Covid-19 Update

2,21,604
मामले (हिमाचल)
2,16,608
मरीज ठीक हुए
3,709
मौत
34,093,291
मामले (भारत)
241,684,022
मामले (दुनिया)

अभिभावकों की टेंशन खत्म: बच्चों को कोवैक्सीन लगाने की मिली मंजूरी, 2 से 18 साल तक के बच्चों का जल्द होगा टीकाकरण

जायडस कैडिला को पहले ही मिल चुकी है आपात मंजूरी

अभिभावकों की टेंशन खत्म: बच्चों को कोवैक्सीन लगाने की मिली मंजूरी, 2 से 18 साल तक के बच्चों का जल्द होगा टीकाकरण

- Advertisement -

नई दिल्ली। देश के लिए राहत भरी खबर सामने आई है। तीसरी लहर की आशंका के बीच डीजीसीआई (DGCI) यानी ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने बच्चों को कोरोना वैक्सीन (कोवैक्सीन) लगाने की अनुमति दे दी है। इसे फैसले के बाद अब देश में 2 साल से 18 साल तक के बच्चों के टीकाकरण का कार्य शुरू हो जाएगा। बता दें कि बच्चों को भी कोरोना वैक्सीन की दो डोज लगाई जाएगी। भारत सरकार जल्द ही इसे लेकर गाइडलाइन जारी करेगी।

कोवैक्सीन को मिली मंजूरी

गौरतलब है कि लंबे ट्रायल से गुजरने के बाद बच्चों को वैक्सीन लगाई गई है। हैदराबाद स्थित फार्मा कंपनी भारत बायोटेक ने 18 साल से कम उम्र के बच्चों पर तीन चरणों में ट्रायल पूरा किया। इसके बाद वैक्सीनेशन की मंजूरी के लिए डीजीसीआई के पास फाइल भेजी गई। ट्रायल की रिपोर्ट के अनुसार वैक्सीन लगाने के बाद बच्चों में इसका प्रतिकूल प्रभाव देखने को नहीं मिला। क्लीनिकल ट्रायल में ये वैक्सीन 78 फीसदी तक असरदार साबित हुई है।

यह भी पढ़ें उच्च शिक्षा निदेशालय ने जारी किए निर्देश, कोरोना से पेरेंट्स को खोने वाले बच्चों की होगी स्कूल फीस माफ

आईसीएमआर संग मिल बनाई गई वैक्सीन

मालूम हो कि भारत बायोटेक द्वारा निर्मित कोवैक्सीन पहली पूर्णत स्वदेशी वैक्सीन है। इसे भारत बायोटेक और आईसीएमआर (ICMR) ने मिलकर विकसित किया है। भारत में कोवैक्सीन की दो डोज 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को दी जा रही है। हालांकि, इस वैक्सीन को अभी विश्व स्वास्थ्य संगठन से मान्यता मिलने का इंतजार है। कयास लगाए जा रहे हैं कि इस महीने इसपर विश्व स्वास्थ्य संगठन फैसला ले सकता है। वहीं, बता दें बच्चों का टीकाकरण शुरू करने के मामले में भारत अब विश्व का दूसरा देश बन चुका है। भारत से पहले लेटिन अमरीकी देश क्यूबा ने बच्चों के वैक्सीनेशन को मंजूरी दी है।

जायडस को मिल चुकी है आपात मंजूरी

भारत सरकार ने अब तक जिन 6 कोरोना वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की मंजूरी दी है उसमें जायडस कैडिला की ZyCoV-D भी शामिल है। ये वैक्सीन 12 साल से अधिक उम्र के लोगों को लगाई जा सकती है। ये डीएनए पर आधारित दुनिया की पहली स्वदेशी वैक्सीन थी। इस वैक्सीन की एक और खास बात ये ही कि इसकी तीन डोज़ दी जाएंगी। इसके अलावा भारत में कोवैक्सीन, कोविशील्ड, स्पूतनिक-वी, फाइजर और जॉनसन एंड जॉनसन वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की मंजूरी मिल चुकी है। इनमे से कोविशील्ड, कोवैक्सीन और स्पूतनिक-वी वैक्सीन की दो डोज़ 18 साल से अधिक के लोगों को दी जा रही हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है