Covid-19 Update

58,645
मामले (हिमाचल)
57,332
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,112,241
मामले (भारत)
114,689,260
मामले (दुनिया)

हम शरणार्थी नहीं हैं, हमें जबरन विस्थापित किया गया: दलाई लामा

हम शरणार्थी नहीं हैं, हमें जबरन विस्थापित किया गया: दलाई लामा

- Advertisement -

मुंडगोड। तिब्बती आध्यात्मिक गुरू दलाई लामा ने कहा है कि हम शरणार्थी नहीं हैं, हमें जबरन विस्थापित किया गया है। उन्होंने कहा कि शरणार्थी एक ऐसा शब्द है जो लोगों को आपदाओं के कारण अपने देश से भागने और किसी दूसरे देश में आश्रय मांगने के लिए इस्तेमाल किया जाता है, चूंकि हमें जबरन विस्थापित किया गया है और हमारी संस्कृति और धर्म के विनाश के अधीन कर दिया गया, इसलिए शरणार्थी शब्द हमारे लिए उचित नहीं दिखता है।

Dalai Lama

केंद्रीय तिब्बती प्रशासन की आधिकारिक वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसार दलाई लामा ने यह बात दक्षिण भारत के मुंडगोड में ड्रेफुंग लॉसनिंग डिबेट यार्ड में एकत्रित तिब्बती समुदाय से बातचीत करते हुए कही। दलाई लामा ने कहा, मैं विशेष रूप से छात्रों से मिलना चाहता हूं, क्योंकि आमतौर पर छात्र के साथ निजी रूप से मिलने से बहुत कुछ नया मिलता है।

उन्होंने कहा कि मैं अपने 83 वर्षीय चेहरे को दिखाने के लिए यहां पर आया हूं, बैठने और सिंहासन पर चढ़ने में मुझे समस्या है, लेकिन एक बार जब मैं बैठ गया, मैं लगातार बात कर सकता हूं। केंद्रीय तिब्बती प्रशासन की आधिकारिक वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसार, दलाई लामा ने जोर दिया कि तिब्बती बौद्ध धर्म ने वैज्ञानिकोंए विद्वानों और दुनिया भर के लोगों का ध्यान आकर्षित करना शुरू कर दिया है।Dalai Lama

 

” सामान्य तौर पर, मैं नहीं कहता कि बौद्ध धर्म सबसे अच्छा है यह अपने स्वयं के मानसिक स्वभाव पर निर्भर करता है, तिब्बती बौद्ध धर्म समाधान खोजने के लिए गहरी खुदाई करने का प्रयास करता है। अंततः कई वैज्ञानिक और विशेषज्ञों ने तिब्बती बौद्ध विज्ञान और दर्शन में रुचि ली “

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है