Covid-19 Update

2,16,303
मामले (हिमाचल)
2,11,008
मरीज ठीक हुए
3,628
मौत
33,339,375
मामले (भारत)
226,929,855
मामले (दुनिया)

कांगड़ा के छेब में दफनाया नवजात का शव, कपड़े व अस्पताल की पर्चियां भी मिलीं

पुलिस कर रही मामले की जांच, दिसंबर का है मामला

कांगड़ा के छेब में दफनाया नवजात का शव, कपड़े व अस्पताल की पर्चियां भी मिलीं

- Advertisement -

कांगड़ा। शहर के निकट छेब में जल शक्ति विभाग के आफिस के निकट एक नवजात का शव ( dead body of newborn) बरामद हुआ है। शव को निजी भूमि में दबाया गया है। शव के पास रखे कपड़े व पर्चियां व कंबल भी बरामद हुए है। हालांकि नवजात के शव को काफी पहले यहां पर दफनाया गया था पर भूमि के मालिक को इस का पता गत सायं लगा। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस मामले की तफ्तीश कर रही है।

यह भी पढ़ें: शराब के नशे में हैवान बने पिता ने ढाई वर्ष की मासूम को उतारा मौत के घाट, पत्नी पर भी किया हमला

जानकारी के अनुसार छेब में जल शक्ति विभाग ( Jal shakti depatrment)के निकट बबली देवी की जमीन है। उन्होंने इस जमीन को खाली रखा है लिहाजा उस तरफ आना-जाना भी कम ही होता है। शनिवार शाम को शनिवार शाम को जब बबली देवी अपनी जमीन पर गई तो वहां कुछ कपड़े, पर्चियां व कंबल रखे हुए थे। इसको देखने के बाद उन्होंने पंचायत प्रधान के माध्यम से पुलिस को सूचित किया। आज सुबह 10 बजे पुलिस टीम मौके पर पहुंची। प्रारंभिक जांच से पता चला है कि यह नवजात रैत ब्लॉक के प्रेई क्षेत्र से संबंधित हैं। जो पर्चियां मौके से मिली वह टांडा मेडिकल कॉलेज की है। इससे पता चला है कि 28 दिसंबर को नवजात की मां को टांडा में छुट्टी मिली थी। इसके अलावा टांडा के अन्य सारे रिकॉर्ड वहीं घटनास्थल पर मिले हैं। यहां एक गड्ढा खोदकर दफनाया नवजात को दफनाया गया था और उसके ऊपर एक बड़ा पत्थर रख दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। जाहिर है इससे पहले टांडा मेडिकल कॉलेज के निकट झाड़ियों से भी नवजात के शव मिले थे।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है