैंने बैंक मैनेजर से अपने खाते की पूरी जानकारी ली, तो पता चला कि मेरे नकली एटीएम का प्रयोग करते हुए लुटेरों ने ऑनलाइन शोपिंग करते हुए 24 बार मेरे एटीएम का प्रयोग किया और कुल 24 हजार रुपये का समान खरीदा गया।

बाबू लाल राम ने जिला पुलिस प्रमुख से आग्रह किया है कि वे लुटरों को जल्द पकड़कर कर रुपये उन्हें  दिलवाएं, ताकी वे अपने परिवार का लालन-पालन कर सकें। इस बारे में पुलिस चौकी प्रभारी पंडोह हेम राज शर्मा ने बताया कि शिकायत आई है। हम छानबीन कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस प्रकार की चिटिंग को ट्रेस करना मुश्किल होता है। मगर हम एक्सर्पटस के साथ मिल कर ट्रेस करने में जुटे हैं। उन्होंने आम लोगों को सचेत करते हुए कहा कि कोई भी व्याक्ति किसी को भी अपने बैंक खाते एवं एटीएम की किसी भी तरह की कोई जानकारी ना दें। बहुत से लोग चिट-फंड कंपनी बना कर लोगों को ठग रहे हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है