Covid-19 Update

2,04,887
मामले (हिमाचल)
2,00,481
मरीज ठीक हुए
3,495
मौत
31,329,005
मामले (भारत)
193,701,849
मामले (दुनिया)
×

DAV नकल मामला : 28 लोग गिरफ्तार, 2 नाबालिग भी

DAV नकल मामला : 28 लोग गिरफ्तार, 2 नाबालिग भी

- Advertisement -

DAV copy case: गिरफ्तार किए आरोपियों में 11 महिलाएं व 17 पुरुष

DAV copy case: सचिन ओबराय/पांवटा साहिब। नेशनल ओपन स्कूल के परीक्षा केंद्र डीएवी स्कूल पांवटा में नकल करवाने आदि के मामले में  पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्जकर 28 लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए लोगों में 11 महिलाएं व 17 पुरुष शामिल हैं।  साथ ही दो नाबालिग भी इस मामले में शामिल हैं। पांवटा साहिब के डीएवी स्कूल के प्रिंसिपल व अकाउटेंट विवेक अग्रवाल सहित स्थानीय बद्रीपुर में कंप्यूटर सेंटर चला रहे ओमप्रकाश व धौलाकुंआ के शीशपाल को 8 महिला निरीक्षकों सहित आज पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है,  जिन्हें नाहन कोर्ट में पेश करने के लिए भेज दिया गया है। इसमें 23 लोग मौके पर नकल करते तथा 6 लोग दूसरे के नाम पर पेपर लिखते पकडे़ गए थे, जिसमें 2 नाबालिग शामिल हैं। पुलिस की जांच में परीक्षा केंद्र में नकल करवाने के अलावा दूसरे की जगह परीक्षा देने के मामले भी सामने आए हैं। पुलिस ने मामले की जांच तेज कर दी है। डीएसपी पांवटा प्रमोद चौहान ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस ने नेशनल ओपन स्कूल के परीक्षा केंद्र डीएवी स्कूल पांवटा में गुप्त सूचना के आधार पर दबिश दी थी।

दूसरी जगह परीक्षा देने के भी 6 मामले आए सामने

पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर 28 लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं दो नाबालिग भी इस मामले में शामिल हैं। उन्होंने बताया कि 6 मामले ऐसे भी सामने आए हैं, जिनमें परीक्षा देने अभ्यर्थी की जगह कोई ओर बैठा था। उन्होंने कहा कि मामले की जांच तेज कर दी है। आरोपियों को कोर्ट में पेश किया जाएगा। बता दें कि ओपन स्कूल की दसवीं व बाहरवीं कक्षा की परीक्षा के बच्चों को नकल करवाने का सनसनीखेज मामला सामने आने के बाद परिसर में रात भर पुलिस की कार्रवाई चलती रही।


एसपी सिरमौर सौम्या सांबशिवन के अनुसार रात दो बजे तक पूछताछ व बयान दर्ज किए गए तथा सभी आरोपियों व परीक्षार्थियों को रात भर पुलिस की निगरानी में स्कूल में ही रखा गया सुबह लगभग साढ़े सात बजे इन सभी आरोपियों को पुलिस वैन में थाना लाया गया। इनमें नकल करने वाले 17 परीक्षार्थी, 7 निरीक्षक टीचर्स, आईसीआरडी के ओमप्रकाश, शीशपाल, डीएवी स्कूल के अकाउंटेंट सहित प्रिंसिपल वीके लवानिया शामिल हैं।

DAV School Paonataक्या था पूरा मामला

जाहिर है कि एसपी सिरमौर ने पांवटा साहिब स्थित इस स्कूल में दो टीमों सहित दबिश दी गई थी। प्राथमिक जांच में पता चला है कि नकल का यह पूरा गिरोह डीएवी स्कूल के प्रिंसिपल वीके लवानिया के संरक्षण में ही चल रहा था, जोकि प्रत्येक सत्र में नकल करवाने के 4 लाख लेता था। डीएवी स्कूल में परीक्षार्थियों को नकल करवाने वाले व फर्ज़ी डिग्रियां देने वाले इस बडे़ गिरोह का पर्दाफाश हुआ है, जिसमें हिमाचल यूथ ब्रिगेड की भूमिका सराहनीय रही। डीएवी स्कूल में नकल का यह धंधा वर्ष 2014 से चला आ रहा है।

इसमें आईसीआरडी संस्थान से ओम प्रकाश, शीशपाल और संस्थान में काम करने वाली दो युवतियां संलिप्त थी। आईसीआरडी संस्थान अपने यहा दसवीं व बारहवी कक्षाओं के फार्म भरते थे। इस गोरख धंधे में नकल करवा कर पास करवाने के लिए 35 से 40 हजार रुपये लिए जाते थे। वही परीक्षार्थी की जगह कोई और भी पेपर देने सकने की सुविधा भी दी जाती थी।

मौके पर क्या मिला

एसपी सिरमौर की दबिश में मौके पर परिक्षार्थी ममता देवी की जगह कुमारी दीपिका पेपर देती पकड़ी गई। वहीं, अनिल कुमार, विक्रम जीत, निशा, नीलम, शशीबाला, शिवानी, बलबीर सिंह, जय सिंह, मनोज कुमार, दुर्गा राम, रवि कुमार, गोपाल चंद, आत्मा राम, प्रेम पाल, रमेश कुमार, गुरनाम सिंह, विनोद सरेआम नकल करते पकड़े गए। साथ ही मौके पर पाया गया कि डीएवी व अन्य निजी स्कूलों के जिन टीचर्स को नकल रोकने के लिए ड्यूटी पर लगाया गया था वे सब नकल रोकने का प्रयास न करते हुए चुपचाप सारा तमाशा देख रहे थे। इनमें पूनम, मोनिका, वीना कुमारी, अल्का, पूनम, कामिनी, रूमा और अमित कुमार तैनात थे।

डीएवी स्कूल पांवटा के प्रिंसिपल सस्पेंड

पांवटा साहिब के डीएवी स्कूल में हुए नकल रैकेट के भंड़ाफोड़ के बाद ही दिल्ली स्थित डीएवी प्रबंधन ने डॉ. लवानियां को सस्पेंड कर दिया है। डीएवी मैनेजमेंट कमेटी के शिमला क्षेत्रीय कार्यालय के माध्यम से दिल्ली स्थित मुख्यालय को इस पूरे मामले की जानकारी दी गई, जिसके बाद डीएवी प्रबंधन ने निर्णय लेते हुए डॉ. लवानियां प्रधानाचार्य को त्वरित प्रभार से सस्पेंड कर दिया है। डीएवी मैनेजमेंट कमेटी की अध्यक्ष पूनम सूरी ने प्रिंसिपल के निलंबन की पुष्टि करते हुए बताया कि जल्द ही शिमला से कोई ना कोई अधिकारी आकर कार्यभार संभाल सकते हैं तथा आगे की कार्रवाई संस्थान के अधिकारी वहीं आकर देखेंगे। उधर, प्रदेश शारीरिक शिक्षक संघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष व रोड सेफ्टी क्लब नाहन के अध्यक्ष अमरजीत परमार ने समस्त शारिरिक शिक्षा संघ की ओर इस घटनाक्रम की कडे़ शब्दों में निन्दा की है। उन्होंने कहा कि इस तरह के नकल के रैकेट व शिक्षा के व्यापारीकरण में एक प्रिंसिपल का संलिप्त पाया जाना बहुत ही शर्मनाक है।

प्रिंसिपल सहित 11 पुलिस रिमांड पर

डीएवी स्कूल पांवटा साहिब में ओपन स्कूल की 12वीं कक्षा की परीक्षा में नकल रैकेड मामले में डीएवी स्कूल के प्रिंसिपल वीके लवानिया, आईसीआरडी के ओम प्रकाश, शीशपाल, डीएवी के एकाउंटेट विवेक सहित 11 टीचर्स को अदालत ने एक दिन के पुलिस रिमांड में रखने के आदेश दिए हैं। जबकि अन्यों को जमानत पर रिहा कर दिया गया है। पुलिस ने आज आरोपियों को अदालत में पेश किया था। इस मामले में पुलिस ने कुल 28 लोगों को गिरफ्तार किया था। यह सूचना डीएसपी पांवटा प्रमोद चौहान ने दी।

DAV नकल मामलाः छात्रों के साथ-साथ अध्यापकों से पूछताछ

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है