×

रोक के बाद अब क्या होगा मैड़ी होली मोहल्ला मेले का स्वरूप, क्या बोले DC-जानिए

श्रद्धालुओं के आने पर पूरी तरह से रहेगी रोक, धार्मिक रीति-रिवाजों पर नहीं

रोक के बाद अब क्या होगा मैड़ी होली मोहल्ला मेले का स्वरूप, क्या बोले DC-जानिए

- Advertisement -

ऊना। कोविड-19 (Covid-19) की रोकथाम के लिए प्रदेश सरकार द्वारा जिला के अंब उपमंडल क्षेत्र मैड़ी स्थित बाबा बड़भाग सिंह में होने वाले होला मोहल्ला मेले को स्थगित करने का फैसला लिया है। वैश्विक महामारी कोरोनावायरस (Coronavirus) के चलते इस बार होला मोहल्ला मेले का स्वरूप पहले की तरह बिल्कुल भी नहीं रहेगा। यहां श्रद्धालुओं के आने पर पूरी तरह से रोक रहेगी। मेला क्षेत्र में किसी भी तरह की भीड़ को रोकने के लिए प्रदेश की सीमाओं पर नाकेबंदी की जाएगी, जबकि इसके साथ ही मेला क्षेत्र में भी पुलिस की नाकेबंदी रहेगी जो मेला क्षेत्र के लिए यात्रा करने वाले लोगों को वापस लौटाएंगी। हालांकि इन दिनों में स्थानीय क्षेत्र के गुरुद्वारा में होने वाले धार्मिक रीति-रिवाजों पर कोई रोक नहीं रहेगी, उनके जो पारंपरिक अधिकार हैं, वह उन्हें जरूर मिलेंगे।


यह भी पढ़ें: तिब्बतियों के नववर्ष Losar पर होने वाले सभी कार्यक्रम स्थगित, घरों में होगी पूजा-कल सीटीए हॉल में संक्षिप्त कार्यक्रम

 

 

यह मेला 21 मार्च से 31 मार्च तक आयोजित होना था। पिछले कल कैबिनेट (Cabinet) बैठक में मेले को स्थगित करने का फैसला लिया है। देशभर में कोविड-19 के लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए सरकार ने एहतियातन यह कदम उठाया है। मंगलवार को इस संबंध में बाबा बड़भाग सिंह क्षेत्र के धार्मिक संस्थानों के प्रबंधकों के साथ हुई बैठक के बाद डीसी ऊना राघव शर्मा (DC Una Raghav Sharma) ने प्रेस वार्ता करते हुए मेले के नए स्वरूप की रूपरेखा सांझा की। उन्होंने कहा कि डेरा बाबा बड़भाग सिंह में आयोजित होने वाले होला मोहल्ला मेले में लाखों की तादाद में श्रद्धालु भाग लेने आते हैं। भौगोलिक रूप से यह क्षेत्र काफी तंग है, जबकि यहां 10 दिन तक लाखों श्रद्धालु डेरा डाल कर बैठते हैं। बाबा बड़भाग सिंह में होला मोहल्ला मेला आज तक जिस स्वरूप से मनाया जाता रहा है, इस बार मेले को उस स्वरूप में आयोजित नहीं किया जाएगा।
इस बार वहां श्रद्धालुओं के आने पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा। संबंधित क्षेत्र में मेले के दौरान लगने वाले सार्वजनिक भंडारों पर भी पूरी तरह प्रतिबंध रहेगा। मेला क्षेत्र में लगने वाली अस्थाई दुकानों पर भी प्रतिबंध रहेगा, जबकि स्थानीय खेतों में श्रद्धालुओं द्वारा टेंट लगाकर रहने पर भी पूरी तरह मनाही रहेगी। इसे सुनिश्चित करने के लिए पुलिस विभाग (Police Department) द्वारा प्रदेश के सीमाओं पर नाके लगाए जाएंगे। कोविड-19 की रोकथाम के लिए मेला क्षेत्र में भी पुलिस द्वारा नाके बंदियां की जाएंगी। इसके लिए पंजाब (Punjab) के उपायुक्तों के साथ भी संपर्क करके यह सुनिश्चित किया गया है कि वह इस धार्मिक क्षेत्रों के साथ जुड़े श्रद्धालुओं को भी सूचित करें कि इस बार मैड़ी मेले के लिए वह यात्रा ना करें।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है