Covid-19 Update

58,777
मामले (हिमाचल)
57,347
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,123,619
मामले (भारत)
114,991,089
मामले (दुनिया)

सैलानी Snowfall में न हों परेशान, DC ने जारी की Advisory

सैलानी Snowfall में न हों परेशान, DC ने जारी की Advisory

- Advertisement -

शिमला। ज्यों-ज्यों सर्दी बढ़ रही है, बर्फबारी की उम्मीद भी बढ़ रही है। बर्फबारी की उम्मीद में सैलानी भी रहते हैं और वे बर्फबारी की खबर पाते ही शिमला और अन्य पर्यटन स्थलों का रुख कर लेते हैं और इस कारण शिमला में जहां होटल एकदम फुल हो जाते हैं, वहीं सैलानी कई बार सड़कों में भी फंस जाते हैं। यही नहीं कई बार ऐसी स्थिति में हादसे को भी नकारा नहीं जा सकता है। इसे देखते हुए इस बार सर्दियों में बर्फबारी का मजा लूटने आने वाले सैलानी शिमला और आस.पास के इलाकों में न फंसे, इसके लिए जिला प्रशासन ने अभी से कमर कस ली है। डीसी रोहन चंद ठाकुर ने इस संबंध में सैलानियों के लिए बाकायदा एक एडवाइजरी जारी कर पंजाब और हरियाणा के सभी जिलों के डीसी के साथ-साथ चंडीगढ़ प्रशासन को भेज दी है।

पड़ोसी राज्यों के डीसी को भेजी एडवाइजरी

ठाकुर ने पड़ोसी राज्यों के डीसी से कहा है कि वे अपने.अपने क्षेत्र के जिलों को बर्फबारी के वक्त शिमला घूमने जाने से पहले कुछ बातों से जरूर अवगत करवाएं। इसके तहत उनसे कहा जाए कि जब भी घूमने आए तो होटल में रहने का प्रबंध पहले करें और जिस दिन बर्फ गिरनी शुरू होती है उस दिन न पहुंचकर दो-तीन रुक कर ही आएं। क्योंकि बर्फबारी कितनी हो इसका अंदाजा नहीं रहता और कई बार ज्यादा बर्फबारी हो जाती है और ऐसे में सैलानी फंस सकते हैं। दूसरा यह कि बर्फबारी गिरने के दौरान फिसलन बहुत होती है और ऐसे में दुर्घटना का भी भय बना रहता है और ऐसे में बेहतर होगा कि बर्फबारी रुकने के बाद आए और बर्फ का मजा लें। शिमला, कुफरी, नालदेहरा, फागू आदि पर्यटन स्थलों पर बर्फ कई दिनों तक रहती है और वे बर्फ गिरने के 2-3 दिन बाद इसका मजा लेने आ सकते हैं। इससे जहां होटलों में रहने को कमरे भी मिलेंगे वहां यहां पर यातायात भी बाधित नहीं रहेगा। कई बार देखने में आया है कि बर्फबारी के कारण यातायात बाधित हो जाता है और इस कारण वाहन भी फंस जाते हैं और सैलानी वाहनों में ही फंस जाते हैं। इससे वे खुद मुश्किल में पड़ जाते हैं।

इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर में फोन कर ले सकते हैं मदद

ठाकुर ने पत्र में यह भी कहा है कि बर्फबारी के दौरान छोटे-छोटे बच्चों और बुजुर्गों को साथ न लाएं, क्योंकि यहां पर उस दौरान ज्यादा ठंड होती है और इससे वे परेशानी में पड़ सकते हैं। उन्होंने यह भी सलाह दी है कि यहां आने के लिए गर्म वस्त्रों का पूरा प्रबंध करें क्योंकि ठंड में बर्फबारी के बीच वाहन फंस भी जाते हैं। ठाकुर ने सभी डीसी से कहा है कि वे शिमला आने वाले सैलानियों को इसके बारे में जागरूर करें। इसके साथ-साथ शिमला में आने पर यदि कोई कहीं पर फंस भी जाता है तो वे जिला इमरजेंसी आपरेशन सेंटर पर 0177-280088083 पर फोन कर मदद ले सकते हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है