Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,973,457
मामले (भारत)
179,548,206
मामले (दुनिया)
×

बंजारः खौफ के साए में पढ़ रहे गुशैणी प्राइमरी स्कूल के नौनिहाल

बंजारः खौफ के साए में पढ़ रहे गुशैणी प्राइमरी स्कूल के नौनिहाल

- Advertisement -

कुल्लू। विश्व धरोहर ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क के प्रवेश द्वार पर प्राइमरी स्कूल गुशैणी के नौनिहाल खौफ के साए में पढ़ने को मजबूर हैं। करीब एक साल पहले सड़क निर्माण के चलते यहां दो कमरों का भवन ढह (Building Collapsed) गया था। वहीं, सड़क निर्माण (Road Construction) के दौरान स्कूल प्रांगण में गिरे पत्थरों और मलबे को भी अभी तक नहीं उठाया गया है। लोगों को जनमंच (Janmanch) के दौरान भी नए भवन के निर्माण का भरोसा मिला था। हालांकि इन दिनों स्कूल में छुट्टियां हैं, लेकिन नया भवन बनता दिखाई नहीं दे रहा है, जिस कारण लोगों में गुस्सा है।

यह भी पढ़ें- दूध बेचने गया था युवक, 4 लोगों ने किया गोलियों से छलनी, मौत


1924 में बने गुशैणी स्कूल में इस समय पहली से पांचवी कक्षा के 106 छात्र और नर्सरी के 15 नौनिहाल शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। स्थानीय लोगों के मुताबिक पिछले साल जुलाई में सड़क निर्माण के दौरान इस स्कूल का दो कमरों का भवन ढह जाने के कारण छात्रों को असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। स्कूल के प्रांगण में गिरे पत्थरों और मलबे के चलते और पत्थरों के गिरने का खतरा साथ ही छत से मरम्मत के इंतजार में लटकी उखड़ी हुई चादर नौनिहालों पर खतरे का प्रमाण दे रही है।


जनमंच में भवन निर्माण का दिया था भरोसा

अभिभावक बलवीर टिल्ली, प्रेम चंद, रमेश कुमार, टेला देवी, ऊषा देवी, टेक राम आदि का कहना है कि गुशैणी में जनमंच के दौरान भी इस भवन के निर्माण को लेकर भरोसा दिया गया था। लोगों को उम्मीद थी कि छुट्टियों के दौरान इस भवन का निर्माण कार्य शुरू होगा, लेकिन छुट्टियां खत्म होने को हैं। इन लोगों का कहना है कि भवन तो दूर की बात यहां गिरी चट्टानों और मलवे को एक साल बीत जाने पर भी नहीं उठाया। इन लोगों का कहना है कि अभी सड़क निर्माण के दौरान हुई खुदाई की बजह से अभी पत्थर गिरने का खतरा टला नहीं है, ऐसे में सुरक्षा दीवार का इंतजाम भी जरूरी है। वहीं, स्कूल प्रबंध समिति के अध्यक्ष रमेश कुमार ने बताया कि उस समय स्थानीय विधायक ने भी मौके पर पंहुच कर स्कूल भवन जल्द बनाने का आश्वासन दिया था। उन्होंने बताया कि भवन निर्माण को लेकर कई आपतत्तियां दूर करने के उपरांत तमाम दस्तावेज महकमे को भेजे गए हैं।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है