×

मृतक फौजी ससुर की कागजों में फर्जी पत्नी बन गई बहू, 20 साल तक लेती रही पेंशन

यूपी के इटावा में सामने आया मामला, आरोपी महिला गिरफ्तार

मृतक फौजी ससुर की कागजों में फर्जी पत्नी बन गई बहू, 20 साल तक लेती रही पेंशन

- Advertisement -

इटावा। उत्तर प्रदेश के इटावा (Etawah) में एक ऐसा मामला सामने आया है जो आपके होश उड़ा देगा। इसके साथ ही यह खबर सिस्टम की नाकामी भी प्रदर्शित करती है। यहां एक मृतक फौजी की बहू कागजों में उसकी फर्जी पत्नी बन गई और 20 साल से ज्यादा समय तक पेंशन उठाती रही। यही नहीं, फौजी की असल पत्नी की मृत्यु तो फौजी से भी पहले हो गई थी। सहसों थानाध्यक्ष मदन लाल गुप्ता ने बताया कि सिंडौस गांव निवासी गंगाराम सिंह राजावत राजपूत रेजीमेंट (Rajput Regiment) की फतेहगढ़ यूनिट में बतौर सिपाही तैनात थे।


यह भी पढ़ें: RSS में बड़ा बदलावः भैयाजी जोशी की जगह दत्तात्रेय होसबोले को सरकार्यवाहक की जिम्मेदारी

1985 में गंगाराम की ड्यूटी के दौरान ही मौत हो गई। गंगाराम की पत्नी शकुंलता की मौत पति से पहले ही हो चुकी थी। गंगाराम का बेटा अमोल सिंह और बहू विद्यावती परिवार के साथ गांव में रहती थी। अब आरोप है कि गंगाराम की मौत के बाद कागजों में हेराफेरी (Paper Rigging) करके विद्यावती गंगाराम की पत्नी (Wife) शकुंतला देवी बन गई और 20 साल से ज्यादा समय तक पेंशन (Pension) लेती रही। इस पूरे मामले की भनक एक फौजी को लग गई और उस फौजी ने इसकी शिकायत सैनिक कल्याण बोर्ड (Sainik Welfare Board) में कर दी।

यह भी पढ़ें: औट-आनी-सैंज नेशनल हाईवे पर खाई में गिरी कार, पति- पत्नी की गई जान

इसके बाद सैनिक कल्याण बोर्ड के मार्फत मामला प्रयागराज हाईकोर्ट (Prayagraj High Court) पहुंचा। कोर्ट ने इस संबंध में पिछले दिनों इटावा पुलिस (Etawah Police) को नोटिस जारी किया था और महिला को कोर्ट (Court) में पेश करने के लिए कहा था। मामला जैसे ही चर्चा में आया तो विद्यावती भी घर से फरार हो गई। उसकी तलाश में सहसों थाना पुलिस ने लखना, महेवा, बकेवर, भिंड समेत स्थानों पर दबिशें दीं और आखिरकार गुरुवार को पकड़ लिया। बीते रोज शुक्रवार को पुलिस ने आरोपी महिला को हाईकोर्ट (High Court) में पेश किया। अब मामले की सुनवाई 22 मार्च को होनी है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है