Covid-19 Update

2,17,615
मामले (हिमाचल)
2,12,133
मरीज ठीक हुए
3,643
मौत
33,563,421
मामले (भारत)
230,985,679
मामले (दुनिया)

ताकतवर हो रहा ‘अम्फान’, Odisha में टूटकर गिरे पेड़, कोरोना विशेष उड़ानों पर कल तक रोक

ताकतवर हो रहा ‘अम्फान’, Odisha में टूटकर गिरे पेड़, कोरोना विशेष उड़ानों पर कल तक रोक

- Advertisement -

नई दिल्ली। महाचक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ (Amphan) ने अपना विकराल रूप दिखाना शुरू कर दिया है। अम्फान के आज पश्चिम बंगाल के तट पर टकराने की संभावना है। इस दौरान 155 से 185 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तक हवाएं चलने और भारी बारिश का अनुमान है। ओडिशा (Odisha) में सुबह से तेज हवाओं की वजह से पेड़ टूटकर सड़कों पर गिर रहे हैं। फायर सर्विसेज टीम वाहनों की आवाजाही, आवश्यक वस्तुओं, और आपातकालीन सेवा कर्मियों की सुविधा के लिए भद्रक में आर एंड बी कार्यालय के पास सड़क पर गिरे पेड़ों को हटा रही है। ओडिशा में अम्फान तूफान की वजह से खतरनाक तेज हवाएं चल रही हैं। मौसम विभाग (Weather department) ने बताया कि पारादीप में 102 किमी, चंदबली में 74 किमी, भुवनेश्वर में 37 किमी, बालासोर में 61 किमी और पुरी में 41 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं। कोलकाता हवाई अड्डे के निदेशक ने कहा कि अम्फान तूफान को देखते हुए कोरोना विशेष उड़ानों सहित कल सुबह पांच बजे तक कोलकाता एयरपोर्ट पर सभी परिचालनों को स्थगित कर दिया गया है।

 

उत्तर और उत्तर पश्चिम दिशा में काफी रफ्तार से आगे बढ़ रहा

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने बताया कि महाचक्रवाती तूफान (Cyclonic storm) अम्फान आज सुबह 6:30 बजे से बंगाल की उत्तर-पश्चिमी खाड़ी पर एक बेहद भयंकर चक्रवाती तूफान के रूप में केंद्रित है, जो पारादीप से लगभग 125 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व में है। मौसम विभाग के अनुसार यह चक्रवात उत्तर और उत्तर पश्चिम दिशा में काफी रफ्तार में आगे बढ़ रहा है। अनुमान है कि इसकी गति अभी और बढ़ेगी। साइक्लोन अम्फान आज दोपहर तक पश्चिम बंगाल के दीघा और बांग्लादेश के हादिया में टकरा सकता है। चक्रवाती तूफान ओडिशा के पारादीप तट के पास पहुंचने वाला है। सुबह 8:30 बजे यह मात्र पारादीप टत से 120 किलोमीटर दूर पूर्व-दक्षिण पूर्व में था। यह सुंदरवन के पास है।

 

ओडिशा में बनाए गए हैं 1704 कैंप

तूफान के खतरे को देखते हुए ओडिशा में 1704 कैंप बनाए गए हैं, साथ ही 1,19,075 लोगों को तटिय इलाके से दूर ले जाया गया है। तूफान के खतरे (Storm hazard) को देखते हुए ओडिशा में 1704 कैंप बनाए गए हैं, साथ ही 1,19,075 लोगों को तटिए इलाके से दूर ले जाया गया है। मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवात की रफ्तार काफी से बढ़ रही है। चक्रवात अम्फान अपने केंद्र में 200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है। कैम्प्स के अलावा ओडिशा में 2000 से ज्यादा मकान तैयार हैं, जिनमें जरूरत पड़ने पर तटवर्ती इलाके के लोगों को रखा जाना है। इससे पहले ही यहां मछुआरों और समुद्र के किनारे रहने वाले लोगों को वहां से हटा लिया गया है। ओडिशा में सुबह के करीब 4:30 बजे ही कुछ हिस्सों में 82 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल रही थी। तटीय इलाके के लोगों को सुरक्षित जगह पर पहुंचा दिया गया है। राज्य सरकार के अधिकारी नजर बनाए हुए हैं साथ ही एनडीआरएफ की कई टीमें वहां तैनात की गई हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है